महिला की हत्या कर कोख से निकाल लिया अजन्मा बच्चा

baby boy
baby

महिला की हत्या कर कोख से निकाल लिया अजन्मा बच्चा। ऐसा किस्सा पहले शायद ही सुनने में आया हो लेकिन यहां पुलिस ने तीन लोगों पर एक गर्भवती महिला की हत्या कर उसकी कोख से अजन्मे बच्चे को निकालने का आरोप लगाया है। अमेरिका के शिकागो में मानवता को शर्मसार करने वाला यह मामला सामने आया है।

( According to CNN-The young woman vanished April 23 after appealing to mothers on a Facebook group for baby items. The woman who responded, Clarisa Figueroa, lured Ochoa-Lopez twice to her home, and the second time strangled her with a cable with help from her 24-year-old daughter, Desiree Figueroa.)

baby taken out of the womb of dead women

पुलिस ने बताया कि 46 वर्षीय क्लारिसा फिग्युरोआ और 24 वर्षीय उसकी बेटी डेसीरी ने 19 वर्षीय मार्लेना ओचाओ लोपेज को 23 अप्रैल को अपने घर यह कहकर बुलाया कि उसे बच्चे से जुड़ी चीजें और सामान मुफ्त में दिया जाएगा। महिला फेसबुक पर इन अपराधियों के झांसे में आ गई और उनके घर पहुंच गई। वहां पहुंचने पर अपराधियों ने उसकी गला दबाकर हत्या कर दी गई और उसके बच्चे को गर्भ से निकाल लिया गया। फिग्युरोआ और डेसीरी पर फर्स्ट डिग्री हत्या का आरोप लगाया है। वहीं फिग्युरोआ के ब्यॉयफ्रेंड 40 वर्षीय पिओट्र बोबाक पर पुलिस ने हत्या की बात छिपाने का आरोप लगाया है। तीनों आरोपी महिला के जानने वाले थे।

यह भी पढ़ें:http://एक साल पहले पत्नी की हत्या की, अब 15 साल की…

पुलिस बोली हीनियस क्राइम

शिकागो पुलिस प्रमुख एडी जॉनसन ने अपराध को जघन्य और बेहद व्यथित करने वाला बताया। जॉनसन ने कहा कि मैं कल्पना भी नहीं कर सकता कि इस समय परिवार पर क्या बीत रही होगी, जिस समय उनके घर में खुशियां मनाई जानी चाहिए थीं, लेकिन इसके बजाय वे मां और संभवत: बच्चे के जाने का शोक मना रहे हैं। मृतक महिला के पति के लिये यह सदमें से कम नहीं है। उसके मुताबिक वह अपराधियों को नहीं जानता।

आरोपी ने डॉक्टर को फोन किया

इतना ही नहीं कत्ल करने वाली यह महिला फिगयुरोआ वारदात के चार घंटे बाद आपात सेवाओं को फोन करते हुए दावा किया कि उसने एक बच्चे को जन्म दिया है, जो सांस नहीं ले रहा है। नवजात को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया। बेबी ब्यॉय अस्पताल में गंभीर हालात में है।

ऐसे खुला राज

पुलिस ने बताया कि लापता लोपेज के मामले के अहम मोड़ तब आया, जब उन्हें फिग्युरोआ के साथ सात मई को फेसबुक पर उसकी बातचीत का पता चला। पुलिस ने कथित रूप से मंगलवार की रात को फिग्युरोआ के घर की तलाशी लेने के दौरान कूड़े के डिब्बे में लोपेज का शव पाया, जिसे वहां छुपा कर रखा गया था। डीएनए जांच में यह साबित हो गया कि बच्चा ओचाओ लोपेज का है, जिसके बाद पुलिस ने तलाशी वारंट निकलवाया।