ऑटो इंडस्ट्री में लाखों नौकरियां गईं, जारी रह सकता है सिलसिला

Suzuki-Philippines-climbs-up-in-industry
Suzuki-Philippines-climbs-up-in-industry

ऑटो इंडस्ट्री संकट में है। वाहनों की बिक्री में भारी गिरावट के बीच वाहन डीलरों ने पिछले तीन माह में दो लाख लोगों की छंटनी की है। उद्योग संगठन फेडरेशन ऑफ आटोमोबाइल डीलर्स एसोसिएशन (फाडा) ने दावा किया है कि पिछले तीन माह के दौरान खुदरा विक्रेताओं ने बिक्री में भारी गिरावट की वजह से करीब दो लाख कर्मचारियों की छंटनी की है।

ऑटो इंडस्ट्री में निकट भविष्य में सुधार की संभावना नहीं

फाडा का कहना है कि निकट भविष्य में स्थिति में सुधार की संभावना नहीं दिख रही है, जिसकी वजह से और शोरूम बंद हो सकते हैं तथा छंटनी का सिलसिला जारी रह सकता है। फाडा के अध्यक्ष आशीष हर्षराज काले ने कहा, बिक्री में गिरावट की वजह से डीलरों के पास श्रमबल में कटौती का ही विकल्प बचा है। काले ने कहा कि सरकार को वाहन उद्योग को राहत देने के लिए जीएसटी में कटौती जैसे उपाय करने चाहिए।

auto in
auto in

उन्होंने कहा, अभी ज्यादातर छंटनियां फ्रंट एंड बिक्री में हो रही है, लेकिन सुस्ती का यह रुख अगर जारी रहता है तो तकनीकी नौकरियां भी प्रभावित हो सकती हैं।  निकट भविष्य में छंटनी का सिलसिला जारी रह सकता है। निकट भविष्य में स्थिति में सुधार की संभावना नहीं दिख रही है, जिसकी वजह से छंटनी का सिलसिला आगे भी जारी रह सकता है।http://जम्मू-कश्मीर और लद्दाख होंगे केंद्र शासित प्रदेश होंगे, धारा 370 हटी

उत्पादन में और कटौती की संभावना

दूसरी ओर, ऑटो सेक्टर की कंपनियों के मुनाफे पर असर पड़ने और उपभोग मांग में सुस्ती रहने के साथ-साथ बीएस-6 मानकों के अनुपालन को लेकर ऑटो उद्योग का उत्पादन और घटने की संभावना बनी हुई है, जिसके फलस्वरूप इस क्षेत्र में काम करने वालों पर बेरोजगार होने का खतरा बना हुआ है। उद्योग से जुड़े लोगों ने बताया कि वस्तु एवं सेवा कर अधिक होने और कृषि क्षेत्र के संकटग्रस्त होने के साथ-साथ वेतन व मजदूरी में वृद्धि नहीं होने व तरलता का संकट रहने के कारण उद्योग में मांग में सुस्ती बनी हुई है, जिससे हर महीने बिक्री कम होती जा रही है। http://कश्मीर से 370 ख़त्म, जानिये अब क्या-क्या बदलने वाला है?