सोशल मीडिया-सिनेमा से दूर रहीं यूपी बोर्ड इंटरमीडिएट परीक्षा की टॉपर, कोई कोचिंग नहीं ली

up board topper

यूपी बोर्ड इंटरमीडिएट परीक्षा में 97.80 प्रतिशत अंकों के साथ प्रदेश का किला फतह करने वाली तनु तोमर सोशल मीडिया और सिनेमा से दूर रहीं और बिना किसी र्कोंचग के किला फतह किया।  

पुट्ठी गांव में एक साधारण किसान परिवार में जन्मी तनु तोमर बड़ौत के श्रीराम शिक्षा मंदिर इंटर कालेज की छात्रा हैं।  तनु ने बताया कि दसवीं के बाद उसकी पढ़ाई और पढ़ाई का तरीका भी बदला। पढ़ाई 12 घंटे से बढ़कर 17-18 घंटे तक जा पहुंची। 

up_board_result

तनु तोमर ने अपनी सफलता का पूरा श्रेय अपने मम्मी-पापा और शिक्षकों को दिया। तनु ने कोई र्कोंचग नहीं ली। स्कूल में ही नियमित कक्षाओं के बाद वहीं रहकर अतिरिक्त कक्षाएं लीं। उनका सोशल मीडिया और मोबाइल से कोई लेना देना नहीं रहा। बताया कि घर में सिर्फ पिता के पास ही मोबाइल है। तनु अब चिकित्सक बनना चाहती हैं। इसके लिए वह दिल्ली जाकर र्कोंचग क्लास करेंगी। चिकित्सक बनकर निस्वार्थ भाव से निर्धन लोगों की सेवा करना उसका लक्ष्य रहेगा।

हाईस्कूल टॉपर गौतम इंजीनियर बनेंगे

यूपी बोर्ड हाईस्कूल के यूपी टॉपर गौतम रघुवंशी का कहना है कि केवल अंकों के लिए नहीं बल्कि नॉलेज के लिए पढ़ना चाहिए। बिना कठिन परिश्रम के कामयाबी के शीर्ष पर नहीं पहुंचा जा सकता। र्पेंंटग मेरा शौक है लेकिन आईआईटियन बनना पैशन है। गौतम ने 97.17 फीसदी अंक लाकर प्रदेश में शीर्ष स्थान प्राप्त किया है।  ओंकारेश्वर सरस्वती विद्या निकेतन इंटर कॉलेज, जवाहर नगर के इस मेधावी छात्र का कहना है कि पढ़ाई में किसी तरह की बाधा न आए इसके लिए साल भर टीवी बंद रहा। केबल हटवा दिया। इससे पढ़ाई पर ध्यान देने में मदद मिली। 

पांच कैदी पास 

जिला कारागार में बंद पांच बंदियों ने हर चुनौती को पछाड़कर बोर्ड परीक्षा में सफलता का परचम लहराया है। न तो वे स्कूल गए और न ही उन्हें सामान्य छात्रों जैसी सुविधाएं ही मिली। सभी ने 70 से 75% तक अंक प्राप्त किए। जेल अफसरों ने सभी को माला पहनाकर सभी की हौसला अफजाई की। जेल अधीक्षक डॉ. वीरेश राज शर्मा ने बताया कि जोनी ने 72%, सोनू ने 75 फीसदी, रवि कुमार ने 69 फीसदी अंकों के साथ हाईस्कूल की परीक्षा पास की, जबकि अंकुश ने 73 फीसदी व विजय ने 71% अंकों के साथ इंटर की परीक्षा पास की। 

10वीं में उत्तीर्ण प्रतिशत बढ़ा 
-परीक्षार्थियों की संख्या में 4,63,685 की कमी।
-परीक्षार्थियों के उत्तीर्ण प्रतिशत में 4.91 प्रतिशत की वृद्धि।
-छात्रों के उत्तीर्ण प्रतिशत में 4.39 प्रतिशत की वृद्धि।
-छात्राओं के उत्तीर्ण प्रतिशत में 5.17 प्रतिशत की वृद्धि।
-छात्राओं का उत्तीर्ण प्रतिशत छात्रों की तुलना में 7.32% अधिक रहा।

12वीं में 2.37%  गिरावट

-पंजीकृत परीक्षार्थियों की संख्या में 3,79,827 की कमी।
-संपूर्ण परीक्षार्थियों के उत्तीर्ण प्रतिशत में 2.37 प्रतिशत की कमी।
-छात्रों के उत्तीर्ण प्रतिशत में 2.96 प्रतिशत की कमी।
-छात्राओं के उत्तीर्ण प्रतिशत में 1.98 प्रतिशत की कमी।