फिटनेस, सेहत और खुशियां सब पाएं KITCHEN GARDEN से

Kitchen garden

Kitchen Garden आपके लिए एक अच्छा विकल्प . खुद को gardening में व्यस्त रखकर एक तरफ जहां आप फिट रहेंगी वहीं आपके अंदर गजब की पॉजिटिविटी भी आएगी. साथ ही साथ पूरे परिवार की सेहत और खुशी बोनस में मिलेगी वो अलग.

यूं समझ लिजिए कि Kitchen Garden से आप एकसाथ फिटनेस, सेहत और खुशियां बटोर सकती हैं. इसके लिए आपको कुछ खास चीजों की प्लानिंग करनी होगी. जैसे क्या उगाना है, कहां उगाना है आदि.

Kitchen for fitness

शुरुआत में बहुत बड़ी प्लानिंग करने से बचें क्योंकि जानकारी के अभाव में पौधों की सही देखभाल नहीं हो पाएगी. गार्डेन लगाने से पहले उससे संबंधित सारी जानकारी इकट्ठा कर लें.


यह भी पढ़ें: http: तहरी या पुलाव जितने रंग उतने ज़ायके

इसके लिए किसी माली से संपर्क किया जा सकता है. यदि थोड़ी सी समझदारी से काम लिया जाए तो बिना ज्यादा खर्चा किए किचन से निकलने वाले सामान को ही मैनेज करके Kitchen Garden की बहुत सारी जरुरतों को पूरी किया जा सकता है. मसलन टब या बाल्टी खाद के लिए सब्जियों के छिलके या चायपत्ती, बीज, जैसे मिर्च या धनिया पत्ते के लिए बीज आप घर में ही मैनेज कर सकती हैं.

वहीं जहां तक गार्डेन के लिए जगह की बात है तो जरुरी नहीं कि इसके लिए बहुत सारी जगह हो. आप अपने छत या बालकनी के खाली हिल्ले में गमलों की सहायता से भी छोटा सा किचन गार्डेन बनाकर अपनी मनपसंद सब्जियां उगा सकती हैं.

Kitchen for health

किचन गार्डेन के लिए हमेशा मौसमी सब्जियों का ही चयन करें. मेथी, धनिया, पालक, भिंडी, टमाटर, तोरी, कद्दू, करेला आदि के पौधे जल्दी बड़े हो जाते हैं. एक डेढ महीने में ही सब्जियां निकलने लगती हैं. पौधे लगा लेना ही काफी नहीं होता है इसका नियमित देखभाल करें.

.http://ऐसे बनती है कैफे टर्मरिक लाते

आप जितनी अच्छे से उसका ख्याल रखेंगी पौधे भी उतने ही सेहतमंद और फलदार तैयार होंगे. गमलों की मिट्टी को नियमित तौर पर उलटते पलटते रहें. समय समय पर उसमें आर्गेनिक खाद डालना भी जरुरी होता है. हां इस बात का ध्यान जरुर रखें कि पौधों को पर्याप्त मात्रा में धूप और पानी मिलता रहे. बस इन बातों को ध्यान में रख कर आप अपना किचन गार्डेन तैयार कर सकती हैं.