Pakistan Train Accident- सिंध प्रांत में दो पैसेंजर ट्रेनें टकराई, 50 से ज्यादा यात्रियों की मौत

Pakistan Train Accident

पाकिस्तान के सिंध प्रांत में (Ghotki train accident) सोमवार सुबह 2 यात्री रेलगाड़ियों के बीच टक्कर होने से कम से कम 50 लोगों की मौत हो गई। दर्जनों अन्य घायल हो गए। पाकिस्तान रेलवे के एक प्रवक्ता ने बताया कि कराची से सरगोधा जा रही ‘मिल्लत एक्सप्रेस’ पटरी से उतर कर साथ वाली पटरियों पर चली गई जिससे रावलपिंडी से कराची आ रही ‘सर सैयद एक्सप्रेस’ उससे टकरा गई।

घोटकी में हुआ हादसा

टक्कर के कारण मिल्लत एक्सप्रेस की बोगियां पलट गईं। यह हादसा सिंध के घोटकी जिले के ढरकी शहर के निकट हुआ।

इन अस्पतालों में आपातकाल

दुर्घटना के बाद घोटकी, ढरकी, ओबारो और मीरपुर माथेलो के अस्पतालों में आपात स्थिति की घोषणा कर दी गई। एआरवाई न्यूज ने घोटकी के उपायुक्त उस्मान अब्दुल्ला के हवाले से बताया कि हादसे में कम से कम 50 लोग मारे गए तथा 70 लोग घायल हो गए। मरने वालों में महिलाएं और रेलवे के कुछ अधिकारी भी शामिल हैं। ट्रेन दुर्घटना पर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा कि वह ‘‘इस भयावह ट्रेन हादसे से स्तब्ध हैं। मैंने रेल मंत्री से घटनास्थल पर पहुंचने तथा मृतकों के परिजनों को मदद देने और घायलों को चिकित्सीय सहायता उपलब्ध करवाने को कहा है। रेलवे में सुरक्षा संबंधी खामियों की विस्तृत जांच के आदेश दे रहा हूं।’

यह भी पढ़ें: आज से पटरियों पर 200 ट्रेने, 1.45 लाख टिकट बिके, 26 लाख करेंगे सफर

13 से 14 बोगियां पटरी से उतर गईं

Ghotki train Accident

उपायुक्त उस्मान अब्दुल्ला ने जियो न्यूज से कहा कि इस पूरे हादसे में 13 से 14 बोगियां पटरी से उतर गईं तथा करीब 8 बोगियां ‘पूरी तरह क्षतिग्रस्त’ हो गईं। बचाव अधिकारियों के लिए बोगियों में फंसे यात्रियों को बचाना चुनौती बना हुआ है। जो लोग अब भी फंसे हुए हैं उन्हें निकालने के लिए भारी मशीनों का उपयोग किया जाएगा लेकिन इस काम में वक्त लगेगा। घोटकी के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक उमर तुफैल ने कहा ‘एक बोगी में यात्री अब भी फंसे हुए हैं तथा ‘हमें आशंका है कि मृतकों की संख्या बढ़ सकती है।’

यह भी पढ़ें: केरल एक्सप्रेस में गर्मी से 4 यात्रियों की मौत, आगरा घूमने निकले थे

दोनों रेलगाड़ियों में 1,000 से अधिक यात्री सवार थे

अधिकारियों ने बताया कि दोनों रेलगाड़ियों में 1,000 से अधिक यात्री सवार थे। रेलवे विभाग के एक प्रवक्ता ने बताया कि कुछ क्षतिग्रस्त बोगियों में करीब 20 यात्री अब भी फंसे हुए हैं। ये बोगियां पलट गईं थी और क्षतिग्रस्त हो गईं थीं। रेलवे के एक वरिष्ठ पूर्व अधिकारी ने बताया कि पाकिस्तान में रेल नेटवर्क कई स्थानों पर बहुत पुराना हो चुका है जो ऐसे हादसों की वजह बनता है। उन्होंने बताया कि कई स्थानों पर उन पटरियों पर परिचालन हो रहा है जो बंटवारे के पहले बिछाई गई थीं।