पानीपत पर अफगानिस्तान में क्यों हो रही है बहस, यह है कारण…

panipat-trailer-gets-mixed-reactions
panipat-trailer-gets-mixed-reactions

पानीपत पर अफगानिस्तान में चर्चा हो रही है । अर्जुन कपूर और कृति सेनन स्टारर ‘पानीपत’ के ट्रेलर रिलीज़ के साथ ही इस फिल्म से कई विवाद भी जुड़ गये हैं। अभी तक तो फिल्मों को लेकर देश के अंदर ही कंट्रोवर्सी होती रहती है लेकिन अब लगता है कि ‘पानीपत’ की यह जंग अफगानिस्तान तक पहुंच गई है। कहा जा रहा है कि फिल्म को लेकर अफगानिस्तान सरकार ने चिंता जाहिर की है। अफगान सरकार ने फिल्म ‘पानीपत ‘ के निर्माताओं के साथ बात की और इसके बारे में अपनी चिंताओं को उठाया ।

arjun
arjun

पानीपत पर अफगानिस्तान में बहस इसलिये हो रही है..

दरअसल भारत के साथ अच्छे संबंधों के बीच किसी फिल्म की वजह से कोई विवाद न हो जाये, शायद यही डर फिल्म निर्माण से जुड़े लोगों को सता रहा है । बता दें कि यह एक ऐतिहासिक आधार पर बनी फिल्म है, जो सदाशिव राव भाऊ की अगुवाई में मराठा साम्राज्य के नेतृत्व और अफ़गानिस्तान के राजा अहमद शाह अब्दाली की सेनाओं के बीच लड़े गए युद्ध पर बनी है। पानीपत की लड़ाई तो हम सबने पढ़ी है।

पानीपत पर अफगानिस्तान में ट्विटर वॉर

अफ़ग़ानिस्तान में कुछ फ़ेसबुक और ट्विटर यूज़र्स ने भारतीय फ़िल्म निर्माताओं और प्रशासन को चेताया है कि अब्दाली के किरदार को नकारात्मक न दिखाएं. दरअसल अब्दाली को अफ़ग़ान सम्मान से ‘अहमद शाह बाबा’ कहते हैं। खैर फिल्म रिलीज़ से पहले इस तरह की कंट्रवर्सी नई नहीं है। वैसे तो अर्जुन कपूर स्टाटर इस फिल्म के ट्रेलर को मिला-जुला ही रिस्पोंस मिला है। अब ऐसी बातों से मुफ्त में पब्लिसिटी और प्रमोशन अगर संजय दत्त की फिल्म पा जाती है तो इमें क्या बुरा है?

बता दें कि फिल्म में अर्जुन कपूर, संजय दत्त, कृति सेनन के साथ मोहनीश बहल, पद्मनी कोल्हापुरे और जीनत अमान भी मुख्य भूमिकाओं में हैं. पानीपत 6 दिसंबर 2019 को रिलीज हो रही है.

यह भी पढ़ें: https://www.indiamoods.com/panipat-incident-fight-with-wife-father-hangs-son/

मोहम्मद क़ासिल अकबर सफ़ी ने पश्तो भाषा के शमशाद टीवी की ओर से इस विषय पर डाले गए पोस्ट पर कॉमेंट किया है, “अहमद शाह बाबा हमारे हीरो हैं. हमें उनपर गर्व है. हालांकि, उन्हें (भारतीयों को) युद्ध में काफ़ी नुक़सान उठाना पड़ा था. वे उनके लिए हीरो नहीं हैं.”

पानीपत पर अफगानिस्तान में घमासन…

वहीं मुंबई में अफ़ग़ानिस्तान के वाणिज्य दूतावास के अधिकारी नसीम शरीफ़ी ने ट्वीट किया है, “पिछले डेढ़ साल से भारत में मौजूद अफ़ग़ान राजनयिक यह सुनिश्चित करने की कोशिश कर रहे हैं कि पानीपत फ़िल्म में अहमद शाह बाबा का अपमान न हो. कोई अफ़ग़ान इसे बर्दाश्त नहीं कर सकता है. संजय दत्त ने मुझे भरोसा दिलाया है कि अगर अहमद शाह बाबा का रोल ख़राब होता तो वो उसे करते ही नहीं.”

यह भी पढ़ें: https://www.indiamoods.com/seeing-the-trailer-of-panipat-users-made-mimes-see-how-the-reaction-is/

panipat trailer
panipat trailer

इस बीच अब्दाली की तारीफ़ में ट्वीट करते हुए ग़ुफ़रान वासिक़ ने लिखा है, “इसमें कोई शक नहीं कि अहमद शाह अब्दाली एक आक्रमणकारी थे और यह कोई गर्व की बात नहीं है.”