एंटीलिया के बाहर विस्फोटक मामले में शिवसेना वाजे का बचाव करने उतरी, बीजेपी बोली-शक बढ़ेगा

ambani house car
file

अंबानी के घर एंटीलिया के बाहर विस्फोटक मामले में शिवसेना निलंबित पुलिस अधिकारी सचिन वाजे का बचाव कर रही है। वहीं बीजेपी का कहना है कि इससे शिवसेना पर शक और बढ़ सकता है। भाजपा नेता प्रवीण दरेकर ने मंगलवार को कहा कि अगर सत्तारूढ़ शिवसेना निलंबित पुलिस अधिकारी सचिन वाजे का बचाव करना जारी रखती है तो महाराष्ट्र सरकार की मंशा पर और ज्यादा सवाल उठेंगे।

एंटीलिया के बाहर विस्फोटक मामले की National Investigation Agency कर रही है जांच

दरेकर ने यहां पत्रकारों से कहा कि उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर के बाहर विस्फोटकों से लदी कार मिलने के मामले में सहायक पुलिस निरीक्षक वाजे को गिरफ्तार करने वाली National Investigation Agency (NIA) एक सक्षम एजेंसी है। उन्होंने कहा कि शिवसेना जितना बचाव सचिन वाजे का करेगी, शिवसेना, राकांपा और कांग्रेस की सरकार की मंशा को लेकर उतना ज्यादा संदेह बढ़ेगा।

वाजे के पूरे प्रकरण के पीछे एक गहरी साजिश है-दरेकर

explosives found in a car near Ambani's house

महाराष्ट्र विधान परिषद में विपक्ष के नेता दरेकर ने कहा कि मेरा ख्याल है कि वाजे के पूरे प्रकरण के पीछे एक गहरी साजिश है। उन्होंने आरोप लगाया, जिस तरह से राज्य सरकार के स्तर पर कई बैठकें की जा रही हैं, उससे संकेत मिलता है कि कुछ वरिष्ठ सरकारी अधिकारी और राजनीतिक नेता शामिल हैं।

एंटीलिया के बाहर मिली गाड़ी के मालिक और कारोबारी मनसुख हिरन की रहस्मय मौत हो गई थी

भाजपा पर महाराष्ट्र को बदनाम करने के सरकार के आरोप पर दरेकर ने कहा कि सरकार खुद बदनाम हो रही है। उन्होंने कहा कि उनकी खुद की छवि खराब हो रही है और न कि महाराष्ट्र की। एनआईए ने वाजे को शनिवार को गिरफ्तार किया था और सोमवार को उन्हें निलंबित कर दिया गया था। वह कारोबारी मनसुख हिरन की रहस्मय मौत के आरोप का सामना कर रहे हैं। हिरन ने दावा किया था कि अंबानी के घर के बाहर से मिली गाड़ी उनके कब्जे से चोरी हो गई थी।

पत्रकार अर्नब गोस्वामी को भी वाजे ने किया था गिरफ्तार

शिवसेना मुखपत्र सामना में पार्टी ने सोमवार को आरोप लगाया कि वाजे ने पत्रकार अर्नब गोस्वामी को अन्वय नाइक खुदकुशी मामले में गिरफ्तार किया था। इसलिए वह भाजपा और केंद्र की हिट लिस्ट में थे।