कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पार्टी के संकटमोचक अहमद पटेल का निधन, कोरोना से भी हुए थे संक्रमित

Ahemad Patel

कांग्रेस के संकटमोचक, सोनिया के गांधी के सबसे भरोसमंद सहयोगी और पार्टी के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल का निधन हो गया। वह 71 वर्ष के थे और कुछ हफ्ते पहले कोरोना वायरस से संक्रमित हुए थे। पटेल के पुत्र फैसल पटेल और पुत्री मुमताज सिद्दीकी ने ट्विटर पर एक बयान जारी कर बताया कि उनके पिता ने बुधवार तड़के तीन बज कर 30 मिनट पर अंतिम सांस ली। उन्होंने कहा, ‘दुख के साथ अपने पिता अहमद पटेल की दुखद और असामयिक मृत्यु की घोषणा कर रहा हूं। 25 तारीख को सुबह करीब 3.30 बजे उनका निधन हो गया।’

अहमद पटेल का निधन-एक महीने पहले हुए थे संक्रमित

sonia ahemad patel

फैसल और मुमताज ने बताया कि लगभग एक महीने पहले उनके पिता कोरोना वायरस से संक्रमित हुए थे। इलाज के दौरान उनके कई अंगों ने काम करना बंद कर दिया । पटेल को गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां उन्होंने अंतिम सांस ली। कांग्रेस के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल ने बताया कि पटेल के सम्मान में पार्टी का ध्वज अगले तीन दिनों तक झुका रहेगा। गुजरात प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महासचिव गौरव पांड्या के मुताबिक, कोरोना संबंधी दिशानिर्देशों का पालन करते हुए पटेल के पार्थिव शरीर को बुधवार शाम साढ़े छह बजे दिल्ली से एक विशेष विमान के जरिए वड़ोदरा ले जाया जाएगा।

पैतृक गांव पिरामन ले जाये गये

इसके बाद इसे एंबुलेस से उनके पैतृक गांव पिरामन ले जाया जाएगा जहां बृहस्पतिवार सुबह नौ बजे के बाद उन्हें सुपुर्द-ए-खाक कर दिया जाएगा। पटेल के निधन की जानकारी के बाद बड़ी संख्या में कांग्रेस नेताओं एवं कार्यकर्ताओं ने यहां पार्टी मुख्यालय पहुंचकर पटेल को श्रद्धांजलि दी। पटेल ने गत एक अक्टूबर को ट्वीट के माध्यम से घोषणा की थी कि वह कोरोना वायरस से संक्रमित हो गए हैं। इसके कुछ दिनों बाद उन्होंने केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान के निधन पर उनके पुत्र चिराग पासवान को शोक संदेश भेजा था।

अहमद पटेल का निधन-1993 से पांच बार लगातार गुजरात से राज्यसभा के सदस्य रहे

पासवान के निधन पर आठ अक्टूबर को ट्विटर पर पोस्ट शोक संदेश उनका आखिरी ट्वीट था। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के विश्वस्त सहयोगियों में से एक पटेल वर्तमान में कांग्रेस के कोषाध्यक्ष थे। वह पार्टी के संकटमोचक के रूप में भी जाने जाते थे। पटेल 1993 से पांच बार लगातार गुजरात से राज्यसभा के सदस्य थे। इससे पहले वह 1977, 1980 और 1984 में लगातार तीन बार गुजरात की भरूच लोकसभा सीट से सांसद बने।

यह भी पढ़ें: असम के पूर्व मुख्यमंत्री तरूण गोगोई का निधन, पीएम मोदी समेत राहुल और कांग्रेस ने जताया दुख

अहमद पटेल का निधन

राष्ट्रपति, उप राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, पूर्व पीएम मनमोहन सिंह, सोनिया ने दुख जताया

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, उप राष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी, महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा और कांग्रेस एवं कई अन्य दलों के नेताओं ने पटेल के निधन पर दुख जताया है।

अहमद पटेल का निधन-पीएम बोले-उन्होंने कई साल समाज सेवा की

मोदी ने पटेल के निधन पर शोक व्यक्त किया और कहा कि कांग्रेस पार्टी को मजबूत करने में उनकी भूमिका को हमेशा याद रखा जाएगा।

अहमद पटेल का निधन, राहुल ने जतया दुख, सोनिया ने कहा-कामरेड, निष्ठावान सहयोगी और मित्र थे

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने दुख व्यक्त करते हुए कहा कि पटेल एक ऐसे कामरेड, निष्ठावान सहयोगी और मित्र थे जिनकी जगह कोई नहीं ले सकता। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने पटेल के निधन पर दुख व्यक्त करते हुए कहा कि पटेल एक ऐसे स्तंभ थे जो सबसे मुश्किल दौर में भी पार्टी के साथ खड़े रहे।

प्रियंका वाड्रा ने ट्वीट कर संवेदनाएं व्यक्त कीं

पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड़्रा ने दुख जताते हुए कहा कि पटेल की कांग्रेस के प्रति प्रतिबद्धता और सेवा असीमित थी।