Reliance Entertainment, फैंटम फिल्मस और क्वान पर आयकर के छापे, तापसी-अनुराग पर शिकंजा

tapsi
file

महाराष्ट्र में आयकर विभाग (IT) ने बड़ी कार्रवाई करते हुए Reliance Entertainment समेत चार कंपनियों पर आयकर के छापे मारे हैं। जिसमें फैंटम फिल्म्स, क्वान, एक्सीड, रिलायंस एंटरटेनमेंट भी शामिल हैं। इससे पहले आयकर ने अनुराग कश्यप (Anurag Kashyap), तापसी पन्नू (Taapsee Pannu) के परिसरों पर छापा मारा था।

कई अन्य की तलाश जारी

2011 में अनुराग कश्यप, मधु मनटेना, विक्रमादित्य मोटवाने और विकास बहल द्वारा फैंटम फिल्म्स की स्थापना की गई थी. हालांकि, अक्टूबर 2018 में कंपनी को बंद कर दिया गया थआ। आयकर विभाग को कई अन्य की तलाश है।

तापसी पन्नू के परिसर में आयकर के छापे

आयकर विभाग ने बुधवार को अनुराग कश्यप समेत कुछ फिल्मकारों, रिलायंस एंटरटेनमेंट समूह के सीईओ शिभाशिष सरकार और अभिनेत्री तापसी पन्नू के परिसरों पर छापे मारे। अधिकारियों ने बताया कि मुंबई और पुणे में 30 से अधिक स्थानों पर छापे मारे गये। सेलिब्रिटी, टैलेंट मैनेजमेंट कंपनी ‘क्वान’ के कुछ अधिकारियों के यहां भी छापे मारे गये हैं।

फैंटम फिल्मस को बंद कर अनुराग ने बनाई है नयी कंपनी

anurag-kashyap
anurag-kashyap

छापेमारी की कार्रवाई प्रोडक्शन हाउस ‘फैंटम फिल्म्स’ और इसके प्रमोटर रहे अनुराग कश्यप, निर्देशक-निर्माता विक्रमादित्य मोटवानी, निर्माता विकास बहल और निर्माता-वितरक मधु मैंटेना के खिलाफ कर चोरी की जांच के सिलसिले में की गयी। सूत्रों ने बताया कि इन संस्थानों के बीच हुए कुछ लेन-देन विभाग की नजर में थे और कर चोरी के आरोपों की जांच को आगे बढ़ाने के लिए यह कार्रवाई की गयी। फैंटम फिल्म्स ने लुटेरा, क्वीन, अग्ली, एनएच-10, मसान और उड़ता पंजाब जैसी फिल्मों का निर्माण किया। साल 2018 में इसे बंद कर दिया गया था।

आयकर के छापे- सुशांत केस में भी आया था मधु मेंटेना का नाम

बाद में कश्यप ने नयी प्रोडक्शन कंपनी ‘गुड बैड फिल्म्स’ शुरू की, जबकि मोटवानी ने आंदोलन फिल्म्स शुरू की। मधु मैंटेना क्वान के को-प्रमोटर थे, उनके खिलाफ भी छापेमारी की कार्रवाई की गयी।

आयकर के छापे पर नवाब मलिक बोले- साज़िश

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के नेता व महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक ने कहा कि फिल्मकार अनुराग कश्यप और अदाकारा तापसी पन्नू के परिसरों पर आयकर विभाग के छापे नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार के खिलाफ बोलने वालों की आवाज दबाने का प्रयास है। मंत्री ने कहा, ‘सरकार के खिलाफ रुख अपनाने वालों और शासन की नीतियों के विरुद्ध बोलने वालों के खिलाफ ईडी, सीबीआई और आयकर विभाग जैसी केंद्रीय एजेंसियों का इस्तेमाल किया जा रहा।’

यह भी पढ़ें: आरोपों में अनुराग कश्यप, एक्ट्रेस ने यौन शोषण के आरोप जड़े, NCW आया साथ में