खाने के लिये डेटिंग पर जाती हैं लड़कियां, रोमांस के लिये नहीं !

foodie calls

खाने के लिये डेटिंग: युवाओं के बीच इन दिनों एक नया ट्रेंड पनप रहा है। इस नए फिनोमिना को ‘फूडी कॉल’ कहा जाता है, जहां एक महिला किसी ऐसे व्यक्ति को डेट करती है, जिससे वह प्यार का इरादा न रखकर केवल मुफ्त के खाने का लुफ्त उठाना पसंद करती हैं। अब हैरान किया है उस नए शोध ने, जिसमें यह पाया गया कि आजकल ज्यादातर लड़कियां ऐसा ही करती हैं। जहां एक ऑनलाइन अध्ययन में 23 से 33 फीसदी महिलाओं ने इस बात को स्वीकार किया कि वे ‘फूडी कॉल’ में लगी हैं।

खाने के लिये डेटिंग: इस यूनिवर्सिटी की रिसर्च

free meal

कैलिफोर्निया स्थित अजुसा पैसिफिक यूनिवर्सिटी और यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया-मेरेड के शोधकर्ताओं मुताबिक करीब 23 फीसदी महिलाओं ने कबूल किया कि खुद के पास पैसे न होने की स्थिति में उन्होंने कई बार ‘फूडी कॉल्स’ किए यानी वे पार्टनर के साथ डेट पर सिर्फ खाना खाने के लिए गईं। वहीं दूसरी स्टडी में यह आंकड़ा 33 फीसदी था। 

शोधकर्ताओं के अनुसार, स्टडी में महिलाओं ने यह भी बताया कि डेट पर जाते वक्त उनकी दिलचस्पी पुरुषों से ज्यादा मुफ्त खाने में थी। पहली स्टडी में 820 महिलाओं को शामिल किया गया और उनसे उनके रिलेशनशिप स्टेटस, निजी विशेषता और जेंडर रोल को लेकर सवाल पूछे गए। इसके बाद उनसे पूछा गया था कि क्या वे कभी फूडी कॉल्स में शामिल हुई हैं। यानी क्या वह सिर्फ मुफ्त खाने के लिए डेट पर गयी हैं? वहीं दूसरी स्टडी में भी यही सवाल पूछे गए और यह 357 महिलाओं पर की गयी थी।

खाने के लिये डेटिंग

सोशल साइकोलॉजिकल एंड पर्सनैलिटी साइंस नामक पत्रिका में एजुसा पैसिफिक यूनिवर्सिटी के ब्रायन कॉलिसन ने एक लेख में कहा गया है कि इस दौैरान महिलाओं से अलग-अलग सवाल किये गये। इनमें वन नाइट स्टैंड, डेंटिंग और ओरल सैक्स से जुड़े सवाल भी थे। उनसे यह भी पूछा गया था कि क्या यह जो नया ट्रेंड चल रहा है फूडी कॉल्स का वह सही है?

इस पर अलग-अलग महिलाओं की अलग राय था। कुछ इसे ठीक तो कुछ इसे बहुत ही खराब ट्रेंड मान रही हैं। भले ही कुछ लोग इसे न स्वीकारें लेकिन यह सच है कि बहुत सी लड़कियां ऐसा करने में विश्वास कर रही हैं और उन्हें इस पर कोई ऐतराज़ नहीं।