Parents protest outside Mount Carmel-बढ़ी हुयी फीस वापस लेने, पेरेंट्स एसोसिएशन को मान्यता देने की मांग

Mount Carmel School, Sector 47B, Chandigarh
Mount Carmel School, Sector 47B, Chandigarh

Parents protest outside Mount Carmel-चंडीगढ़ का माउंट कार्मेल स्कूल फीस बढ़ोतरी के मुद्दे को लेकर एक बार सुर्ख़ियों मैं है। स्कूल प्रशासन ने न केवल कोरोना महामारी के दौरान पेरेंट्स से Tution Fee चार्ज की है बल्कि नए ऐकडेमिक सेशन मैं मंथली फीस भी करीब दोगुना बढ़ा दी.

माउंट कार्मेल स्कूल के बाहर अभिभावकों ने धरना दिया

फीस बढ़ोतरी के मुद्दे पर चंडीगढ़ के सेक्टर 47b स्थित माउंट कार्मेल स्कूल (Mount Carmel School, Sector 47B, Chandigarh) के बाहर अभिभावकों ने धरना दिया और प्रदर्शन किया। अभिभावकों का आरोप है कि स्कूल प्रशासन ने फीस में भारी वृद्धि की है अभिभावक संघ के अध्यक्ष गुरप्रीत कठपाल का कहना है कि वे इस मामले को लेकर हाईकोर्ट में पहुंचे थे जहां यह मामला अभी तक लंबित पड़ा है लेकिन स्कूल प्रशासन हवाला दे रहा है कि सेशन कोर्ट ने उन्हें फीस बढ़ाने की अनुमति दी है. उनका कहना है कि जो मामला अदालत में पहले से ही विचाराधीन है उसके बावजूद स्कूल फीस में किस तरह से बढ़ोतरी कर सकता है। अभिभावकों के आरोप हैं कि स्कूल प्रशासन ने करोना काल में ट्यूशन फीस में भारी बढ़ोतरी की है जबकि कोर्ट के आदेश के मुताबिक महामारी के पीरियड के दौरान वे ट्यूशन फीस नहीं ले सकते हैं उनका कहना है कि यह सीधे तौर पर अदालत की अवमानना है.

Parents protest outside Mount Carmel

Parents protest outside Mount Carmel
Parents protest outside Mount Carmel

मासिक शुल्क के अलावा स्कूल ने पिछले साल (2020-21) शैक्षणिक सत्र की ट्यूशन फीस भी चार्ज कर रहा है जो Supreme Court के निर्देश का उल्लंघन है। माउंट कार्मेल स्कूल ने शैक्षणिक सत्र 2022-23 के लिए मासिक शुल्क मैं करीब दोगुनी बढ़ोतरी की है. जिसके खिलाफ माता-पिता मैं खासा रोश है.

केवल 8 प्रतिशत फीस बड़ा सकता है

माता-पिता का कहना है की अदालत के आदेश के मुताबिक हम केवल 8 प्रतिशत फीस बड़ा सकता है लेकिन जो एसएमएस या कॉल के अलवा स्कूल की वेबसाइट प्रति विवरण अपलोड की गई है उसके लिए फीस 40 फीसदी से भी अधिक बढ़ा दी गई है.

Parents protest outside Mount Carmel

Parents protest outside Mount Carmel
Parents protest outside Mount Carmel

पेरेंट्स एसोसिएशन की मांग है कि स्कूल सबसे पहले अपनी बैलेंस शीट जारी करे, जो उन्होंने अपनी वेबसाइट पैर आजतक जारी नहीं की है, अभिभावक संघ यानि पेरेंट्स उनको मान्यता दी जाये, बढ़ी हुयी फीस वापस लेने के स्कूल को तुरंत निर्देश दिए जाएँ और प्रशासन इस मामले मैं तुरंत दखल देकर स्कूल को नोटिस जारी करे. पेरेंट्स का कहना है कि उन्होंने कभी भी फीस और अन्य देय राशि का भुगतान करने से इनकार नहीं किया है और अदालत द्वारा निर्देशित 2016-17 के शुल्क ढांचे के अनुसार इसे भुगतान करने के लिए तैयार हैं। जिसके मुताबिक स्कूल केवल ८ परसेंट फी बढ़ा सकता है.

Parents protest outside Mount Carmel-प्रिंसिपल पर बुरे बर्ताव का भी आरोप

अभिभावक संघ के प्रधान कटवाल के मुताबिक स्कूल की प्रिंसिपल न केवल बुरा बर्ताव करती हैं बल्कि किसी भी पेरेंट्स की बात सुनने के लिए राज़ी नहीं हैं। उनसे बात करना और संपर्क करना काफी मुश्किल है, ऐसे मैं शांति पूर्वक बातचीत के वे पक्ष मैं ही नहीं दिखती . कई पेरेंट्स का आरोप है की प्रिंसिपल सत्ता के नशे मैं चूर हैं. वे अपने केबिन मैं आने से पहले पेरेंट्स के फ़ोन बाहर रखवा लेती हैं और केबिन मैं बुलाकर पेरेंट्स को धमकाती हैं की अगर उन्होंने फीस नहीं दी तो इसके नतीजे उनके बच्चे भुगतेंगे

Parents protest outside Mount Carmel
Parents protest outside Mount Carmel

बार-बार लॉकडाउन और अर्थव्यवस्था पर उनके प्रभाव के कारण वित्तीय कठिनाई का सामना कर रहे माता-पिता ने लॉकडाउन की अवधि के लिए फीस कम करने या माफ करने की पैरवी की है। कई राज्य सरकारों ने शुल्क वृद्धि पर अस्थायी प्रतिबंध लगा दिया है। स्कूल अधिकारियों ने वेतन का भुगतान करने में कठिनाई को देखते हुए शुल्क प्रतिबंधों का विरोध किया है।