गज़ा में इज़राइल के हमले जारी, हमास के 9 कमांडरों के ठिकाने ढहाये, अमेरिका सुलह कराने की कोशिश में

israel

इज़राइल के हमले जारी, इज़राइल (Israel) की सेना ने गजा सिटी पर भीषण हवाई हमले में चरमपंथियों द्वारा बनायी गयी सुरंगों के 15 किलोमीटर लंबे हिस्से और हमास के 9 कमांडरों के ठिकाने ढहाये हैं। हमला इतना जबरदस्त था कि विस्फोटों से शहर का उत्तर से दक्षिण तक का इलाका थर्रा उठा। यह हमला 24 घंटे पहले हुए हवाई हमले से भी भीषण था जिसमें 42 फिलिस्तीनियों की मौत हो गयी थी।

गजा सिटी में 3 मंजिला इमारत ध्वस्त

इस नये हमले में हताहतों की संख्या के बारे में नहीं पता चल पाया। गजा सिटी (Gaza city) में 3 मंजिला इमारत बुरी तरह बर्बाद हो गयी। स्थानीय लोगों का कहना है कि सेना ने हमले से 10 मिनट पहले चेतावनी जारी की थी, जिस कारण सभी लोग वहां से हट गए। कई बम आसपास के इलाके में गिरे। लेकिन गाजा के महापौर याहया सराज ने अल-जजीरा टीवी को बताया कि हवाई हमलों से सड़कों और अन्य ढांचों को भारी नुकसान पहुंचा है। ‘अगर हमले यूं ही जारी रहे तो हालात और बदतर हो जाएंगे।’ क्षेत्र में ईंधन और अन्य जरूरी सामान की कमी हो रही है। संयुक्त राष्ट्र ने चेतावनी दी है कि गजा के एकमात्र बिजली स्टेशन में ईंधन की कमी का खतरा है।

यह भी पढ़ें: https://www.indiamoods.com/get-vaccinated-in-a-car-new-start-in-delhi-ncr-to-follow-social-distancing/

इज़राइल के हमले जारी-महिलाएं, बच्चे मारे गये

गजा पर किये गए हवाई हमलों में कम से कम 188 फिलिस्तीनी मारे गये हैं जिनमें 55 बच्चे और 33 महिलाएं शामिल हैं जबकि 1,230 लोग घायल हुए हैं। स्थानीय मीडिया के अनुसार हमले में दक्षिणी गज़ा सिटी के बड़े हिस्सों को बिजली पहुंचाने वाले एकमात्र संयंत्र से बिजली की एक लाइन तक क्षतिग्रस्त हो गयी।

हमास को ‘भारी कीमत चुकानी होगी-बेंज़ामिन

Jerusalem
file

रविवार को टेलीविजन पर प्रसारित संबोधन में इज़राइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने कहा था कि इज़राइल हमला जारी रखे हुए है और हमास को ‘भारी कीमत चुकानी होगी।’ इस दौरान एकजुटता दिखाने के लिए रक्षा मंत्री और राजनीतिक प्रतिद्वंद्वी बेन्नी गैंट्ज भी उनके साथ थे। इज़राइली सेना के अनुसार मरने वालों में शिफा अस्पताल में इंटरनल मेडिसिन विभाग के प्रमुख और अस्पताल में कोरोना वायरस प्रबंधन समिति के वरिष्ठ सदस्य अयमन अमान अबु अल-ओउफ शामिल हैं। हमले में ओउफ के 2 बच्चे और परिवार का एक अन्य सदस्य भी मलबे में दब गए।

इज़राइल के हमले जारी-क्रिकेट क्लब ने भारतीयों को शरण दी

इज़राइल के दक्षिणी शहर बीरशेबा के एक क्रिकेट क्लब ने बेन-गुरियन यूनिवर्सिटी के अनेक भारतीय अनुसंधानकर्ताओं को बचाने के लिए पहल की है जो पिछले एक सप्ताह से हमास के हमलों के बाद उचित आश्रय की तलाश में है। विश्वविद्यालय के पास स्थित बीरशेबा क्रिकेट क्लब की इमारत के दरवाजे स्थानीय निवासियों के लिए खोल दिये गये हैं। फिलिस्तीनी उग्रवादियों द्वारा इजराइल के दक्षिणी इलाकों में हमले शुरू किये जाने के बाद यह पहल की गयी और इसी क्रम में भारतीय अनुसंधानकर्ताओं को भी सुरक्षित पनाह दी गयी।