आप भी रुक सकते हैं केदारनाथ की रुद्र मेडिटेशन केव में, ऐसे करें बुकिंग

pm modi in kedarnath

रुद्र मेडिटेशन केव श्रद्धालुओं के लिये खोल दी गई है। पिछले कुछ वर्षों में केदारनाथ को एक बड़े आध्यात्मिक ब्रांड के रूप में पेश करने की कोशिशें की जाती रही हैं। लोकसभा चुनाव खत्म होते ही गहमा-गहमी से दूर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने केदारनाथ ( Kedarnath ) के लिये उड़ान भरी। यहां प्रधानमंत्री मोदी ने रुद्र ध्यान गुफा ( Rudra Meditation Cave ) में करीब 17 घंटे बिताए। इसके बाद केदारपुरी की यह गुफा लगातार चर्चा में है। केदारनाथ मंदिर से इस गुफा की दूरी मजह 1.5 किलोमीटर है और यहां तक आपको पैदल जाना होगा।

modi gufa

रुद्र मेडिटेशन केव: सियासत से इतर देखें तो धार्मिक महत्व की जगहों और तीर्थों का इस किस्म का प्रचार-प्रसार खालिस आध्यात्मिक ब्रांडिंग का मसला बनता है, जिससे जोड़कर कुछ अन्य प्रसिद्ध धर्मस्थलों-तीर्थों की ब्रांडिंग की मांग होती रही है। उत्तराखंड में चारधाम की यात्रा होती है। श्रद्धालु इस दौरान बदरीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री की धार्मिक यात्रा करके न सिर्फ पुण्य कमाते हैं बल्कि गर्मी के मौसम में ठंडी वादियों के दिव्य दर्शन भी करते हैं।

बदल गया यात्रा का अंदाज़

Modi-Kedarnath

उत्तराखंड की चारधाम यात्रा का महात्म्य सदियों से कायम है और इसी का अनुभव पाने के लिए श्रद्धालु भी इन धामों की यात्रा करते रहे हैं। हालांकि पहले तीर्थाटन का उद्देश्य विशुद्ध धार्मिक और आध्यात्मिक था। इस प्रवृत्ति के वशीभूत हो तीर्थाटन करने वाले लोग धैर्यवान थे। वे कई दिन कई रात तक पैदल ही चारधाम यात्रा किया करते थे। लेकिन आज वक्त बदल चुका है। यातायात और परिवहन की कमी नहीं है। रहने ठहरने की भी तमाम सुविधाएं हैं।

मेडिकल जांच के बाद रुक सकेंगे रुद्र गुफा में

PM Modi in rudra meditation cave
रूद्र मेडिटेशन केव में पीएम

रुद्र मेडिटेशन केव: गुफा में रुकने के लिए आपको शारीरिक तौर पर पूरी तरह से स्वस्थ होना पड़ेगा। मेडिकल जांच के बाद ही गुफा में योग-ध्यान करने के लिए अनुमति मिलेगी। ध्यान गुफा की बुकिंग कराने वालों के लिए गुप्तकाशी में मेडिकल कराने की सुविधा मुहैया कराई है। अगर आप इस गुफा में योग-ध्यान करना चाहते हैं तो आपको ऑनलाइन बुकिंग के बाद यात्रा से दो दिन पहले ही गुप्तकाशी में मेडिकल जांच करानी होगी।

पत्थर तराश कर बनाई गई है रुद्र मेडिटेशन केव

गुफा का नाम रुद्र मेडिटेशन केव रखा गया है। इसे पहाड़ पर चट्टानें काटकर बनाया गया है। इस गुफा के निर्माण में साढ़े 8 लाख रुपये खर्च किए गए हैं। बता दें कि खास तौर पर पीएम मोदी के आगमन के लिए यहां CCTV लगाया गया था। प्रधानमंत्री के आने से पहले गुफा के बाहर कैंप लगाकर कई सुरक्षा गार्ड्स की व्यवस्था भी करवाई गई।

modi kedar

ध्यान गुफा में बिजली और पानी की मूलभूत सुविधा तो है ही। इसके अलावा सुबह की चाय, ब्रेक फास्ट, दिन में लंच, शाम की चाय और डिनर भी उपलब्ध कराया जाएगा। यही नहीं चौबीसों घंटे स्टाफ गुफा में सेवा देने को तैयार रहेगा। इसके लिए लोकल फोन की व्यवस्था भी दी गई है।

यह भी पढ़ें: http://TOURIST GUIDE के क्षेत्र में कैरियर

5 मीटर लंबी और 3 मीटर चौड़ी यह गुफा 3583 मीटर यानि करीब 12 हजार फिट की ऊंचाई पर है। बता दें कि इस गुफा को खास तौर पर पर्यटकों के लिए ही बनाया गया है। वैसे तो गुफा पिछले साल ही बनकर तैयार हो गई थी, लेकिन इसे बुकिंग कम ही मिल रही थीं। अब उम्मीद की जा रही है कि पीएम मोदी के योग-साधना के बाद यहां पर्यटकों की संख्या बढ़ेगी।

टूरिज्म के लिये खोली गई रुद्र ध्यान गुफा

pm-modi रूद्र मेडिटेशन केव में

जिस गुफा में पीएम नरेंद्र मोदी ने करीब 17 घंटे एकांतवास में बिताए वहां आप भी जाकर रह सकते हैं। गढ़वाल मंडल विकास निगम ऑनलाइन बुकिंग सेवा दे रहा है। इसके लिए निगम ने अपनी वेबसाइट पर दिशा-निर्देश भी जारी कर दिए हैं।

यह भी पढ़ें: http://‘एकला चलो रे’ क्यों सबके दिल के करीब है टैगोर की…

यात्रा के दौरान बुक कर सकते हैं

यात्रा सीजन जब तक चलेगा यह गुफा बुक की जा सकती है। इस गुफा को बुक कराने के लिये गढ़वाल मंडल विकास निगम आपसे प्रतिदिन 990 रुपये किराया लेगा। कोई भी पर्यटक गुफा को 3 दिन से ज्यादा समय के लिए बुक नहीं करवा सकता।