सोशल मीडिया पर ज्यादा टाइम बिताने वाली लड़कियां हो सकती है इस गंभीर बीमारी की शिकार…

आज के समय में सोशल मीडिया के बिना जीवन की कल्पना भी नहीं की जा रही। गैजेट, स्मार्टफोन और कंप्यूटर हमारी जिंदगी का अहम हिस्सा बन गया है। बच्चों से लेकर बुजुर्ग और युवा अपना ज्यादा से ज्यादा समय इसी पर बिताना चाहता है। यह हम सब जानते हैं लेकिन सोशल मीडिया के इस्तेमाल पर जो एक ताज़ा रिसर्च हुई है वह बेहद चौंकाने वाली है। इस शोध की मानें तो सोशल मीडिया पर अपना ज्यादा समय बिताने वाली लड़कियां डिप्रेशन का शिकार हो सकती हैं।

अंग्रेजी अखबार ‘गार्जियन’ की एक रिपोर्ट की माने तो सोशल मीडिया से लड़कियों की लाइफ लड़कों के मुकाबले ज्यादा प्रभावित होती है। गार्जियन ने वेस्ली के बयान के हवाले से कहा कि शोधकर्ता अभी निश्चित तौर पर नहीं कह सकते हैं कि सोशल मीडिया के इस्तेमाल से मानसिक स्वास्थ्य पर खराब असर पड़ता है, लेकिन संकेत ऐसे ही हैं। बता दें कि इस रिसर्च को ‘ईक्लिनिकलमेडिसीन’ पत्रिका में प्रकाशित किया गया है।

इस तरह सामने आया शोध

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की एक रिपोर्ट के मुताबिक, यूनिवर्सिटी कॉलेज लंदन (यूसीएल) की यवोन्ने केली की अगुवाई में शोधकर्ताओं ने पाया कि सोशल मीडिया पर एक दिन में पांच घंटे से ज्यादा समय बिताने वाली लगभग 40 फीसदी लड़कियों में डिप्रेशन के लक्षण दिखे। इसमें शोध दल ने 14 साल की उम्र के करीब 11,000 लोगों के साक्षात्कार शामिल किये।


सवाल यह है कि सोशल मीडिया के दुष्प्रभाव का शिकार क्या लड़के नहीं हैं ? तो जवाब यह है कि लड़कों में भी डिप्रेशन हो सकता है लेकिन यह दर लड़कियों के मुकाबले बहुत कम है। लड़कों में यह 15 फीसदी से कम है। रॉयल कॉलेज ऑफ सायकायट्रिस्ट्स की पूर्व अध्यक्ष साइमन वेस्ली कहती हैं कि सोशल मीडिया के दुष्प्रभाव का अंतर लड़के और लड़कियों में इतना ज्यादा क्यों हैं, यह कहना मुश्किल है। लेकिन सर्वे में यह बात सामने आई है कि इसका बुरा प्रभाव लड़कियों पर ज्यादा पड़ रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here