आधी रात को बालकोट में मिराज की मार से हिल गया पाकिस्तान

miraj 2

आधी रात को बालकोट जो पीओके में है, वहां भारतीय वायुसेना ने जैश के कई ठिकाने तबाह किये हैं। भारत ने इस ऑपरेशन में मिराज-2000 विमानों का इस्तेमाल करने का दावा किया है। इन्हीं विमानों से वायुसेना ने बालाकोट में पैलोड गिरये , जिसे पाकिस्तान चीख-चीख कर दुनिया को दिखाने की कोशिश कर रहा है कि ये देखिये…ये पेलोड हिन्दुस्तान ने एलओसी सीज़फायर का उलंघन कर गिराये हैं। बता दें कि इससे पहले पाकिस्तान को सबक सिखाते हुए करगिल युद्ध में मिराज विमानों ने अहम भूमिका निभाई थी।

मिराज की खासियत यह है कि ये DEFA 554 ऑटोकैन से लैस हैं। इन विमानों में 30 मिमी रिवॉल्वर टाइप की तोप हैं। ये तोप 1200 से लेकर 1800 राउंड प्रति मिनट की दर से आग उगल सकती हैं। यह विमान हवा में ही दुश्मन के छक्के छुड़ा सकता है।

 indian air force

 जानते हैं मिराज विमान की कुछ ख़ास बातें

मिराज-2000 फ्रांसीसी विमान हैं। उन्हें 80 के दशक में सबसे पहले खरीदा गया था। ये अत्याधुनिक लड़ाकू विमान हैं।

मिराज का निर्माण फ़्रांस की कंपनी डासो एविएशन ने किया है, वही कंपनी जिसने रफ़ाल बनाया है।

मिराज फाइटर जेट-2000 विमान की लंबाई 47 फ़ीट और इसका वज़न 7500 किलो है।

मिराज-2000 की अधिकतम रफ़्तार 2,000 किलोमीटर प्रति घंटा है।

मिराज-2000 विमान 13800 किलो गोला बारूद के साथ भी 2336 किमी प्रतिघंटा की स्पीड से उड़ सकता है।

मिराज-2000 विमानों ने पहली बार 1970 के दशक में उड़ान भरी थी। ये डबल इंजन वाला चौथी पीढ़ी का मल्टीरोल लड़ाकू विमान है.

साल 2015 में कंपनी ने अपग्रेडेड मिराज-2000 लड़ाकू विमान भारतीय वायुसेना को सौंपे। इन अपग्रेडेड विमानों में नए रडार और इलेक्ट्रॉनिक सिस्टम लगा है, जिनसे इन विमानों की मारक और टोही क्षमता में भारी इज़ाफ़ा हो गया है।

लेकिन फ़्रांस ने ये विमान केवल भारत को ही नहीं बेचा, बल्कि आज की तारीख़ में नौ देशों की वायुसेना इस विमान का इस्तेमाल करती हैं।

सिंगल इंजन की वजह से विमान का वज़न कम रहता है और इसके कारण इसका मूवमेंट आसान होता है।

miraj 3

कई बार एक इंजन होने से इसके फेल होने और विमान क्रैश होने की आशंका रहती है लेकिन एक से ज़्यादा इंजन होने से अगर एक-एक इंजन फेल हो जाता है तो दूसरा इंजन काम करता रहता है।  मिराज-2000 में जुड़वां इंजन हैं।

मिराज-2000 मल्टीरोल विमान है यानी ये विमान एक साथ कई काम कर सकता है।

ये विमान ज़्यादा से ज़्यादा बम या मिसाइल को दुश्मनों के ठिकाने पर गिराने में सक्षम है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here