तीरथ सिंह रावत ने उत्तराखंड के सीएम पद की शपथ ली, सूबे के पहले शिक्षा मंत्री और संघ प्रचारक रह चुके हैं

Teerath singh rawat new cm ukd

तीरथ सिंह रावत उत्तराखंड के नए मुख्यमंत्री बन गए हैं। राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के प्रचारक रहे और बीजेपी के वरिष्ठ नेता तीरथ सिंह को पार्टी ने त्रिवेंद्र सिंह रावत की जगह राज्य के मुखिया की कमान सौंप दी है. राजभवन में आयोजित एक सादे समारोह में प्रदेश की राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने रावत को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई। हालांकि, रावत ने अकेले शपथ ली और उनके मंत्रिमंडल का विस्तार बाद में होगा।

केंद्रीय पर्यवेक्षक के रूप में दिल्ली से आए भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह ने तीरथ सिंह को शुभकामनाएं दीं और कहा कि एक-दो दिन में उनके मंत्रिमंडल का विस्तार हो जाएगा। उन्होंने कहा, ‘आज तीरथजी ने शपथ ले ली है। उनके मंत्रिमंडल का विस्तार भी एक-दो दिन में हो जाएगा।’ सिंह ने कहा कि भाजपा सरकार के चार साल के कार्यकाल में विकास की मजबूत आधारशिला रखी जा चुकी है और अब इस पर भव्य इमारत बननी है।

Rawat cm

70 सदस्यीय विधानसभा में भाजपा के 56 विधायक

उन्होंने कहा कि नए मुख्यमंत्री केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार और उत्तराखंड में पूर्ववर्ती त्रिवेंद रावत सरकार की उपलब्धियों को जनता तक पहुंचाएंगे और बाकी बचे एक साल में जनता के लिए बेहतर काम करेंगे। इससे पहले तीरथ सिंह ने भाजपा नेताओं के साथ राजभवन जाकर राज्यपाल के सामने अपनी सरकार के गठन का दावा पेश किया। उत्तराखंड की 70 सदस्यीय विधानसभा में भाजपा के फिलहाल 56 विधायक हैं।

इन नामों की भी थी चर्चा लेकिन आगे निकल गये तीरथ

इससे पहले धन सिंह रावत, सतपाल महाराज, अजय भट्ट और केंद्रीय मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक के नाम की चर्चा थी. लेकिन पार्टी के विधायक दल की बैठक में तीरथ सिंह रावत को सीएम पद की जिम्मेदारी सौंप दी गई.

तीरथ सिंह रावत वर्ष 1983 से लेकर 1988 तक संघ के प्रचारक भी रहे

Rawat tirath

भाजपा राष्ट्रीय सचिव, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष और पूर्व शिक्षा मंत्री तीरथ सिंह वर्ष 1983 से लेकर 1988 तक राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के प्रचारक रहे हैं. वे अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के उत्तराखंड के संगठन मंत्री भी रह चुके हैं. इसी संगठन में उन्होंने राष्ट्रीय मंत्री की जिम्मेदारी भी निभाई है. इसके पहले वह हेमवती नंदन गढ़वाल विश्वविद्यालय में छात्र संघ के अध्यक्ष रह चुके हैं. वहीं, संयुक्त उत्तर प्रदेश में तीरथ रावत छात्र संघ मोर्चा (उत्तर प्रदेश) में प्रदेश उपाध्यक्ष रहे हैं.

भारतीय जनता युवा मोर्चा (उत्तर प्रदेश) में भी रहे

इसके अलावा भारतीय जनता युवा मोर्चा (उत्तर प्रदेश) के प्रदेश उपाध्यक्ष एवं राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य रहने का भी उनको मौका मिला है. तीरथ रावत 1997 में उत्तर प्रदेश विधान परिषद के सदस्य निर्वाचित हुए. उस समय उन्हें विधान परिषद में विनिश्चय संकलन समिति का अध्यक्ष बनाया गया. वर्ष 2000 में नवगठित उत्तराखण्ड के प्रथम शिक्षा मंत्री रहे तीरथ सिंह को 2007 में भारतीय जनता पार्टी उत्तराखण्ड का प्रदेश महामंत्री बनाया गया था. इसके बाद वे प्रदेश चुनाव अधिकारी तथा प्रदेश सदस्यता प्रमुख भी रहे.

यह भी पढ़ें- आखिर क्यों छिन गया रावत से ताज और अब किसके सिर पर सजेगा उत्तराखंड का ताज

2017 में भाजपा के राष्ट्रीय सचिव बनाए गए तीरथ रावत


उत्तराखण्ड दैवीय आपदा प्रबंधन सलाहकार समिति के अध्यक्ष रहे तीरथ सिंह वर्ष 2012 में चौबट्टाखाल विधानसभा से विधायक निर्वाचित हुए. वर्ष 2013 में उत्तराखण्ड भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बने और वर्ष 2017 में भाजपा के राष्ट्रीय सचिव बनाए गए.

यह भी पढ़ें-त्रिवेन्द्र सिंह रावत का उत्तराखंड के सीएम पद से इस्तीफा, अगले मुख्यमंत्री की दौड़ में धन सिंह रावत, अजय भट्ट का नाम आगे