Taliban rebels can capture Kabul in a few days- चारों तरफ से राजधानी काबुल की घेराबंदी

taliban
taliban

Taliban rebels can capture Kabul in a few days-अफगानिस्तान तालिबान के कब्जे में जाता हुआ दिख रहा है। राजधानी काबुल से अब 20 किलोमीटर की दूरी पर तालिबान सरकारी सेना से दो-दो हाथ कर रहा है। पूर्व में वो खाक जबर के पास है, जो काबुल प्रांत का ही एक जिला है। पश्चिम में वो अरघंडी में है, जो काबुल के शहरी इलाके से लगा है। उत्तर में वो काराबाग में है, जो काबुल प्रांत का एक जिला है। दक्षिण में वो चार असयाब में है, जो काबुल का एक जिला है।

छ दिन में ही काबुल पर कब्जा कर सकता है

तालिबान चाहे तो अब कुछ दिन में ही काबुल पर कब्जा कर सकता है। जनरल समी सादाद को काबुल की सुरक्षा की जिम्मेदारी दी गई है। तालिबान ने दक्षिण अफगानिस्तान में 3 और प्रांतीय राजधानियों पर नियंत्रण कर लिया है जिसमें हेलमंद प्रांत भी शामिल है। तालिबान धीरे-धीरे राजधानी काबुल में सरकार की घेराबंदी के प्रयास के तहत आगे बढ़ रहा है।

13 प्रांतीय राजधानी सरकार के हाथों से फिसल गयी

afghanistan captured by taliban
afghanistan captured by taliban

हेलमंद की प्रांतीय राजधानी लश्करगाह अफगानिस्तान सरकार के हाथों से फिसल गयी है। लगभग दो दशक के युद्ध के दौरान सैकड़ों की संख्या में विदेशी सैनिक वहां मारे गए थे। तालिबान लड़ाकों ने हाल के दिनों में एक दर्जन से अधिक प्रांतीय राजधानियों पर कब्जा कर लिया है। ऐसे में जब अमेरिका कुछ सप्ताह बाद अपने आखिरी सैनिकों को वापस बुलाने वाला है, तालिबान ने देश के दो-तिहाई से अधिक क्षेत्र पर कब्जा कर लिया है।

जार-ए-शरीफ में भीषण लड़ाई

kandhar
kandhar

इस समय मजार-ए-शरीफ में भीषण लड़ाई चल रही है। कई तरह के दावे हैं। लेकिन यदि तालिबान मजार में कामयाब हुआ तो ये तय है कि और कोई तालिबान का मुकाबला नहीं कर पाएगा। तालिबान ने कमांडर अता नूर और मार्शल दोस्तम के लड़ाकों को ललकारा है। इसी बीच तालिबान ने आज फरियाब की राजधानी मैमाना पर चारों तरफ से हमला किया है। तालिबान ने फरयाब सेंट्रल जेल से 500 से अधिक कैदियों को छुड़ाने का दावा भी किया है।आज तालिबान ने पक्तिका पर कब्जा करने के बाद पाकिस्तान से लगी सीमा चौकी पर भी कब्जा कर लिया।

Taliban rebels can capture Kabul in a few days

हेलमंद में प्रांतीय परिषद के प्रमुख अताउल्लाह अफगान का कहना है कि तालिबान ने भारी लड़ाई के बाद प्रांतीय राजधानी लश्करगाह पर कब्जा कर लिया। ज़ाबुल प्रांत में प्रांतीय परिषद के प्रमुख अत्ता जान हकबायन ने कहा कि राजधानी कलात तालिबान के नियंत्रण में चली गई है। अफगानिस्तान के दक्षिणी उरुजगन प्रांत के दो जनप्रतिनिधियों ने कहा कि स्थानीय अधिकारियों ने प्रांतीय राजधानी तिरिन कोट को तेजी से आगे बढ़ रहे तालिबान के हवाले कर दिया है। इस नवीनतम घटनाक्रम से कुछ घंटे पहले विद्रोहियों ने देश के दूसरे और तीसरे सबसे बड़े शहरों पर तेजी से कब्जा कर लिया था। कंधार और हेरात पर नियंत्रण तालिबान के लिए अब तक की सबसे बड़ी सफलता है। हालांकि काबुल अभी सीधे तौर पर खतरे में नहीं है, लेकिन अन्य जगहों पर नुकसान और लड़ाइयों ने तालिबान की पकड़ को और मजबूत कर दिया है।

Taliban rebels can capture Kabul in a few days

उधर, कतर में शांति वार्ता रुकी हुई है, हालांकि राजनयिक अभी भी मुलाकात कर रहे हैं। अमेरिका, यूरोपीय और एशियाई देशों ने चेतावनी दी है कि बलपूर्वक स्थापित किसी भी सरकार को खारिज किया जाएगा। पश्चिमी घोर प्रांत में प्रांतीय परिषद के प्रमुख फ़ज़ल हक एहसन ने शुक्रवार को कहा कि तालिबान प्रांतीय राजधानी फ़िरोज़ कोह में प्रवेश कर गया है और शहर के अंदर लड़ाई चल रही है। इस बीच तालिबान ने पश्चिमी बदगीस प्रांत की राजधानी काला-ए-नौ पर कब्जा करने का दावा किया। इसको लेकर कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं की गई।

ALSO rEAD-Will Kabul go under Taliban control?-रात में कंधार तो सुबह लश्कर गाह पर कब्जा

तालिबान काबुल के दक्षिण में स्थित लोगार प्रांत में भी आगे बढ़ रहे हैं। उसने प्रांतीय राजधानी पुली-ए अलीम में पुलिस मुख्यालय और साथ ही पास की एक जेल पर कब्जा करने का दावा किया है। यह शहर काबुल से लगभग 80 किलोमीटर दक्षिण में स्थित है। नवीनतम अमेरिकी सैन्य खुफिया आकलन से पता चलता है कि काबुल 30 दिन के भीतर विद्रोहियों के दबाव में आ सकता है और अगर मौजूदा रुख जारी रहा तो तालिबान कुछ महीनों के भीतर देश पर पूर्ण नियंत्रण हासिल कर सकता है।