इस तरह लोक संस्कृति को बढ़ावा दे रहा है यह गायक…./ watch video

यूं तो पिछले कुछ समय से फोक संस्कृति ( himachal folk culture)  में काफी बदलाव आये हैं। कुछ पारंपरिक ( traditional) चीजों से आगे निकल गयी है देवभूमि ( devbhoomi) की संस्कृति। आज की पीढ़ी जो पुराने कल्चर से रूबरू नहीं हुई उन्हें प्रदेश के कुछ लोक गायक कुछ इस  तरह से अपनी सभ्यता से  परिचित करा रहे हैं। इसमें सब कुछ है।

वह पुरानी परंपरा जब ढोल-नगाड़े वाले खड़े होकर घेरा बनाते हैं, पारंपरिक वाद्य यंत्र (Traditional instruments) बजाते हैं और बीच में एक जोड़ा लोक गीतों (folk songs)  पर थिरकता है। गांव के बड़े-बुजुर्ग बैठकर इस महफिल को देखते हैं और महिलाएं इस जोड़े के इर्द गिर्द घेरे में यानी माला में नृत्य करती हैं। वह भी पूरी तरह भावनाओं में डूबकर। बातें होती हैं…आंखों से…और दिल से दिल के तार कुछ इस तरह से जुड़ते हैं…

web title: #indiamoods.com। Ladi Shaauni 2 | Inder Jeet | Surender Negi | iSur Studios

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here