New Option For Motherhood Is Egg Freezing- अब लड़कियों को नहीं सताती देर से शादी की चिंता

egg_freezing in women
egg_freezing in women

New Option For Motherhood Is Egg Freezing-एक ज़माना था जब हाईस्कूल पास करने के साथ ही लड़कियों की शादी कर दी जाती थी और उनके कंधों पर बच्चों और परिवार की जिम्मेदारी आ जाती थी। एक आज का दौर है जब महिलाएं न तो जल्दी शादी करना चाहती हैं और न उन्हें बच्चे को जन्म देने की ही जल्दी है। वे करिअर पर फोकस करना चाहती हैं लेकिन इस इच्छा के साथ कि भविष्य में उनका मां बनने का सपना न टूटे। हालांकि बायोलोजी में इसके लिये और भी कई सारे विकल्प हैं लेकिन यह भी सच है कि प्रजनन क्षमता या फर्टिलिटी कि Fसी का इंतज़ार तो नहीं करती। लिहाज़ा महिलाएं 20 से 30 साल की उम्र में ही एग फ्रीज़िंग का विकल्प चुनकर भविष्य में मां न बन पाने की सारी आशंकाओं को खत्म कर अपना कल सुरक्षित करने लगी हैं।

medical science ने दिया नया विकल्प

egg freezing in women
egg freezing in women

सालों मेहनत से पढ़ाई की, फिर अच्छी नौकरी में बामुश्किल चंद साल ही गुजरे कि शादी और परिवार की जिम्मेदारी आ गई। इसके बाद बच्चे के लालन-पालन का जिम्मा और दूसरी तरफ करिअर और कंपनी के कामकाज का तनाव। ऐसे में महिलाएं किसे प्राथमिकता दें? देर से शादी के विकल्प को या देर से बच्चे की जिम्मेदारी उठाने के कदम को? ज्यादातर महिलाएं इस तनाव में जल्दी विवाह ही नहीं करना चाहतीं। सिंगल मदर का सपना रखने वाली, कामकाजी और देर से बच्चे की चाह रखने वाली महिलाओं के लिये मेडिकल साईंस ने एक शानदार विकल्प तैयार किया है। यह तरीका है एग फ्रीज़िंग का। यह तकनीक ईज़ाद हुए वैसे तो कई साल हो चुके हैं लेकिन पिछले पांच सालों में तकनीक में हुए सकारात्मक बदलावों ने इसे काफी बेहतर बना दिया है।

यह भी पढ़ें: प्रेगनेंसी में भी होता है यूटरस टबरक्लोसिस, जानें

New Option For Motherhood Is Egg Freezing- कई बड़ी कंपनियां दे रही हैं मदद

वैसे तो पुरूष और महिलाएं हर क्षेत्र में कंधे से कंधा मिलाकर काम कर रहे हैं फिर भी जब बात परिवार बढ़ाने की आती है तो महिलाओं के लिए जैविक घड़ी की सुई तेजी से भागती है। महिलाओं को करिअर और परिवार बढ़ाने के बीच में से किसी एक को चुनने की चुनौती मिलती है तो उम्र बढ़ने के साथ इनफर्टिलिटी का खतरा भी बना रहता है। करिअर की ऊंचाई पर भी महिलाओं को यह महत्वपूर्ण निर्णय लेना होता है। उन्हें या तो ऑफिस में तरक्की की कुर्बानी देनी होती है या फिर बच्चे पैदा करने की योजना कुछ समय के लिए टालनी होती है।

महिलाओं की मुश्किलें

ऐसे में कई बड़ी कंपनियां अपनी महिला कर्मचारियों के मां बनने के सपने को बहरहाल टालने के लिये उन्हें मदद मुहैया कराती हैं। शायद कॉरर्पोरेट जगत जान गया है कि महिलाओं के लिए मातृत्व और करिअर को एक साथ लेकर चलना दोधारी तलवार पर चलने जैसा है। दोनों ही चीजें एक समय में, अपने-अपने लिए सौ फीसदी दिये जाने की मांग करती है।

यह भी पढ़ें: Pregnancy Special, Pregnancy को तीन Trimesters में बांटा जाता है

New Option For Motherhood Is Egg Freezing-सबको मातृत्व का सुख

Pregnant woman with face mask standing in front of window.
Pregnant woman with face mask standing in front of window.

