Skin care in winters- गर्म पानी से नहीं गुनगने पानी से नहाये, चेहरे पर नहीं होगा रूखापन

skin care in winters
skin care in winters

Skin care in winters-सर्दी के मौसम में रूखापन बढ़ जाता है। कारण है गर्म पानी काक ज्यादा इस्तेमाल। दरअसल गर्म पानी से नहाने का सबसे बड़ा नुकसान यह होता है कि गर्म पानी स्किन में उपलब्ध प्राकृतिक तेल, जिसे शीबम के नाम से जानते हैं, का बड़ी तेजी से अवशोषण कर लेता है। इसलिए नहाने के लिए हमेशा बहुत ही हल्का गर्म या यूं कहें कि गुनगुना पानी ही इस्तेमाल करना चाहिए। एक बात का और ध्यान रखें, नहाने के तुरंत बाद कोई अच्छा moisturizer इस्तेमाल करना न भूलें। इससे आपकी स्किन में नमी बनी रहेगी। स्किन मुलायम भी बनी रहेगी और स्किन फटने जैसी शिकायत भी नहीं होगी। moisturizer की जगह बेसलीन या फिर नारियल तेल भी प्रयोग किया जा सकता है। त्वचा को मुलायम और चमकदार बनाए रखने के लिए रात में सोने से पहले गुनगने पानी से चेहरा धोकर नारियल तेल लगाना भी अच्छा माना जाता है।

Skin care in winters

skin care 2

सर्दी के मौसम में स्किन के बेजान और रूखी हो जाने का एक और बड़ा कारण है। इस मौसम में हम पानी पीना कम कर देते हैं, जबकि इस मौसम में शरीर को अतिरिक्त पानी की जरूरत होती है। उसका कारण भी हवा का शुष्क होना है। जिसके चलते हमारी स्किन से ज्यादा मात्रा में नमी का अवशोषण होने लगता है। यह एक बात और ध्यान देने वाली है, सर्दी के मौसम में घरों में ऐसे व्यंजन बनाने का ट्रेंड है जिन्हें खाने के बाद प्यास अधिक लगती है। उत्तरी भारत में इस मौसम में खाई जाने वाली खिचड़ी हो या फिर बाजरे जैसे मोटे अनाज की रोटी, लिट्टी-चोखा हो या फिर चने की रोटी, इसीलिए खाए जाने की परंपरा है कि ये व्यजंन एक ओर जहां शरीर में गर्मी बनाए रखने में मदद करते हैं, वहीं प्यास भी बढाते हैं और पानी अधिक पीने से शरीर से वाष्पित होने वाली नमी की पूर्ति हो जाती है। मैक्स अस्पताल के यूरोलॉजिस्ट डा.शैलेंद्र गोयल का कहना है कि पानी ज्यादा पीने का मतलब यह नहीं होता कि एक बार में ही बहुत सारा पानी पी लें। इससे किडनी पर जोर पड़ता है। इसलिए पानी थोड़ा-थोड़ा और एक नियमित अंतराल के बाद बार पीना (रेगुलर इनटेक) अच्छा होता है।

साबुन का प्रयोग कम करें

सर्दियों में रूखी त्वचा वालों को कई सावधानियां रखने की जरूरत होती है। इनमें से एक और जरूरी सावधानी है कि यदि आपकी त्वचा रूखी है तो साबुन का प्रयोग बहुत ही कम करें। स्क्रब कतई न करें। दरअसल स्क्रब से रोम छिद्र खुल जाते हैं और स्किन में मौजूद अतिरिक्त चिकनाई बाहर निकल जाती है। लेकिन आपकी त्वचा पहले ही रूखी है और जो थोड़ी बहुत प्राकृतिक चिकनाई स्किन में मौजूद है, वह भी बाहर निकल जाएगी तो रूखापन और बढ जाएगा। नहाते समय रोजाना साबुन का प्रयोग करना ठीक नहीं होता। बेहतर हो कि सप्ताह में दो से तीन बार ही ग्लिसरीन युक्त साबुन का प्रयोग करें।

https://www.indiamoods.com/herbs-that-will-take-care-of-your-health-these-medicinal-plants-is-beneficial-for-health/

दूध और दही की मसाज करें

दूध और दही की मसाज भी स्किन को ग्लोइंग बनाती है। दही में चीनी भी मिला सकते हैं । इसके अलावा बेसन आदि की मदद से भी घर में फेसपैक तैयार कर सकती हैं। लेकिन ध्यान रहे ऑयली स्किन पर ही बेसन के फेसफैक का फायदा होता है। दरअसल बेसन का फेसपैक स्क्रब का काम करता है और स्क्रब स्किन की अतिरिक्त चिकनाई को अवशोषित करने के लिए किया जाता है। 

अच्छे स्वास्थ्य का आईना होती है स्किन

स्किन अच्छे स्वास्थ्य का आईना होती है। चेहरे की चमक ही किसी के स्वस्थ होने का पैमाना माना जाता है। इसके लिए जरूरी है कि हमेशा पौष्टिक तत्वों से भरपूर संतुलित आहार लें। तना-भुना खाने से परहेज करें। पानी खूब पिएं और मौसमी फल और सब्जियां अवश्य खाएं। प्रकृति पर विश्वास करें। सर्दियों में हरी सब्जियों की ज्यादा जरूरत होती है, इसलिए इस मौसम में हरी सब्जियों की भरमार रहती है। यही तो प्रकृति है। गाजर, पालक, मेथी, सरसों और नींबू को नियमित रूप से अपने भोजन में शामिल करें। खाने से पहले सलाद खाना न भूलें। 

Skin care in winters

सर्दियों के मौसम में स्किन को मॉइश्चराइजर की ज्यादा जरूरत होती है। इस मौसम में चेहरे पर आलू और नींबू इस्तेमाल करने से बचना चाहिए। इससे रूखापन बढ जाता है। बेहतर हो कि सर्दी के मौसम में भी धूप में निकलें तो सनस्क्रीन लोशन का इस्तेमाल करें। इससे धूप से आने वाली खतरनाक किरणों से तो बचाव होता ही है, साथ स्किन को नरम बनाए रखने में भी लोशन मदद करता है। कई महिलाओं को ऐसा लगता है कि सनस्क्रीन लोशन केवल गर्मी के मौसम में ही लगाना चाहिए, जबकि ऐसा नहीं है।सर्दियों में भी धूप में निकलते समय सनस्क्रीन लोशन का प्रयोग करें।