अब 28 फरवरी को यूपी के मेरठ में किसान करेंगे महापंचायत, केजरीवाल भी जाएंगे

kejriwal
file

बिजनौर के बाद अब मेरठ में आंदोलनकारी किसान करेंगे महापंचायत। आप के राष्ट्रीय संयोजक एवं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल केंद्र के नये कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों के समर्थन में 28 फरवरी को मेरठ में एक किसान महापंचायत को संबोधित करेंगे। आम आदमी पार्टी (आप) ने नये कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसानों का जोरदार समर्थन किया है।

किसान करेंगे महापंचायत, केजरीवाल भी मिलाएंगे ताल

केजरीवाल दो बार दिल्ली के सिंधु सीमा का दौरा कर चुके हैं और उन्होंने किसानों के प्रति अपना समर्थन व्यक्त किया है। सिंघु सीमा किसानों के विरोध प्रदर्शन का एक प्रमुख स्थल है। आप ने एक ट्वीट में कहा, ‘आप के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल 28 फरवरी 2021 को उत्तर प्रदेश के मेरठ में एक किसान महापंचायत को संबोधित करेंगे। आम आदमी पार्टी ने प्रदर्शनकारी किसानों की मांगों का समर्थन करने के लिए महापंचायत बुलाई है।’

कृषि पेशेवरों और विद्वानों के साथ चर्चा

तीन नये कृषि कानूनों पर उच्चतम न्यायालय द्वारा नियुक्त समिति ने सोमवार को कहा कि उसने इन कानूनों पर मशहूर अकादमिक विद्वानों एवं कृषि पेशेवरों के साथ परामर्श किया । किसान इन कानूनों के विरोध में दो महीने से अधिक समय से दिल्ली की सीमाओं पर डेरा डाले हुए हैं। समिति की यह अब तक की सातवीं बैठक है। तीन सदस्यीय यह समिति संबंधित पक्षों के साथ आमने-सामने और ऑलनलाइन विचार विमर्श कर रही है।

यह भी पढ़ें: कृषि कानूनों पर केजरीवाल ने नज़रअंदाज़ किया बीजेपी का न्योता, भाजपा नेताओं ने दोबारा किया अनुरोध

किसान करेंगे महापंचायत, SC का पैनल विशेषज्ञों से मिला

एक बयान में समिति ने कहा कि उसने सोमवार को वीडियो कांफ्रेंसिग के जरिए मशहूर अकादमिक विद्वानों एवं कृषि पेशेवरों के साथ चर्चा की। उसने कहा, ‘कुल सात मशहूर अकादमिक विद्वानों एवं इस क्षेत्र के पेशेवरों ने समिति के सदस्यों के साथ चर्चा में वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से हिस्सा लिया।’ समिति के सदस्यों ने उनसे तीनों कृषि कानूनों पर अपने विचार रखने का अनुरोध किया।