एग फ्रीजिंग का विकल्प चुनने की एक मात्र वजह करिअर या पढ़ाई ही नहीं है। अकेले रहने वाली महिलाएं यानी सिंगल मदर्स भी इसे चुन रही हैं। कई बार मनपसंद जीवनसाथी मिलने में देरी हो जाती है, कैंसर जैसी गंभीर बीमारी, संक्रमण या अंग बेकार हो जाना, पुरुष साथी में इनफर्टिलिटी की समस्या होना, आईवीएफ ट्रीटमेंट वालों के लिये भी यह विकल्प तैयार करता है। एग फ्रीजिंग को मेडिकल टर्म में (मैच्योर ओसाइट क्रायोप्रिजर्वेशन) कहा जाता है।

क्या है एग फ्रीज़िंग

एग फ्रीज़िंग महिलाओं की फर्टिलटी को बनाए रखने का एक तरीका है। बढ़ती उम्र के साथ महिलाओं की प्रजनन शक्ति घटती जाती है। एग फ्रीज़िंग में महिलाओं के स्वस्थ अंड़ों को संरक्षित किया जाता है। ऐसा करके इनकी जैविक गति को रोक दिया जाता है। इस प्रक्रिया में, अंडाशय को स्टिमुलेट किया जाता है और अंडों को लैब में सबज़ीरों डिग्री तापमान में रखा जाता है। फिर जब महिला चाहे उसके अंडों को निकाल कर गर्म करके शुक्राणु के साथ निषेचित किया जाता है। इससे उत्पन्न होने वाले एकाधिक अंडों को लैब में स्टोर किया जाता है। डॉक्टर्स की माने तो आमतौर पर महिलाओं में गर्भधारण की उम्र 15 से 40 वर्ष तक होती है। 35 वर्ष की उम्र के बाद गर्भधारण में कई तरह की मुश्किलें आ सकती हैं। कई बार इस उम्र की महिलाओं को मां बनने के लिए एग बैंक से किसी और के अंडाणु लेने पड़ते हैं।

यह भी पढ़ें: Pregnancy में क्यों होता है सिरदर्द, ये है कारण और घरेलू उपचार

New Option For Motherhood Is Egg Freezing-बदल रहा ट्रेंड

egg feezing
egg feezing

सिर्फ भारतीय समाज में, बल्कि पूरी दुनिया में लड़कियों के मां बनने की उम्र में भारी बदलाव हुआ है। एक दौर था जब लड़कियां 15 से 20 साल की उम्र में मां बन चुकी होती थीं। वहीं अगली पीढ़ी में उनकी बेटियां 25 से 30 की आयु में मां बनी, या फिर इससे भी आगे की उम्र में। मां बनने की उम्र में यह बदलाव निश्चित तौर पर लड़कियों की शिक्षा और नौकरी के बदलते आयामों के चलते आया है। वक्त के साथ जहां हमारी सोच का दायरा बढ़ ही रहा है, मेडिकल साईंस भी नित नये आयाम स्थापित कर रहा है। अभी तक एप्पल और फेसबुक जैसी बड़ी कंपनियां अपने कर्मचारियों को मुफ्त लंच, ड्राय क्लीनिंग और मसाज जैसी सुविधाएं दे रहीं थीं, लेकिन अब ये कंपनियां अपनी महिला कर्मचारियों को एग फ्रीज़िंग की सुविधा भी देने लगी हैं।

20 हज़ार डॉलर

एप्पल और फेसबुक कर्मचारियों को इंफर्टिलिटी ट्रीटमेंट्स, स्पर्म डोनर्स और एग्स फ्रीज करने के लिए 20 हज़ार डॉलर यानी करीब 12 लाख रूपए दे रही हैं। कंपनियों के मुताबिक ऐसा करने से महिलाएं अपने करिअर पर ठीक से फोकस कर पाएंगी और बाद में भी आसानी से मां बन पाएंगी। स्पॉटिफाई नाम की कंपनी 6 महीने की पेड पैरेंटल लीव देती है साथ ही कंपनी एग फीज़िंग और फर्टिलिटी में मदद का खर्च भी उठाती है।

यह भी पढ़ें: Women Health: 40 की उम्र में घेरने लगती हैं कई बीमारियां, न बरतें ज़रा भी लापरवाही, ज़रूर कराएं ये मेडिकल टेस्ट

New Option For Motherhood Is Egg Freezing-सेलिब्रिटी ले चुके हैं तकनीक का सहारा

साल 2017 में हॉलीवुड की कई मशहूर अभिनेत्रियां, सोफिया वर्गरा, ओलिविया मुन और विटनी क्यूमिंग्स ने ऐलान किया था कि उन्होंने अपने एग फ्रीज़ करवा लिये हैं। जब वे चाहेंगी मां बनने का सुख प्राप्त कर लेंगी। फिर खबर आयी कि यूएस की एक महिला ने 25 वर्ष पहले फ्रीज किये गये अंडों से एक स्वस्थ बच्चे को जन्म देने का रिकॉर्ड बनाया। पूर्व मिस इंडिया डायना हेडन ने साबित कर दिया है कि एग फ्रीजिंग महज एक सपना नहीं, बल्कि साईंस का चमत्कार है। इसी प्रक्रिया से 2016 में उनके दो जुड़वा बच्चे हुए हैं। मां बनने से आठ साल पहले उन्होंने इन एग्स को हॉस्पिटल में फ्रीज करवाया था। हेडन ने 40 साल की उम्र में अमेरिकन कॉलिन डिक से शादी की थी।

