इनेलो-अकाली दल फिर एक हुए, मिलकर लड़ेंगे हरियाणा में चुनाव

akali inld
akali inld
  • इनेलो से गठबंधन, अकाली दल 5 सीटों पर लड़ेगा

इनेलो-अकाली दल हरियाणा में अंतिम क्षणों में एक बार फिर साथ आ गए हैं। इनेलो-अकाली दल ने मिलकर चुनाव लड़ने का फैसला लिया। हरियाणा की सियासत में बुधवार रात एक और फेरबदल हुआ। एक बार फिर इनेलो और शिअद हरियाणा में एक हो गए हैं। लोकसभा चुनाव से पहले हरियाणा में टूटा यह गठबंधन फिर जुड़ गया है। अब प्रदेश में फिर से दोनों दल मिलकर चुनाव लड़ेंगे।

2014 का विधानसभा चुनाव भी दोनों पार्टियों ने मिलकर लड़ा था, लेकिन 2016 में एसवाईएल के मुद्दे पर इनेलो और अकाली दल के रास्ते अलग हो गए थे। दुष्यंत चौटाला के अलग पार्टी बनाने के बाद अकाली दल का साथ आना इनेलो के लिए भी राहत की बात है।https://www.indiamoods.com/in-karnal-inld-did-not-field-its-candidate-against-cm/

abhaysinghchautala-inld-pti
abhaysinghchautala-inld-pti

2014 में इंडियन नेशनल लोकदल ने 88 सीटों पर चुनाव लड़ा था, जबकि अकाली दल के हिस्से में दो सीटें आई थीं. 2017 की शुरुआत में एसवाईएल का मुद्दा उठाते हुए अजय चौटाला ने पंजाब विधानसभा का घेराव करने की कोशिश की थी, जिसका शिरोमणि अकाली दल के नेताओं ने विरोध किया था।

इनेलो-अकाली दल एक हुए-2014 में दूसरे नंबर पर था इनेलो

हालांकि पिछले 2 साल में दोनों पार्टियों की स्थिति में बहुत बदलाव आ चुका है. दुष्यंत चौटाला ने इनेलो से अलग होकर जेजेपी का गठन कर लिया. 2014 के विधानसभा चुनाव में इंडियन नेशनल लोकदल 24 फीसदी वोट के साथ राज्य में दूसरे नंबर की पार्टी बनी थी। जेजेपी के अलग होने पर इनेलो को लोकसभा चुनाव में सिर्फ दो फीसदी वोट ही मिले। अकाली दल की ना सिर्फ पंजाब से सरकार जा चुकी है बल्कि हरियाणा में भी पार्टी के एकलौते विधायक बलकौर सिंह चुनाव से ठीक पहले भाजपा में शामिल हो गए।https://www.indiamoods.com/anita-khanda-returned-to-inld-from-bjp-mp-demands-3-crore/

इनेलो-अकाली दल-अकाली दल 5 सीटों पर लड़ेगा

शिरोमणि अकाली दल के प्रवक्ता दलजीत सिंह चीमा ने बताया कि इनेलो 85 और अकाली दल 5 सीटों पर चुनाव लड़ेगा। रतिया सीट से कुलविंदर सिंह, कालांवाली से राजिंदर देसू और गुहला-चीका से रामकुमार शिअद के उम्मीदवार हैं। कमेटी की सिफारिश के बाद हरियाणा में फिर से शिअद ने इनेलो से गठबंधन कर लिया है। इनेलो 85 और शिअद 5 सीटों पर चुनाव लड़ेगी। दो सीटों की घोषणा गुरुवार को होगी और शिअद मजबूती से चुनाव लड़ेगी।