World Doordarshan Day, 21 नवंबर विश्व दूरदर्शन दिवस

विश्व के ऊपर Doordarshan के प्रभाव को देखते हुए ही इस दिन की महत्ता का प्रभाव बढ़ा है। Doordarshan को जनता को प्रभावित करने में एक प्रमुख साधन के रूप में स्वीकार किया गया है। दुनिया की राजनीति के ऊपर इसके प्रभाव और इसकी उपस्थिति को किसी भी रूप में इनकार नहीं किया जा सकता है। वर्तमान में यह मनोरंजन और ज्ञान का सबसे बड़ा स्रोत हो चुका हो। लेकिन साथ में यह भी माना जा रहा है कि इसके नकारात्मक प्रभाव भी दृष्टिगत हो रहे हैं। इसके नकारात्मक प्रभाव को रोकने और गलत संस्कृति पर रोक लगाने के लिए इसके ऊपर कुछ क़ानूनी प्रतिबन्ध भी आरोपित किये जाने चाहिए।

हर चीज लाभदायक और हानिकारक दोनों

वर्तमान में टेलीविज़न से जुदा हर नया अनुभव जीवन को उत्तेजित करता है। हम यह जानते हैं कि दुनिया की हर चीज लाभदायक और हानिकारक दोनों होती है, अतः टेलीविज़न भी इस सन्दर्भ में कोई अपवाद नहीं हो सकता है। यह निश्चित रूप से हमारे समाज पर सकारात्मक प्रभाव डालता है, जैसे- नई सूचना के बारे में जानकारी, नयी प्रतिभाओं का विकास संस्कृति का भूमंडलीकरण इत्यादि।

21 नवंबर विश्व Doordarshan दिवस

रत्येक वर्ष ’21 नवम्बर’ को मनाया जाता है। दूरदर्शन (टेलीविज़न) के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए संयुक्त राष्ट्र द्वारा 1996 में इस दिवस को मनाये जाने पुष्टि की गई थी। यह विभिन्न प्रमुख आर्थिक और सामाजिक मुद्दों पर ध्यान केंद्रित करते हुए पूरे विश्व के ज्ञान में वृद्धि करने में मदद करता है। वर्तमान में यह मीडिया की सबसे प्रमुख ताकत के रूप में उभरा है। यूनेस्को ने टेलीविज़न को संचार और सूचना के एक महत्वपूर्ण साधन के रूप में पहचाना है। साथ ही यह भी माना है कि इस माध्यम ने व्यापक स्तर पर लोगों के बीच ज्ञान के प्रवाहमान को बरकरार रखा है।

संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 21 नवंबर पर स्टैम्प

संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 17 दिसंबर, 1996 को ’21 नवम्बर’ की तिथि को विश्व Doordarshan दिवस के रूप घोषित किया था। संयुक्त राष्ट्र ने वर्ष 1996 में 21 और 22 नवम्बर को विश्व के प्रथम विश्व टेलीविज़न फोरम का आयोजन किया था। इस दिन पूरे विश्व के मीडिया हस्तियों ने संयुक्त राष्ट्र के संरक्षण में मुलाक़ात की। इस मुलाक़ात के दौरान टेलीविज़न के विश्व पर पड़ने वाले प्रभाव के सन्दर्भ में काफ़ी चर्चा की गयी। साथ ही उन्होंने इस तथ्य पर भी चर्चा की कि विश्व को परिवर्तित करने में इसका क्या योगदान है।


ये भी पढ़ें : https://www.indiamoods.com/comedian-raju-srivastav-watches-tv-show-babhijee-ghar-par-hain-happu-ki-ulti-paltan-best/

डीडी इंडिया उपग्रह चैनल का प्रसारण

डीडी इंडिया उपग्रह चैनल का प्रसारण 146 देशों में किया गया है। यूके में, यह स्काई सिस्टम के चैनल 833 पर यूरोबर्ड उपग्रह के माध्यम से उपलब्ध था, इसका लोगो Rayat TV था। स्काई डिजिटल के माध्यम से ट्रांसमिशन जून 2008 में समाप्त हो गया। जुलाई 2008 में संयुक्त राज्य में DirecTV के माध्यम से इसे पुनः शुरू किया गया। डीडी के महानिदेशक अर्चना दत्ता के अनुसार, “भाषण किसी अन्य समाचार कार्यक्रम की तरह था, इसलिए हमने इसे कवर किया।”


इनपुट्स – अजय बंसल, श्रीराम सेवा संस्थान के न्यासी और समाजसेवी हैं।