Positive Impact Of Lockdown- सेक्‍स की कमी के बावजूद रिश्‍ता हुआ मज़बूत

Positive Impact Of Lockdown -देश में मार्च 2020 से शुरू हुए लॉकडाउन के बीच रिलेशनशिप को लेकर कई नकारात्मक खबरों के बीच में एक Positive Effect यह रहा कि कई कपल्स ने अपनी लािफ को नये सिरे से जिया। स्टडी के मुताबिक कई शादीशुदा जोड़ों ने लॉकडाउन पीरियड को खूबसूरती से जिया है.

Study के मुताबिक पांच में से चार Married Couple ने माना कि Lockdown के दूसरे चरण में उनका रिश्ता मजबूत हुआ है.

Marriage Foundation की स्टडी

impact of lockdown

एक तरफ जहां दुनिया भर से लॉकडाउन के कारण घरेलू हिंसा और तनाव की खबरें आती रही वहीं मैरिज पाउंडेशन ने एक इसके पॉज़िटिव असर को लेकर एक सर्वे कराया। इसमें सामने आया कि लॉकडाउन (Lockdown) के कारण लोग पहले तो परेशान हुए लेकिन इसके दूसरे चरण तक सहज हो गए.  ध्ययन के मुताबिक पांच में से चार विवाहित जोड़ों (Married Couple) ने माना कि लॉकडाउन के दूसरे चरण में उनका रिश्ता बेहद मजबूत हुआ है. जबकि 10 फीसदी जोड़ों ने इस पीरियड को रिश्ते के लिए खराब बताया.

यह भी पढ़ें: DISABLE का सम्मान करें, सहयोग का रखें रिश्ता

पहले चरण में कई जोड़े कर रहे थे Divorce Plan, फिर दिखे Positive Impacts Of Lockdown

positive impact of lockdown
Essex University द्वारा ब्रिटेन के घरेलू सर्वेक्षण को पूरा करने वाले 2,559 अभिभावकों की प्रतिक्रियाओं में पाया कि अभिभावक जून में तलाक पर विचार कर रहे थे जिनका आंकड़ा लॉकडाउन से पहले कम था. हालांकि केवल 0.7 फीसदी पिता और 2.2 फीसदी माताओं ने कहा कि वे छोड़ने पर विचार कर रहे थे.स्टडी में पाया गया कि बहुत से कपल क्वालिटी टाइम बिता रहे थे. ‘द संडे टाइम्स’ से बात करते हुए, मैरिज फाउंडेशन के संस्थापक Sir Paul Coleridge ने कहा, ‘कोविड-19 ने विवाहित लोगों के बीच कई विरोधाभासों को जन्म दिया, जिसके कारण उनके बीच तलाक जैसी बड़ी समस्या दिखी. दूसरी और बहुत से  शादीशुदा जोड़ों ने लॉकडाउन पीरियड को शानदार तरीके से जिया.

Positive Impact Of Lockdown -लगातार साथ रहने से कम हुआ Libido फिर भी…

Wellness Brand CBIE के अनुसार लॉकडाउन-2 में इन जोड़ों में LIBIDO कम हुआ. जिसके कारण बहुत से कपल की रुचि सेक्स में कम भी हुई, बावजूद इसके वे एक दूसरे के साथ क्वालिटी टाइम स्पेंड करते रहे. अन्य कारणों में लॉकडाउन के दौरान में संभोग, नींद और टीवी देखने में कमी को माना गया . दरअसल सर्वे में शामिल, 63 फीसदी प्रतिभागी देर रात तक मोबाइल में बिजी रहे. लेकिन इनमें से कुछ संभोग क्रिया में भी व्यस्त रहे. वहीं समूह में चार में से एक कपल जो रिलेशनशिप में थे उनका कहना था कि वे केवल महीने में दो बार सेक्स करने का मूड बना पाते थे.