Uttar Pradesh Assembly Election अखिलेश ने समझाये मौर्या और कई विधायकों के एसपी में जाने के मायने

SP SWAMI
SP SWAMI

उत्तर प्रदेश में दलबदल और फेरबदल का खेल शुरू हो चुका है. पिछले कुछ दिनों में भारतीय जनता पार्टी (BJP) का साथ छोड़ने वाले स्वामी प्रसाद मौर्य, धर्म सिंह सैनी समेत कई नेताओं ने आज सपा का दामन थाम लिया. इस दौरान समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav), सीएम योगी पर तंज कसने से नहीं चूके.

लखनऊ में समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने सीएम योगी (CM Yogi) पर तंज कसते हुए कहा कि बीजेपी (BJP) के एक के बाद एक विकेट गिर रहे हैं. हालांकि हमारे सीएम को क्रिकेट खेलना नहीं आता. अखिलेश यादव ने कहा कि स्वामी प्रसाद मौर्य ने कहा था कि वह जहां भी जाते हैं, सरकार बनती है. इस बार भी वह अपने साथ भारी संख्या में नेताओं को लेकर आए हैं.

20 फीसदी सीटें भी अब BJP को नहीं मिलेंगी

अखिलेश यादव ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर कटाक्ष करते हुए कहा कि “80 बनाम 20” से उनका मतलब है कि भाजपा को उत्तर प्रदेश चुनाव में 20 फीसदी सीटें मिलेंगी,
जबकि बाकी 80 प्रतिशत सपा को मिलेगी. आज की भीड़ देखकर लगता है कि अब उनको वह भी मिलना मुश्किल होगा. पूर्व मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य तथा अन्य भाजपा विधायकों के समाजवादी पार्टी में शामिल होने के बाद लोगों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि मौर्य के आने से पार्टी को मजबूती मिली है.

BJP का सफाया होना तय

उन्होंने कहा, ‘‘कुछ दिनों पहले हमने कहा था कि मुख्यमंत्री जी को गणित का अध्यापक रखना होगा . यह जो अस्सी और बीस की बात कर रहे हैं. समाजवादी पार्टी के साथ अस्सी फीसदी लोग खड़े ही हो गये . जिन जिन लोगों ने आज मंच को देखा होगा, स्वामी प्रसाद मौर्य की बात सुनी होगी, उससे लगता है कि वह 20 फीसदी भी उनके खिलाफ हो गये होंगे.’ सपा नेता ने कहा, ‘‘अब भारतीय जनता पार्टी का सफाया होना तय है. अब कोई सफाया होने से रोक नहीं सकता और जो लोग तीन चौथाई की बात कर रहे थे, वह दरअसल तीन से चार फीसदी की बात कर रहे हैं ’’

साइकिल को कोई नहीं रोक सकता

यादव ने कहा, ‘आज भाजपा के पास कोई ठोस उपलब्धि नहीं हैं. यह वहीं भाजपा के लोग हैं जिन्होंने किसानो को भरोसा दिलाया था कि सरकार आएगी तो किसानों की आय दोगुनी हो जाएगी, लेकिन किसानों की आय दोगुनी नहीं हुई. भारतीय जनता पार्टी के लोगों ने किसानो का डीजल पेट्रोल महंगा कर दिया.’ अखिलेश यादव ने कहा कि डिजिटल इंडिया की गलती को कौन भूल सकता है… छापे कहीं और होने वाले थे, लेकिन उनके ही घर में खत्म हो गए. हम विधानसभा चुनाव का इंतजार कर रहे थे. साइकिल बहुत मजबूत है, क्योंकि समाजवादी और अंबेडकरवादी एक साथ आ गए हैं और इसे कोई नहीं रोक सकता.
UP Elections 2022- यूपी की इस सीट से चुनाव लड़ सकते हैं सीएम योगी, डिप्टी सीएम को भी उतारने की तैयारी