COVID-19 अभी है, ऐसे में वर्क फ्रॉम होम अब मुश्किल हो रहा है, Balance जरूरी है

Self employed woman or student working in a restaurant terrace in the street with an unfocused background ** Note: Visible grain at 100%, best at smaller sizes

COVID-19 ने दुनिया को पूरी तरह से बदल दिया है. बात Office कल्चर की करें, तो कोरोना का वकर्स की लाइफ में चेंजर बनकर आया है. एक तो Office नहीं जाना. पर Office का काम घर से करना है. घर से Office का काम करते-करते बोर हो गए हैं. आखिर कब तक ऐसा करें. COVID-19 और वर्क फ्रॉम होम को लगभग 7 महीने हो गए हैं. स्टारटिंग में तो ये काॅन्सेप्टक अच्छा लगा था, पर बोर हो रहे हैं इससे Office वाले। ऐसे में कोरोना और वर्क फ्रॉम होम में बैलेंस जरूरी है. अन्यथा ये बैलेंस बिगड़ते ही आपके लिए डेंजरर्स हो सकती है. वर्क-लाइफ बैलेंस का मतलब अलग-अलग लोगों के लिए कुछ अलग होता है और आपको वह बैलेंस ढूंढना चाहिए जो आपके लिए सही हो, उसके बारे में यहां बताया गया है.

ये भी पढ़ें : https://www.indiamoods.com/ayurvedic-treatment-for-hypertension-here-are-some-tips/

COVID-19, Immediate Officer से टच में रहें

आपका घर एक बच्चा है, बीमार सास-ससुर हैं… कुछ भी है तो इमिजेट आॅफिसर को बताएं. ऐसे में अपने बॉस को बताएं कि घर से आप कब-कब आराम से काम कर सकते हैं. आप पर्सनल लाइफ और वर्क फ्रॉम होम में जरूरी कामों के समय को विभाजित करें. मैरिड हैं, तो पति-पत्नी मिलकर ये काम करें. ऐसा करने से वर्क फ्रॉम होम दोनों के लिए आसान हो जाएगा.

पेशंस से बच्चों के साथ पेश आएं

कोरोना वायरस के कारण घरों में बंद लोग एक छत के नीचे एक साथ रहने के लिए मजबूर हैं. इस बीमारी ने यह सुनिश्चित कर दिया है कि न तो आप और न ही बच्चे अधिक लोगों से मिल सकते हैं. आपको उन्हें डिजिटल उपकरणों पर समय बिताने की अनुमति देनी होगी.

ये भी पढ़ें : https://www.indiamoods.com/sound-therapy-is-the-confluence-of-peace-and-health-you-also-get-it-done/

COVID-19, काम खत्म तब गैजेट्स Off

आप वर्क फ्रॉम होम का टाइम फिक्स करें. काम से जुड़े काम खत्म होते ही गैजेट्स आॅफ कर दें. ये टाइम फैमिली को दें. हार्वर्ड मेडिकल स्कूल में मनोविज्ञान के एक प्रोफेसर और द पावर ऑफ रेजिलिएशन के सह-लेखक रॉबर्ट ब्रूक्स कहते हैं कि अपने जीवन में नियंत्रण रखें और अपने स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए तनाव को खत्म करें.

फिजिकल फिटनेस पर ध्यान दें

सब काम रोज़ करते है. मन या बेमन से. पर करते हैं. पर फिजिकल फिटनेस से जी चुराना ठीक नहीं है. . स्वास्थ्य विशेषज्ञ हमें याद दिलाते रहते हैं कि एक्सरसाइज तनाव को कम करने वाला काम है जो आपके शरीर के माध्यम से हैप्पी हार्मोन-एंडोर्फिन को रिलीज करता है और आपके मूड को अच्छा करने में मदद करता है.

योगिक क्रियाओं के लिए समय

प्राणायाम या गहरी सांस लेने का एक्सरसाइज आपको आराम करने में मदद करेंगे. किसी विशेषज्ञ से ऑनलाइन मेडिटेशन सीखें और तनाव को कम करें.

COVID-19,अपना कल्कल्यूशेन करें

क्या आप एक ढर्रे में ढल गए हैं? क्या आप अपने लक्ष्यों और उनके मार्ग को फिर से डिजाइन कर सकते हैं? कुछ पुरानी आदतों को छोड़ दें जिन्हें बाहर निकालने की जरूरत है. एक नया खाका तैयार करें और जीवन को नए सिरे से देखें.

लिखित रिकाॅर्ड बनाएं

जीवन में शिकायत करने के लिए बहुत कुछ है. आप कभी खुश होते हैं, कभी दुखी होते हैं. कोई लड़ता है, कोई पैम्पर करता है, बहुत से आपकी विश लिस्ट होगी….सब कुछ डायरी में लिखें. इससे आप रिलैक्स फील करेंगे.