पति को भूलकर भी न बताएं ये बातें, हो जाएगी परेशानी….

Couple In Love. Family Couple Of Man And Sexy Girl, Trust. Muscu
Couple in love. Family couple of man and sexy girl

पति को भूलकर भी अपनी पर्सनल सेविंग के बारे में न बताएं. वे आपकी इमर्जेन्सी में काम आने वाले बचत के पैसे होते हैं. पुरुषों की प्रवृत्ति भी कुछ हद तक फ़िजूलख़र्ची की होती है. ऐसे में उन्हें अपने बचत के पैसों के बारे में न बताना ही ठीक रहता है.

शादी से पहले या फिर अतीत में कभी आपका कोई अ़फेयर रहा हो तो उसके बारे में पति को कतई न बताएं. पति पज़ेसिव और शक्की मिज़ाज के होते हैं. वे इस तरह की बातें बिल्कुल बर्दाश्त नहीं करते. साथ ही यदि पुरुष मित्र को आप बहुत पसंद भी करती हों तो पति को न कहें, न ही उसका अधिक नाम लें. इससे भविष्य में कई समस्याएं उत्पन्न हो जाती हैं.

पति को भूलकर भी न बताएं पुराने प्रेम के बारे में

couple-photographer-palma-mallorca
couple-photographer-palma-mallorca

पार्टी, फंक्शन, रिश्तेदारों के बीच, दोस्तों के साथ रहने पर उनके सामने पति की कमियों और बुरी आदतों का रोना रोने न लग जाएं. बहुत कम पति होते हैं, जो इन सब बातों को सहज ढंग से लेते हैं. लेकिन इससे जहां पति के मान-सम्मान को ठेस पहुंचती है, वहीं पति तनाव और हीनभावना के शिकार भी होते हैं.

अपने मायके और ससुराल के किसी व्यक्ति विशेष ख़ासकर ननद, देवर, बहन आदि की बुराई उनके सामने न करें. इससे कभी-कभी बात का बतंगड़ बन सकता है.

पति को भूलकर भी न कहें, मुझे भरोसा नहीं रहा

मुझे आप पर विश्‍वास नहीं रहा- इस तरह की बातें पति से न बोलें. पति-पत्नी का रिश्ता ही विश्‍वास की नींव पर टिका होता है. कहीं ऐसा न हो कि आपकी यह सोच रिश्तों में दरार पैदा कर दे.

relationship-tips-happy-couples
relationship-tips-happy-couples

पति को यह कभी न क़हें कि आप उन्हें पसंद नहीं करतीं या उनसे नफ़रत करती हैं. अक्सर पत्नियां झगड़ा होने या किसी भी तरह का वाद-विवाद होने पर पति को इस तरह के उलाहने देकर कोसती हैं. आपका इस तरह से कहना उन्हें आहत कर सकता है.

पति को भूलकर भी न कहें कि आप अधिक सुंदर हैं

Couple-photo
Couple-photo

यदि आप पति से अधिक सुंदर हैं या फिर आपकी बेमेल जोड़ी है तो इस बात का गुरूर न करें. शादी-ब्याह और रिश्ते संजोग से बनते हैं. बात-बात पर आपका पति को नीचा दिखाना और अपनी ख़ूबसूरती का बखान करना उन्हें दुखी कर देगा. इससे वे डिप्रेशन के भी शिकार हो सकते हैं.

कामकाजी हैं तो न घर की बातें ऑफ़िस में, न ऑफ़िस की घर में, क्योंकि पति आपकी ऑफ़िस की समस्या को उतना समझ तो पाएंगे नहीं, बल्कि आपकी परेशानी से वे भी परेशान हो उठेंगे.अपने उच्च पद और तनख़्वाह का पति पर रौब न जमाएं.