दिल्ली में कर्फ्यू से शादियों पर संकट, बदलने लगी तारीखें, समारोह स्थल और समय

covid1200-3

दिल्ली में कर्फ्यू से शादियों पर संकट के बादल मंडराने लगे हैं। सोमवार तक शादी के बंधन में बंधने वाले जोड़े विवाह की तैयारियों को लेकर काफी उत्साहित थे, लेकिन कोविड-19 के बढ़ते मामलों के मद्देनजर राष्ट्रीय राजधानी में लगे रात्रिकालीन कर्फ्यू ने उन्हें पेरशानी में डाल दिया है और अब वे एक बार फिर शादी की तारीख, समारोह स्थल और उसके ‘समय’ पर विचार करने लगे हैं। दिल्ली सरकार ने शहर में 30 अप्रैल तक रात 10 बजे से सुबह पांच बजे तक का रात्रिकालीन कर्फ्यू लगा दिया है, जिससे पहले से ही कोरोना वायरस के कारण प्रभावित विवाह संबंधी उद्योग के और प्रभावित होने की आशंका है। आलम यह है कि लोगों ने दिल्ली से लगे नोएडा और गुड़गांव में समारोह स्थल ढूंढ़ने शुरू कर दिए हैं।

कर्फ्यू से शादियों का वक्त बदल रहे लोग

पारस चुग और अभिषेक की शादी 28 अप्रैल की है और अब वह रात की जगह दिन में शादी करने पर विचार कर रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘काफी परेशानी खड़ी हो गई है। हर सप्ताह नए प्रतिबंध लागू किए जाते हैं। हम अपने ‘वेडिंग प्लैनर’ से बात कर रहे हैं कि अब क्या किया जाए। हम दिन में शादी करने पर विचार कर रहे हैं।’

दिल्ली में बढ़ रहे कोरोना का केस

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि दिल्ली में पॉजिटिविटी रेट 5% या उससे ज़्यादा चल रहा है। दिल्ली सरकार अस्पतालों में बेड बढ़ा रही है, पिछले तीन दिन में 2,000 से ज़्यादा बेड बढ़ चुके हैं, आने वाले दो-तीन दिन में 2,000-2,500 बेड और बढ़ जाएंगे:

कर्फ्यू से शादियों पर संकट

दिल्ली सरकार के एक अधिकारी ने कहा, ‘दूल्हा, दुल्हन और उनके करीबी रिश्तेदारों को जिला मजिस्ट्रेट से ‘ई-पास’ लेना होगा, लेकिन किसी अन्य मेहमान को रात 10 बजे से सुबह पांच बजे तक कर्फ्यू के दौरान छूट नहीं दी जाएगी।’ भावना कौल की शादी 25 अप्रैल को होने वाली है। उन्होंने कहा कि ‘ई-पास’ लेने की अनिवार्यता को देखते हुए लोग अब शायद शादी में नहीं आएंगे।