सेना में सेवा के सपनों को उड़ान दे रहा है DDCP

#“LearningtodayLeadingtomorrow” ‘लर्निंग टुडे इज़ लीडिंग टु मॉरो’ यह टैगलाइन है उस संस्थान की जो आज के युवाओं में देश के लिये समर्पण का ज़ज्बा भरने का काम कर रहा है। महज़ सात सालों में देश के 750 से अधिक जांबाज़ युवाओं के सपनों को पंख लगाकर उन्हें नेवी, एयरफोर्स और आर्मी में सेवाओं के लिये तैयार कर भेज चुका है यह संस्थान।

#ddcp-एनडीए (NDA)

—-स्कूल से पासआउट होने के बाद ज्यादातर युवा इस क्षेत्र की तरफ अपना रुझान दिखाते हैं। यह वे युवा हैं जो देश सेवा करना चाहते हैं। बढ़िया नौकरी, शानदार करिअर और सम्मान की चाह के साथ देशप्रेम की भावना से भरे होते हैं। देहरादून में वैसे तो कई संस्थान एनडीए की तैयारी करवाते हैं लेकिन जो मुकाम 7 सालों में दून डिफेंस करिअर प्वाइंट (DOON DEFENCE CARRIER POINT) ने हासिल किया है वह अन्य किसी संस्थान को इतने कम समय में हासिल नहीं हो पाया है। इसका कारण है कि इस संस्थान के फाउंडर और मैनेजिंग डायरेक्टर देशसेवा के जज़्बे के अलावा समाजसेवा का काम भी बखूबी कर रहे हैं। तभी तो इस एकेडमी में करीब 10 छात्र हर बैच में मुफ्त कोचिंग पाते हैं।

#ddcp देश भर से आते हैं छात्र

डीडीसीपी में देश के अलग-अलग राज्यों से आकर छात्र परीक्षा की तैयारी करते हैं। इस संस्थान के निदेशक जेपी नैटियाल का कहना है कि 7 साल में 90 फीसदी रिजल्ट देने के साथ वे नंबर वन हैं और इसके लिये वे उन छात्रों के हौसले और लगन की सराहना करते हैं जिन्होंने अपनी मेहनत को सही मुकाम देने के लिये रात-दिन एक किया और आज वे विभिन्न पदों पर सेना में सेवाएं दे रहे हैं।

#ddcp कई सम्मान पा चुका है डीडीसीपी

????????????????????????????????????

छात्रों को तैयार करने के लिये दून डिफेंस करिअर प्वाइंट (( DOON DEFENCE CARRIER POINT) ने करीब 2 बीघा ज़मीन पर एक विशेष ग्राउंड तैयार किया है, जिस पर ये छात्र रोज सुबह 6 बजे से प्रैक्टिस शुरु करते हैं। रही बात ट्रेनिंग की तो इसके लिये एक्स आर्मी पर्सन( ex army persons) उन्हें तैयारी कराते हैं। यहां 200 छात्रों के लिये सारी सुविधाओं से लैस हॉस्टल है। स्टुडेंटस यहीं रहते हैं, और अनुशासित जीवन का पाठ सीखते हैं। डीडीसीपी के निदेशक जेपी नौटियाल के मुताबिक सेना में अनुशासन की जो महत्ता है, उस की नींव रखने का काम यहीं किया जाता है।
सुबह 6 से सात बजे तक प्रैक्टिस के बाद छात्र 7-8 बजे ब्रेकफास्ट करते हैं। 9 बजे से क्लासेज़ शुरू हो जाती हैं। जो दोपहर 1 बजे तक चलती हैं। इसके बाद 1- 3 बजे तक का वक्त लंच ब्रेक के लिये तय है। फिर 3-5 बजे तक छात्र एक्स्ट्रा डाउटिंग की क्लास लेते हैं। 2 घंटे तक आराम करने के बाद उनके लिये रात में सेल्फ स्टडी का वक्त तय है। अपने उत्कृष्ठ कार्यों के लिये नौटियाल कई सम्मान पा चुके हैं। हाल ही में उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत chief minister Trivendera singh Rawat) ने उन्हें सम्मानित करते हुए इस संस्थान की जमकर तारीफ की।

#ddcp गर्ल्स के लिये…..

????????????????????????????????????

अब अगर बात करें गर्ल्स ( female students) की तो उनके लिये डीडीसीपी स्पेशल सीडीएस (ओटीए) की कोचिंग क्लासेज़ चलाते हैं। जहां देश भर से आई गर्ल्स स्टूडेंटस तैयारी करती हैं। इन छात्रों को पीडी यानी पर्सनल डेवलपमेंट ( personal devlopment) की भी कक्षाएं दी जाती हैं।

3 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here