खर्च , किस उम्र तक के एग्स में फर्टिलिटी ज़्यादा?

egg freezing
egg freezing

यह प्रक्रिया महंगी है। इसमें 50,000-1,00,000 रुपये का प्रति महीने तक खर्च आता है। अवधि बढ़ने के अनुसार फीस भी बढ़ती जाती है। इसे 10 वर्षों तक बिना गुणवत्ता को प्रभावित किये रखा जा सकता है। डॉक्टरों की मानें तो भले ही इस विधि का कोई साइड इफेक्ट नहीं है फिर भी नॉर्मल सिचुएशन में महिलाओं को अपनी प्रेग्नेंसी टालने की सलाह नहीं दी जाती। इससे 40-45 की उम्र (मेनोपॉज से पहले) तक कंसीव करना सही रहता है। उसके बाद बीपी, शूगर से संबंधित कई तरह की समस्याएं होने की वजह से कॉम्पिलिकेशंस बढ़ने का खतरा रहता है।

20-30 साल की उम्र में फ्रीज्ड करवाये गये एग्स से कंसीविंग के चांसेज अधिक होते हैं। फिर भी यह जरूरी नहीं कि सारे एग्स सही हो हीं, इसलिए ज्यादा संख्या में एग्स निकाले जाते हैं और उनमें से अमूमन 10 में से 6-7 एग्स (60-70%) से फर्टिलाइज होने के चांसेज होते हैं।

यह भी पढ़ें:ये Planning देगी खुशियां ही खुशियां, गायनी से कराएं प्रीकॉन्सेप्शन चेकअप

New Option For Motherhood Is Egg Freezing-इनफर्टिलिटी में रामबाण

यह तरीका इनफर्टिलिटी की (problem of infertility) समस्या से जूझ रही औरतों के लिए भी एक अच्छा विकल्प है। एग फ्रीजिंग प्रोफेशनल लड़कियों के लिए बहुत ही सुरक्षित और कारगर तरीका है। एग फ्रीजिंग उन महिलाओं के लिए मददगार है जो कैंसर जैसी बीमारी से जूझ रही हैं या फिर किसी एक्सीडेंट की वजह से मां बनने में परेशानियों का सामना कर रही हैं। ऐसे जोड़ों के लिए भी एग फ्रीजिंग वरदान है जो आईवीएफ ट्रीटमेंट ले रहे हैं।

कितने समय के लिए एग फ्रीजिंग

हालांकि अभी तक ऐसा कोई अध्ययन नहीं हुआ है जो हमें इस सवाल का सही जवाब दे सकें। लेकिन कुछ एक्सपर्ट बताते हैं कि 20 साल के बाद भी फ्रीज़ किए गए अंड़ाणु को सफलतापूर्वक भ्रूण के रूप में स्थानांतरित किया जा सकता है। सुरक्षित रहने की अवधि के दौरान महिला को अधिकार रहता है कि वह इसे खुद यूज करना चाहती है या फिर किसी और को देकर मदद करना चाहती है। हालांकि जोखिम इसमें भी कम नहीं है।

New Option For Motherhood Is Egg Freezing-कितनी सुरक्षित ?

यूएससी प्रजनन की एक रिपोर्ट के अनुसार, सामान्य बच्चों की तुलना में फ्रीज किए गए अंड़ाणुओं से पैदा हुए 900 से भी अधिक बच्चों में जन्म दोष के कोई खास लक्षण नहीं देखे गए। यह इस विषय पर प्रकाशित सबसे बड़ा अध्ययन था। 2014 में हुए एक नए अध्ययन से पता चला कि एग फ्रीजिंग से गर्भावस्था में कोई जटिल स्थितियां पैदा नहीं हुई। यह बात भी सामने आयी है कि एग फ्रीज कराने वाली महिलाओं में 85% महिलाएं सिंगल थीं।

यह भी पढ़ें:डायट में शामिल करें 7 फूड, मूड स्विंग से बचेंगे

इन्हें मिल रही है मदद

अब तक सामान्य धारणा यह थी कि करिअर ऑरिएंटेड महिलाएं ही एग फ्रीज कराती हैं। लेकिन नई रिसर्च कहती है कि अलग-अलग परिस्थितियों से ताल्लुक रखने वाली महिलाएं जिनमें सिंगल, तलाकशुदा, ब्रेकअप के बाद, देश के बाहर काम करने वालीं, सिंगल मां या फिर करिअर प्लानिंग के लिये एग फ्रीज़िंग कर रही हैं। अमेरिका की येल यूनिवर्सिटी द्वारा की गई हालिया स्टडी में पता चला है कि एग फ्रीज कराने वाली ज्यादातर महिलाएं अपनी पढ़ाई और करिअर गोल्स पूरे कर चुकी हैं लेकिन स्थाई साथी न होने के कारण एग्स फ्रीज करा रही हैं।

By- Kavita R Sanghaik