English medium council schools will be closed in UP-गांव से अब नगरों में ट्रांसफर होंगे शिक्षक

UP ENG MED SCHOOL

English medium council schools- उत्‍तर प्रदेश में सरकार की नई शिक्षा नीति के तहत अहम फैसला लिया गया है। फैसला कई मायनो में अहम है। एक तो इससे हिंदी भाषा को बढ़ावा देने की कवायद तेज़ की गई है दूसरा अरसे से गांव में पड़े शिक्षकों को तबादला भी अब नगरीय इलाकों के स्कूलों में हो पाएगा। अब प्रदेश के प्राइमरी शिक्षकों का ग्रामीण क्षेत्रों से नगरीय क्षेत्रों में तबादला अब आसान हो जाएगा। प्रदेश सरकार ने शहरी और ग्रामीण काडर खत्‍म करने का निर्णय लिया है। इसके साथ नई शिक्षा नीति के तहत अंग्रेजी माध्‍यम के परिषदीय स्‍कूलों को भी बंद करने का निर्णय लिया गया है। बेसिक शिक्षा मंत्री सतीश चंद्र द्विवेदी ने कानपुर में ये ऐलान किए।

English medium council schools

school

बीएनएसडी शिक्षा निकेतन में बुधवार को आयोजित गुरु वंदना कार्यक्रम में भाग लेने आए बेसिक शिक्षा मंत्री पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहा कि परिषदीय शिक्षा में शिक्षकों के नगरीय और ग्रामीण काडर को समाप्त कर दिया जाएगा। इससे शिक्षकों के ग्रामीण क्षेत्र से नगरों में स्थानांतरण आसान हो जाएगा। उन्होंने कहा कि अभी ग्रामीण क्षेत्रों में शिक्षक सरप्लस हैं और नगरीय क्षेत्र में शिक्षकों की कमी है। काडर समाप्त होने से शिक्षकों की नगर क्षेत्र में कमी खत्‍म हो जाएगी।
उन्‍होंने कहा कि अंग्रेज़ी माध्यम के परिषदीय स्कूल खोले गए थे लेकिन अब नई शिक्षा नीति में इसे समाप्त कर दिया जाएगा।

स्कूलों में मातृभाषा में होगी पढ़ाई

सभी स्कूलों में मातृभाषा में पढ़ाई होगी। इसकी तैयारी कर ली गई है। उन्होंने कहा कि प्रधानाध्‍यापकों को टैबलेट दिए जाने हैं। इसके लिए एक समिति आईआईटी कानपुर की राय लेगी। इसके बाद टेंडर प्रक्रिया शुरू की जाएगी। अप्रैल 2021 में, उत्तर प्रदेश सरकार ने शिक्षा प्रणाली का आधुनिकीकरण करने के उद्देश्‍य से 15,000 प्राथमिक और उच्च प्राथमिक विद्यालयों को अंग्रेजी माध्यम माध्यम में परिवर्तित कर दिया था.