शिकायतें छोड़ें ज़िंदगी से, जो मिला उसे संवारिये, कदमों में होंगी खुशियां…

key-to-success-husband-wife-relationship

शिकायतें छोड़ें ज़िंदगी से, कहते हैं कि  जिंदगी हमें बहुत कुछ देती है। बस हम गिनती उसी की करते हैं जो हासिल नहीं हुआ हो । इसी फेर में पाने की इच्छाओं के बीच जो झोली में है, उसे संवारना भूल जाते हैं । जो थोड़ा बहुत हमारे पास होता है, उसके प्रति थोड़ा और हासिल करने की जद्दोज़हद में लापरवाह हो जाते हैं । तकलीफदेह यह है कि यह ग़फ़लत और बेपरवाही जिंदगी भर चलती है । नतीजा, जो है उसे जीने संवारने के बजाय थोड़ा और जुटाने की जुगत में कितने ही प्यारे पल छूट जाते हैं । इसीलिए पाने के फेर में जो है उसे संवारना ना भूलें ।

जो मिला है उसे संवारने और थैंकफुल रहने वाले इंसान से ज्यादा खुश कोई नहीं रह सकता । सच यह भी है कि सब कुछ किसी के हिस्से नहीं आ सकता है । जिंदगी की अपनी रफ्तार है । उतार-चढ़ाव हैं । ऐसे में ना तो किसी की झोली पूरी तरह खाली रहती है और ना ही हर हाल में मनचाहा पा लेने का सुकून मिलता है । इसीलिए वर्तमान में जीना और जिंदगी में मिली खुशियों को सेलिब्रेट करने की सोच जरूरी है ।

दोस्त, फैमिली, हेल्थ और करियर जैसे हर फ्रंट पर कामयाबी के जिस पायदान तक आप पहुंचे हैं, उसके लिए थैंकफुल रहने की सोच जरूरी है । उसे सहेजना-संवारना आवश्यक है ।

शिकायतें छोड़ें ज़िंदगी से, कुछ कमी भी है तो Adjust कर लें

Modern-relationships

अपनी जिंदगी में कमी दिखने की सबसे बड़ी वजह दूसरों से तुलना करना भी है । हालिया बरसों में सोशल मीडिया ने यह तुलना और पीछे छूटने का भाव थोड़ा और बढ़ा दिया है । लेकिन बहुत कुछ हमारी पूर्वाग्रही सोच के कारण ही पनप रहा है । क्योंकि औरों के जीवन के उतार-चढ़ाव समझना आसान नहीं होता । अपने-अपने मोर्चे पर सभी जूझते हैं ।

यह भी पढ़ें : https://www.indiamoods.com/if-you-are-taking-divorce-then-know-what-are-the-rights-of-the-husband-in-this-matter/

किसी की भी लाइफ परफेक्ट नहीं होती । कमी बेसी हर जिन्दगी का हिस्सा है । सुख-दुःख सभी की झोली में आते हैं । इसीलिए सुखद लम्हों को सहेजते हुए अपनी जिन्दगी को पॉजिटिव सोच के साथ जीयें ।

पाने या हासिल करने से ज़्यादा खुशी सहेजने में

relationship digital
relationship digital

लेखक डब्लू पी किसेला के मुताबिक ‘ जो चाहते हैं, उसे पाना सफलता है । जो मिला है, उसे चाहना खुशी है ‘ दिल से मिली ऐसी ख़ुशी और मन का ठहराव अच्छी सेहत की कुंजी है ।इतना ही नहीं अपने हिस्से आई जिन्दगी के रंगों को जीते हुए थैंकफुल रहना इन्सान को आत्मविश्वासी भी बनाता है ।यह आत्मविश्वास दिली ख़ुशी देता है ।

यह भी पढ़ें: https://www.indiamoods.com/digital-relationships-give-time-to-your-loved-ones-dont-lose-time/

शिकायतें छोड़ें ज़िंदगी से, हालात संभालिये

हर हालात को संभालने का हौसला लिए होता है । आपके मन में ना तो आज की स्थितियों से शिकायत होगी और ना ही आने वाले कल से जुड़ा कोई भय ।हर पल को खुलकर जीने के लिए वर्तमान को जीने का यही भाव जरूरी होता है ।सहजता से यूँ जिन्दगी जीने का अंदाज़ इन्सान को कई तरह की उलझनों से दूर रखता है । जो असल मायने में हमारी खुशियों की चाबी भी है ।

Courtesy: MONIKA SHARMA