आईपीएल 2020 के 13वें सीज़न में चमका नया सितारा, आरसीबी के देवदत्त इस वजह से छाये सुर्खियों में

devdutt 2

आईपीएल 2020 के 13वें सीज़न में रॉयल चैलेजर्स बेंगलूरू के देवदत्त सुर्खियां बटोर रहे हैं। अपने डेब्यू मैच में फिफ्टी बनाने वाले वे 19वें बल्लेबाज और 8वें भारतीय बल्लेबाज बन गए हैं. आईपीएल में अब तक 2008 में गौतम गंभीर, ब्रैंडन मैकुलम, माइक हसी, होप्स, कुमार संगकारा, शिखर धवन, ग्रीम स्मिथ, असनोदकर, शॉन मार्श, विद्युत, श्रीवत्स गोस्वामी ने फिफ्टी से डेब्यू किया था.

इसके बाद आईपीएल-2009 में डेविड वार्नर (David Warner) ने ये रिकॉर्ड बनाया था. आईपीएल-2010 में केदार जाधव के अलावा ओवेस शाह, अंबाती रायुडु और पॉल कोलिंगवुड ने फिफ्टी से डेब्यू किया था. आईपीएल-2012 में लेवी ने ये रिकॉर्ड बनाया तो आखिरी बार आईपीएल-2016 में ये रिकॉर्ड सैम बिलिंग्स (Sam Billings) ने अपने नाम किया था.

हर लेवल की क्रिकेट में फिफ्टी से डेब्यू किया

देवदत्त ने केवल आईपीएल में ही फिफ्टी से डेब्यू नहीं किया था बल्कि उन्होंने हर स्तर की क्रिकेट में अपने डेब्यू मैच में इसी तरह के प्रदर्शन का अनूठा रिकॉर्ड बनाया हुआ है. देवदत्त ने 2018 में अपना प्रथम श्रेणी क्रिकेट में डेब्यू करते हुए महाराष्ट्र के खिलाफ रणजी ट्रॉफी मैच में 7 और 77 रन के स्कोर बनाए थे. 2019 में लिस्ट-ए करियर का डेब्यू करते हुए झारखंड के खिलाफ 58 रन का स्कोर बनाया था. 2019 में ही टी20 करियर का डेब्यू करते हुए उत्तराखंड की टीम के खिलाफ नॉटआउट 53 रन की पारी खेली थी.

Also Read-#IPL2020 DC Vs KXIP- सुपर ओवर में दिल्ली कैपिटल की जीत, किंग्स ने भी दी कांटे की टक्कर

आईपीएल 2020 के सबसे कम उम्र के DEBUDENT

आईपीएल 2020 के सबसे युवा बल्लेबाज

देवदत्त ने 20 साल 76 दिन की उम्र में फिफ्टी लगाकर आईपीएल में डेब्यू किया है. वे उम्र के लिहाज से ये कारनामा करने वाले दूसरे सबसे युवा बल्लेबाज बन गए हैं. उनसे कम उम्र में श्रीवत्स गोस्वामी ने आईपीएल-2008 में फिफ्टी लगाकर डेब्यू किया था. श्रीवत्स की उम्र तब 19 साल 1 दिन की थी. शिखर धवन (Shikhar Dhawan) ने 22 साल 136 दिन और डेविड वार्नर ने 22 साल 187 दिन की उम्र में फिफ्टी से अपना आईपीएल डेब्यू किया था.

पिछले साल छाए रहे थे घरेलू क्रिकेट में

केरल में जन्मे लेकिन कर्नाटक के लिए घरेलू क्रिकेट में खेलने वाले देवदत्त ( DEVDUTT) ने पिछले साल घरेलू क्रिकेट के सीमित ओवर के मैचों में अपना जलवा दिखाया था. 50 ओवर के मैचों वाली विजय हजारे ट्रॉफी में देवदत्त 11 पारी में 67.66 के औसत के साथ 609 रन बनाकर पहले नंबर पर रहे थे. इसमें उन्होंने 2 शतक और 5 फिफ्टी लगाई थीं. अब बात करते हैं सैयद मुश्ताक अली टी20 ट्रॉफी की. इसमें भी देवदत्त ने सबसे ज्यादा रन बनाए थे. उनके नाम पर 12 पारी में 64.44 के औसत और 175.75 के जबरदस्त स्ट्राइक रेट के साथ 580 रन दर्ज किए गए थे. इसमें उन्होंने 1 शतक और 5 फिफ्टी अपने खाते में दर्ज की थी. उनके इस जबरदस्त प्रदर्शन की बदौलत कर्नाटक की टीम हर तरफ छाई रही थी.