विंग कमांडर अभिनंदन को पाकिस्तान ने दी थी मानसिक प्रताड़ना

defence minister meets abhinandan

अभिनंदन वर्धमान को पाकिस्तान ने फिजकली नहीं बल्कि उन्हें मानसिक प्रताड़ना दी थी। वायुसेना के विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान ने कल रात वतन वापसी के बाद आज रक्षा मंत्री से मुलाकात की।  रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण और एयर चीफ मार्शल बीरेंद्र सिंह धनोआ शनिवार को विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान से मिले। रक्षा मंत्री ने उनसे कहा कि समूचे राष्ट्र को उनके साहस एवं दृढ़ता पर गर्व है। इधर सूत्रों के हवाले से खबर आ रही है कि पाकिस्तान से लौटे विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान ने बताया कि पाकिस्तान में उन्हें किसी भी तरह के शारीरिक प्रताड़ना नहीं दी गई, लेकिन उन्हें मानसिक रूप से काफी प्रताड़ित किया गया।

भारत पहुंचे विंग कमांडर अभिनंदन, वाघा बॉर्डर पर ज़ोरदार स्वागत

विंग कमांडर का भारतीय वायुसेना के एक मेडिकल संस्थान में चेकअप किया  गया। इसी दौरान रक्षा मंत्री और एयरचीफ मार्शल के साथ हुई मुलाकात के दौरान अभिनंदन वर्धमान ने उनसे  काफी देर तक चर्चा की।  समझा जाता है कि अभिनंदन ने पाकिस्तान की गिरफ्त में करीब 60 घंटे रहने के बारे में रक्षा मंत्री को विस्तार से बताया। एयर फोर्स सेंट्रल मेडिकल एस्टैबलिशमेंट (एएफसीएमई) में उनकी मेडिकल जांच की गई। बता दें कि पैराशूट से कूदने के दौरान विंग कमांडर के शरीर पर कुछ चोट के निशान भी नज़र आए थे। मेडिकल चैकअप में उनकी हेल्थ की पूरी तरह समीक्षा की गई।

wing commander and defence minister meeting defence minister meets abhinandan

दुश्मन की धरती पर होने का अहसास होते ही विंग कमांडर ने मिटा डाले अहम दस्तावेज़

अभिनंदन वर्धमान ने पाकिस्तानी लड़ाकू विमानों के साथ हुई एक झड़प के दौरान उनका एफ – 16 को मार गिराया था। खुद पायलट मिग 21 में थे। उन्होंने अपना विमान के गिरने से पहले एफ – 16 को तो मार गिराया ही साथ ही खुद भी पैराशूट से सुरक्षित कूद गए। लेकिन इस दौरान वे पीओके में स्थानीय लोगों और पाकिस्तानी आर्मी की पकड़ में आ गये थे। वे करीब 60 घंटे पाकिस्तानी आर्मी के कब्ज़े में रहे और इस दौरान उन्हें मानसिक तौर पर खूब प्रताड़ित किया गया। शुक्रवार रात करीब 9.15 मिनट पर वाघा बॉर्डर के ज़रिये पाकिस्तान ने उन्हें रिहा किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here