सुप्रीम कोर्ट को मिले 2 नये न्यायधीश,जस्टिस खन्ना और जस्टिस माहेश्वरी ने ली शपथ

SC
SC

सुप्रीम कोर्ट ( SUPREME COURT) में जस्टिस दिनेश माहेश्वरी ( JUSTICE DINESH MAHESHWARI)  और जस्टिस संजीव खन्ना ( JUSTICE SANJEEV KHANNA) ने न्यायाधीशों के तौर पर शुक्रवार को शपथ ली। चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ( CHIEF JUSTICE RANJAN GOGOI) ने दोनों न्यायाधीशों को पद की शपथ दिलाई। सुप्रीम कोर्ट में न्यायाधीशों की स्वीकृत संख्या 31 है। जस्टिस माहेश्वरी एवं न्यायमूर्ति खन्ना के शपथ लेने के साथ ही यहां कुल न्यायाधीशों की संख्या 28 हो गई है।

जस्टिस माहेश्वरी जहां कर्नाटक उच्च न्यायालय ( KARNATAKA HIGH COURT) के मुख्य न्यायाधीश रहे हैं वहीं जस्टिस खन्ना दिल्ली उच्च न्यायालय ( DELHI HIGH COURT) में न्यायाधीश थे। सुप्रीम कोर्ट की पांच सदस्यीय कॉलेजियम  (FIVE MEMBER COLLEGIUM))   ने 10 जनवरी को जस्टिस माहेश्वरी एवं जस्टिस खन्ना को प्रोन्नत कर शीर्ष अदालत में न्यायाधीश बनाए जाने की सिफारिश की थी। कॉलेजियम में चीफ जस्टिस गोगोई( CHIEF JUSTICE RANJAM GOGOI) , जस्टिस ए के सीकरी ( justice Ak SIKRI) , जस्टिस एसए बोबडे ( JUSTICE SA BOBDE) , जस्टिस एन वी रमण ( JUSTICE NV RAMAN) एवं जस्टिस अरुण मिश्रा ( JUSTICE ARUN MISHRA) शामिल थे।

राजस्थान एवं दिल्ली उच्च न्यायालयों के मुख्य न्यायाधीशों जस्टिस प्रदीप नंदराजोग और जस्टिस राजेंद्र मेनन के नामों पर भी कॉलेजियम ने 12 दिसंबर 2018 को विचार किया था लेकिन चर्चा अधूरी रह गई और इस बीच, कॉलेजियम के एक सदस्य जस्टिस एम बी लोकूर 30 दिसंबर, 2018 को सेवानिवृत्त हो गए थे।

कॉलेजियम में उनका स्थान जस्टिस अरुण मिश्रा ने लिया। नये कॉलेजियम ने 10 जनवरी को जस्टिस नंदराजोग और  जस्टिस मेनन की शीर्ष अदालत के न्यायाधीशों के तौर पर पदोन्नति को नजरअंदाज़ कर दिया। बार काउंसिल ऑफ इंडिया (BAR COUNCIL OF INDIA) ) ने कई अन्य न्यायाधीशों के स्थान पर जस्टिस खन्ना को पदोन्नत करने की सुप्रीम कोर्ट की सिफारिश के खिलाफ बुधवार को विरोध प्रकट किया था और फैसले को मनमाना करार दिया।

बीसीआई के बयान से पहले सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस संजय किशन कौल ( JUSTICE SANJAY KISHAN KAUL)  ने भी जस्टिस नंदराजोग एवं जस्टिस मेनन की वरिष्ठता को नजरअंदाज करने को लेकर प्रधान न्यायाधीश और कॉलेजियम के अन्य सदस्यों को एक नोट लिखा था।

PTI-BHASHA

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here