‘स्पीड ब्रेकर दीदी’ कमेंट पर ममता का पलटवार, पीएम मोदी को ‘एक्सपायरी बाबू’ कहा

mamata-b tmc

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने पीएम मोदी के ‘स्पीड ब्रेकर’ कमेंट पर पलटवार किया है. उन्होंने (Mamata Banerjee) पीएम मोदी को ‘एक्सपायरी बाबू’ कहा है. ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने कहा कि वह एक्सपायरी बाबू हैं और उनकी सरकार भी कुछ दिन बाद एक्सपायर होने वाली है. उन्होंने कहा कि पीएम (PM Modi) ने सिलीगुड़ी में कहा कि टीएमसी ने कोई काम नहीं किया है, मैं आपसे पूछती हूं कि आपने पांच साल में क्या किया है. मैं बताती हूं कि आपने सिर्फ झूठ बोला है. कूच बिहार जिले में आयोजित एक जनसभा को संबोधित करते हुए ममता ने दावा किया कि पश्चिम बंगाल में उनकी सरकार ने लोगों के लिए अनेक कल्याणकारी कार्य किये हैं. उन्होंने कहा कि उनके शासन में बंगाल में किसानों की आय में तीन गुना वृद्धि हुई है.

प्रधानमंत्री मोदी का ‘एक्सपायरी बाबू’ और ‘एक्सपायरी पीएम’ के रूप में मजाक उड़ाते हुए ममता बनर्जी ने उन्हें टीवी पर या जनसभा में खुली बहस करने की चुनौती दी. उन्होंने कहा कि मैं मोदी नहीं हूं, मैं झूठ नहीं बोलती. उन्होंने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री ने पश्चिम बंगाल में टीएमसी के कार्यों को लेकर झूठ बोला है. उन्होंने दावा किया कि मोदी के शासन में देश में 12,000 किसानों ने खुदकुशी की. तृणमूल सुप्रीमो का यह पलटवार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा सिलीगुड़ी और कोलकाता में भाजपा की रैली के दौरान किए गए हमलों के बाद आया है. गौरतलब है कि इससे पहले पीएम मोदी ने ममता बनर्जी पर निशाना साधते हुए उन्हें स्पीड ब्रेकर कहा था. पीएम मोदी ने कहा था कि पश्चिम बंगाल में एक स्पीड ब्रेकर है, जिनको आप दीदी के नाम से जानते हैं. दीदी को गरीबों की चिंता नहीं है. आखिर दीदी को गरीबी की राजनीति करनी है, वो गरीबी खत्म करने के लिए कैसे काम कर सकती हैं? अगर गरीबी ही खत्म हो जाएगी, तो दीदी की पॉलिटिक्स खत्म हो जाएगी.

मोदी ने कहा था स्पीड ब्रेकर दीदी

मोदी ने कहा था कि पश्चिम बंगाल में चिटफंड घोटाला हुआ. मेरे गरीब भाइयों और बहनों का पैसा लेकर दीदी के मंत्री, दीदी के विधायक, दीदी के साथी भाग गए, उन्होंने गरीबों को लूट लिया. गरीब की चिंता को समझते हुए केंद्र की एनडीए सरकार ने आयुष्मान भारत योजना शुरू की. गरीब को कहा था कि बीमारी की स्थिति में 5 लाख रुपए तक का इलाज मुफ्त होगा, आपको एक भी रुपया अस्पताल में खर्च नहीं करना पड़ेगा. किन स्पीड ब्रेकर दीदी ने क्या किया? गरीब का भला करने वाली इस योजना पर पश्चिम बंगाल में ब्रेक लगा दिया.