PM Modi’s 72th birthday -72 साल के हुए पीएम मोदी, राष्ट्रपति, विपक्ष के नेताओं, मंत्रियों ने शुभकामनाएं दीं

PM Modi's 72th birthday
PM Modi's 72th birthday

PM Modi’s birthday -प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को 72 साल के हो गए। इस अवसर पर नेताओं और अन्य गणमान्य व्यक्तियों ने उन्हें शुभकामनाएं दीं। मोदी के जन्मदिन को अकसर विकास की पहलों के साथ मनाया
जाता है, जबकि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) इस अवसर पर ‘सेवा’ पहलों की शुरुआत करती है। इस वर्ष भी यह अलग नहीं है, क्योंकि प्रधानमंत्री विभिन्न क्षेत्रों से जुड़े चार कार्यक्रमों को संबोधित करेंगे। इस कड़ी में उन्होंने मध्य प्रदेश के कुनो राष्ट्रीय उद्यान में नामीबिया से लाए गए चीतों को भी छोड़ा।

राष्ट्रपति ने दी बधाई

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने मोदी को बधाई देते हुए कहा कि उनकी अतुलनीय कड़ी मेहनत, समर्पण और रचनात्मकता के तहत राष्ट्र निर्माण का कार्य निरंतर आगे बढ़ रहा है। उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ ने प्रधानमंत्री को बधाई देते हुए कहा कि उनकी परिवर्तनकारी दृष्टि और प्रेरणादायक नेतृत्व ने भारत को गौरव की नयी ऊंचाइयों तक पहुंचाया है। मोदी के मंत्रिमंडल में शामिल उनके सहकर्मियों ने उनके नेतृत्व और प्रशासनिक कौशल का उल्लेख किया। कांग्रेस के राहुल गांधी, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के शरद पवार, राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के तेजस्वी यादव और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार समेत विपक्षी नेताओं ने भी उन्हें बधाई दी।

PM Modi’s birthday

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने प्रधानमंत्री को भारतीय संस्कृति का ध्वजवाहक बताते हुए उनकी प्रशंसा की और कहा कि उन्होंने देश को उसकी जड़ों से जोड़ा और उसे हर क्षेत्र में आगे बढ़ाया है। शाह ने कहा कि मोदी के दूरदर्शी नेतृत्व में भारत एक विश्व शक्ति के रूप में उभरा है और उन्होंने खुद को एक वैश्विक नेता के रूप में स्थापित किया है, जिनका दुनिया में सम्मान है। शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री एक सुरक्षित, मजबूत और ‘आत्मनिर्भर’ नए भारत के निर्माता हैं तथा उनका जीवन सेवा एवं समर्पण का प्रतीक है। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि मोदी के नेतृत्व ने प्रगति और सुशासन को बढ़ावा दिया है जो पहले कभी नहीं देखा गया तथा भारत की प्रतिष्ठा और स्वाभिमान को एक नयी ऊंचाई पर पहुंचाया है। सिंह ने कहा कि उन्होंने भारतीय राजनीति को एक नया आयाम दिया है और विकास के साथ-साथ गरीबों के कल्याण को महत्व दिया है।

आरएसएस के प्रचारक रहे

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के प्रचारक रहे मोदी भाजपा संगठन में शामिल हुए और बाद में 2001 में गुजरात के मुख्यमंत्री बने। तब से, उन्होंने राज्य का चुनाव कभी नहीं हारने की अनूठी उपलब्धि हासिल की और अब राष्ट्रीय चुनाव में
भी वह पार्टी का चेहरा रहते हैं। उन्होंने 2002, 2007 और 2012 में लगातार तीन बार गुजरात विधानसभा चुनाव तथा 2014 और 2019 में लोकसभा चुनाव में भाजपा को जीत दिलाई।