दोगुनी गति से दौड़ेंगी हिमाचल में रेलगाड़ियां

हिमाचल में शिमला-कालका और पठानकोट-जोगेंद्रनगर रेल मार्गों पर चलने वाली गाड़ियां दोगुनी रफ्तार से दौड़ेंगी

हिमाचल में शिमला-कालका और पठानकोट-जोगेंद्रनगर रेल मार्गों पर चलने वाली गाड़ियां दोगुनी रफ्तार से दौड़ेंगी। प्रथम चरण में इनकी गति को 25 किलोमीटर प्रतिघंटा से बढ़ाकर 35 किलोमीटर प्रतिघंटा कर दिया जाएगा। दूसरे चरण में इसे 50 किलोमीटर तक किए जाने के प्रयास किए जाएंगे। यह जानकारी केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल ने शनिवार को शिमला में दी। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने केंद्रीय मंत्री से मुलाकात की। इस दौरान मुख्यमंत्री ने कालका-शिमला और पठानकोट-जोगेंद्रनगर रेलमार्गों पर रेल की वर्तमान में कालका-शिमला ट्रैक पर रेल की गति 25 किलोमीटर प्रति घंटा है।

रेल मंत्री पीयूष गोयल और सीएम जयराम ठाकुर

केंद्रीय मंत्री से शिमला स्थित पुराने बस अड्डे के नजदीक रेलवे भूमि पर व्यावसायिक परिसर व बहुमंजिला कार पार्किंग निर्माण का अनुरोध किया गया। साथ ही, भानुपल्ली-बिलासपुर-बैरी रेललाइन पर कार्य की गति बढ़ाने की भी अपील की गई। पीयूष ने मुख्यमंत्री को आश्वास्त किया कि शिमला स्थित बस अड्डे के समीप व्यावसायिक परिसर कम बहुमंजिला कार पार्किंग निर्माण के प्रयास किए जाएंगे। इस मौके पर मुख्य सचिव बीके अग्रवाल, अतिरिक्त मुख्य सचिव श्रीकांत बाल्दी, मुख्यमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव संजय कुंडू भी उपस्थित थे।कालका-शिमला ट्रैक पर विस्टाडोम कोच का सफल ट्रायल होने से शिमला तक का सफर करते हुए अब ट्रेन की छत से भी खूबसूरत वादियों का नजारा दिखेगा

पर्यटक पारदर्शी छत वाले विस्टाडोम कोचों से बर्फबारी और बारिश के नजारे के अलावा प्राकृतिक सौंदर्य को देख सकेंगे। हालांकि, इन कोच में सफर करने के लिए जेब ज्यादा ढीली करनी पड़ेगी। रेलवे बोर्ड के अधिकारी ने बताया कि विस्टाडोम कोच का किराया प्रतिव्यक्ति 500 रुपये से ज्यादा हो सकता है।

यह इस रास्ते पर चलने वाली पहली वातानुकुलित ट्रेन होगी। अंबाला के मंडलीय रेल प्रबंधक डीसी शर्मा सहित रेलवे के केंद्रीय पर्सनल रिलेशन अधिकारी ने भी इस ट्रेन में सफर किया।

यह रेल सोलन से शिमला तक हर स्टेशन पर रुकती हुई आई। यह कोच सुबह 11 बजे सोलन से चली और रात 6:10 बजे शिमला पहुंची। 15 दिसंबर तक शुरू हो जाएगी ट्रेन केंद्रीय पर्सनल रिलेशन अधिकारी दीपक ने बताया कि 15 दिसंबर तक यह कोच यात्रियों के लिए शुरू कर दी जाएगी। इसका ट्रायल सफल रहा है। पर्यटकों को रिझाने के लिए यह रेल शुरू की गई है,

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here