ऑक्सीजन टैंकरों के लिए रेलवे, वायु सेना की मदद ले रही सरकार, पीएम मोदी बोले-मिलकर काम करें

tankr

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज कहा कि ऑक्सीजन टैंकरों के लिये रेलवे और वायु सेना की मदद ली जा रही है। उन्होंने सभी राज्यों से साथ मिलकर काम करने और जीवन रक्षक दवाइयों तथा ऑक्सीजन संबंधित जरूरतों को पूरा करने के लिए एक-दूसरे से सहयोग करने का आग्रह किया। प्रधानमंत्री ने कहा कि यदि हम ‘एक राष्ट्र’ के रूप में काम करेंगे तो संसाधनों का कोई अभाव नहीं होगा। कोविड-19 की ताजा लहर में सबसे अधिक प्रभावित 10 राज्यों और केंद्र शासित दिल्ली के मुख्यमंत्रियों के साथ चर्चा कर महामारी की मौजूदा स्थिति की समीक्षा करने के दौरान प्रधानमंत्री ने कहा कि कोरोना की पहली लहर के दौरान संयुक्त प्रयासों और संयुक्त रणनीति से भारत ने संक्रमण से सफलता पाई थी और इसी सिद्धांत पर काम करते हुए ताजा लहर से भी मुकाबला किया जा सकता है।

ऑक्सीजन टैंकरों के लिए वायुसेना कर रही मदद

बैठक के बाद पीएमओ की ओर से जारी एक बयान के मुताबिक मोदी ने कहा कि वायरस इस बार कई राज्यों के साथ ही टीयर-2 और टीयर-3 शहरों को प्रभावित कर रहा है। उन्होंने इस महामारी से लड़ाई के लिए साथ मिलकर काम करने और सामूहिक शक्ति से मुकाबला करने का आह्वान किया। बयान में कहा गया कि प्रधानमंत्री ने राज्यों को इस लड़ाई में पूरा सहयोग करने का आश्वासन दिया और कहा कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय सभी राज्यों से लगातार संपर्क बनाए हुए है और वस्तुस्थिति की लगातार निगरानी कर रहा है तथा साथ ही समय-समय पर उन्हें आवश्यक सलाह भी दे रहा है।

यह भी पढ़ें: महाराष्ट्र के नासिक में Oxygen tanker लीक होने से रुकी सप्लाई, 24 लोगों की मौत

रेलवे ने ऑक्सीजन एक्सप्रेस की शुरुआत की

airforce oxygen tanker

ऑक्सीजन की आपूर्ति के बारे में प्रधानमंत्री ने कहा कि इसकी आपूर्ति बढ़ाए जाने को लेकर लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। सरकार ऑक्सीजन टैंकरों की आवाजाही में लगने वाले समय को कम करने के लिये हरसंभव विकल्पों पर काम कर रही है। उन्होंने कहा, ‘इसके लिए रेलवे ने ऑक्सीजन एक्सप्रेस की शुरुआत की है। खाली ऑक्सीजन टैंकरों को वायुसेना की मदद से ले जाया जा रहा है ताकि परिवहन के समय में कमी आए।’

ऑक्सीजन टैंकरों के लिए जमाखोरी और कालाबाजारी पर नकेल कसने का आग्रह

प्रधानमंत्री ने सभी राज्यों से साथ मिलकर काम करने और दवाइयों तथा ऑक्सीजन संबंधित जरूरतों को पूरा करने के लिए एक-दूसरे से सहयोग करने का आग्रह किया। साथ ही उन्होंने राज्यों से ऑक्सीजन की जमाखोरी और कालाबाजारी पर नकेल कसने का आग्रह किया। प्रधानमंत्री ने कहा कि वर्तमान परिस्थितियों के बावजूद टीकाकरण की रफ्तार कम नहीं होनी चाहिए। बैठक के दौरान नीति आयोग के वीके पॉल ने एक प्रस्तुति दी जिसमें संक्रमण को रोकने की तैयारियों को रेखांकित किया गया। बैठक में महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, केरल, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश और दिल्ली सहित कुछ अन्य राज्यों के मुख्यमंत्री शामिल हुए।

यह भी पढ़ें:कोरोना अपडेट: ऑक्सीजन की सप्लाई पर पीएम ने की समीक्षा बैठक, जमाखोरी रोकने को कहा

ऑक्सीजन टैंकरों के लिए रेलवे से ‘ऑक्सीजन एक्सप्रेस’ ट्रेन चलाने का आग्रह किया

इस बीच, रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष सुनीत शर्मा ने कहा कि दिल्ली और आंध्र प्रदेश की सरकारों ने अस्पतालों में ऑक्सीजन की भारी कमी के बीच कोविड रोगियों की जान बचाने के लिए भारतीय रेलवे से ‘ऑक्सीजन एक्सप्रेस’ ट्रेन चलाने का आग्रह किया है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश के बाद आंध्र प्रदेश तथा दिल्ली ने भी ‘ऑक्सीजन एक्सप्रेस’ ट्रेन सेवा मांगी है।