खेलो इंडिया एंथम के लिए 5 साल बाद फिर राम संपत के साथ सोना मोहपात्रा

Sona Mohapatra and Ram Sampth

खेलो इंडिया एंथम के लिए 5 साल बाद सोना मोहपात्रा एक बार फिर संगीतकार राम संपत के साथ जुड़ गई हैं। ‘घर याद आता है मुझे’ की सिंगर सोना अब KIUG का खेल एंथम गायेंगी।

सप्ताह दर सप्ताह समाज के प्रासंगिक विषयों को सामने लाने वाली आमिर खान के रियलिटी टीवी शो ‘सत्यमेव जयते’ की खास बात राम संपत और सोना मोहपात्रा का खूबसूरत संगीत था। सोना की दिल को छू लेने वाली आवाज़ और राम की अविश्वसनीय रचनाओं ने दर्शकों को भावुक और उनकी आँखों को नम कर दिया। रुपैया, बेखौफ़ आज़ाद, घर याद आता है मुझे या ओ री चिरैया, की बात करें तो सोना की दमदार आवाज़ और संगीत दर्शकों के साथ गहराई से जुड़ी हुई है।

खेलो इंडिया एंथम

sona4
sona4

अब एक बार फिर से इस संगीतमय जोड़ी ने खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स (केआईयूजी) के खेलो इंडिया के पहले सीजन का जीवंत एंथेम तैयार करने के लिए एक दूसरे से हाथ मिलाया है। खेलो इंडिया के पहले सीजन का आयोजन 22 फरवरी से 1 मार्च 2020 तक ओड़िशा में होगा। इस दौरान प्रस्तुत किए जाने वाले ट्रैक – ‘खेलेंगे शान से’ में उन्हें मार्च 2014 में प्रसारित शो के तीसरे सीजन के बाद एक बार फिर से एक साथ देखा जायेगा।

यह भी पढ़ें : https://www.indiamoods.com/docu-drama-shut-up-sona-is-on-its-way-to-international-film-festival-of-rotterdam/

खेलो इंडिया एंथम के लिये उत्साहित हैं दोनों

sona

सोना कहती हैं, “राम और मैं एक-दूसरे की एनर्जी और रचनात्मक पहलू को बहुत अच्छी तरह से समझते हैं, लेकिन पिछले कुछ वर्षों में हमें साथ काम करने का मौका नहीं मिला है। यह गाना हमारे लिए खास है। इसने हमें एक दशक से अधिक समय तक काफी करीब से एक साथ किए गए काम की याद दिला दी। चूंकि, हम एक दूसरे की मजबूती और कमजोरियों से वाकिफ हैं, ऐसे में जहां तक मुझे याद हैं, मुझे लगता है कि हम एक दूसरे के प्रेरक रहे हैं।

यह भी पढ़ें : https://www.indiamoods.com/singer-sona-mahapatra-arrives-in-paris-for-arianspace-show/

खेलो इंडिया एंथेम हमारे दिल के करीब है

यह खेलो इंडिया एंथेम हमारे दिल के काफी करीब है और हम दर्शकों से खचाखच भरे स्टेडियम में होने वाले उद्घाटन समारोह में परफॉर्म करने के लिए और इंतजार नहीं कर सकते। राम अपने काम को लेकर काफी चूजी और हमारी टीम के काफी चूप रहने वाले साथी हैं, लेकिन मेरी राय में स्टेडियम में कोई भी उनके जैसा आकर्षण नहीं पैदा कर सकता और गीत तो उनके सभी काम की तरह सच में विश्व स्तरीय है। कुछ ऐसा जिसे भारतीय युवा गुनगुनाएंगे और उससे प्रेरित होंगे!”