छत्तीसगढ़ में सुरक्षाबलों पर नक्सल हमला- बारुदी सुरंग से बस को उड़ाया, 5 जवान शहीद, 13 घायल

Chattisgarh naxal attack on DRG
Chattisgarh naxal attack on DRG

छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित जिले नारायणपुर में नक्सलियों ने सुरक्षाबलों ( Naxalite attack) पर हमला किया है। नक्सलियों ने बारूदी सुरंग में विस्फोट (landmine blows bus) कर सुरक्षा बल के जवानों को लेकर जा रही बस को मंगलवार को उड़ा दिया। घटना में पांच जवान शहीद हो गए हैं जबकि 13 अन्य जवान घायल हुए हैं। घटना के बाद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि राज्य में नक्सलियों के खिलाफ सुरक्षा बलों का अभियान और तेज होगा।

सुरक्षाबलों के काफिले पर हमला

Chattisgarh naxal attack

बस्तर क्षेत्र के पुलिस महानिरीक्षक सुंदरराज पी के मुताबिक नारायणपुर जिले के धौड़ाई थाना क्षेत्र के अंतर्गत कन्हरगांव—कड़ेनार मार्ग पर नक्सलियों ने बारूदी सुरंग में विस्फोट कर सुरक्षा बलों को लेकर जा रही बस को उड़ा दिया है। इस घटना में वाहन चालक करन देहारी, प्रधान आरक्षक पवन मंडावी, जयलाल उइके, आरक्षक सेवक सलाम और सहायक आरक्षक विजय पटेल शहीद हो गए हैं तथा 13 अन्य जवान घायल हो गए हैं।

यह भी पढ़ें: छत्तीसगढ़ में हिंसा का रास्ता छोड़ मुख्यधारा में लौट रहे Naxals, दंतेवाड़ा में 32 नक्सलियों का सरेंडर

सुरक्षाबलों पर नक्सल हमला, 3 की हालत गंभीर

सुंदरराज ने बताया कि सोमवार को नक्सल विरोधी अभियान के लिए बोदली (दन्तेवाड़ा जिला) तथा कड़ेमेटा (नारायणपुर जिला) शिविर से पुलिस दल को रवाना किया गया था। दल में डीआरजी नारायणपुर के 90 जवान शामिल थे। उन्होंने बताया कि आज दोपहर बाद करीब 3.10 बजे कड़ेमेटा शिविर का बल वापस शिविर पहुंचा। बाद में डीआरजी नारायणपुर का बल नारायणपुर मुख्यालय के लिए वापस रवाना हुआ। घटना ऐसे वक्त पर हुई जब कुछ ही देर पहले कुछ नक्सलियों ने पुलिस के सामने सरेंडर किया।

डीआरजी को लेकर जा रही बस को विस्फोट से उड़ा दिया

पुलिस अधिकारी ने बताया कि लगभग 4.15 बजे कड़ेनार तथा कन्हारगांव के बीच कड़ेनार शिविर से लगभग तीन किलोमीटर की दूरी पर मरोड़ा गांव करीब नक्सलियों ने डीआरजी को लेकर जा रही बस को विस्फोट से उड़ा दिया। घटना के बाद बस सड़क के किनारे गड्ढे की तरफ गिर गई। सुंदरराज ने बताया कि इस घटना में पांच जवान शहीद हो गए हैं तथा तीन जवान गंभीर रूप से घायल हुए हैं। घायल जवानों को हेलीकाप्टर से रायपुर भेजा गया है।

सुरक्षाबलों पर नक्सल हमला,मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इस घटना की निंदा की

naxal attack

राज्य के वरिष्ठ अधिकारियों ने बताया कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इस घटना की निंदा की है। बघेल ने शहीद जवानों के परिजनों के प्रति संवेदना प्रकट किया और कहा कि सुरक्षा बलों की लगातार की जा रही कार्रवाई से नक्सलियों के पैर उखड़ने लगे हैं। यह घटना नक्सलियों की हताशा का परिणाम है। नक्सलियों के खिलाफ सुरक्षा बलों का अभियान और तेज होगा। अधिकारियों ने बताया कि मुख्यमंत्री ने इस घटना में घायल जवानों को बेहतर इलाज की सुविधा उपलब्ध कराने का निर्देश दिया है।

एक वर्ष के दौरान नक्सलियों ने डीआरजी के जवानों पर दूसरा बड़ा हमला किया

छत्तीसगढ़ में बीते एक वर्ष के दौरान नक्सलियों ने डीआरजी के जवानों पर दूसरा बड़ा हमला किया है। इससे पहले पिछले वर्ष 21 मार्च को नक्सलियों ने सुरक्षा बलों पर घात लगाकर हमला कर दिया था। इस हमले में डीआरजी के 12 जवानों समेत 17 जवान शहीद हो गए थे। राज्य के नक्सल प्रभावित बस्तर क्षेत्र के जिलों में डीआरजी के जवान तैनात हैं। डीआरजी के जवान स्थानीय युवक हैं तथा क्षेत्र से परिचित हैं। पिछले कुछ वर्षों में नक्सलियों के खिलाफ लड़ाई में डीआरजी के जवानों ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।