राफेल डील पर सरकार को सुप्रीम कोर्ट ने दी राहत, कहा-सौदे पर कोई संदेह नहीं

सुप्रीम कोर्ट ने राफेल विमान सौदे पर आज अपना फैसला दिया है। माननीय कोर्ट ने इस सौदे को बिल्कुल ठीक बताया है और इससे जुड़ी सभी याचिकाओं को खारिज कर दिया है।

सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले का गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने स्वागत किया है। उनका कहना है कि सरकार शुरू से ही इस बात को कह रही थी कि इस डील में कोई गड़बड़ी नहीं है , अब कोर्ट के फैसले से यह साबित भी हो गया है।

सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर वरिष्ठ अधिवक्ता प्रशांत भूषण ने सवाल खड़े कर दिए हैं। वरिष्ठ अधिवक्ता प्रशांत भूषण ने कहा कि मेरा मानना है कि राफेल लड़ाकू विमान सौदे मामले पर सुप्रीम कोर्ट का निर्णय पूरी तरह गलत है. उन्होंने कहा कि सौदे को लेकर शुरू किया अभियान सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के बाद भी नहीं रोका जाएगा. सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के बाद हम पुर्नविचार याचिका दायर करने की संभावनाओं पर जल्द ही निर्णय ले सकते हैं.

शुक्रवार को सुनवाई के दौरान चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने कई अहम टिप्पणियां कीं.

  •  राफेल विमान सौदे में कोई संदेह नहीं है.
  • राफेल की गुणवत्ता पर कोई सवाल नहीं हैं.
  •  राफेल सौदे में कोई संदेह नहीं है इसलिए इससे जुड़ी सभी याचिकाओं को खारिज किया जाता है.
  • चीफ जस्टिस बोले कि राफेल विमान हमारे देश की जरूरत है.
  •  चीफ जस्टिस ने कहा कि ऑफसेट पार्टनर की प्रक्रिया में हस्तक्षेप करने का कोई कारण नहीं है. किसी व्यक्ति के लिए निजी धारणा के आधार पर डिफेंस डील को निशाने पर नहीं लिया जा सकता है.
  • राफेल सौदे के दाम, प्रक्रिया और ऑफसेट पार्टनर किसी भी मुद्दे पर हमें कोई दिक्कत नहीं है.
  • इस फैसले को लिखते हुए राष्ट्रीय सुरक्षा और सौदे के नियम को ध्यान में रखा. मूल्य और जरूरतें भी हमारे ध्यान में रही थीं.
  •  शीर्ष अदालत ने कहा कि कीमतों के तुलनात्मक विवरण पर फैसला लेना अदालत का काम नहीं है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here