Tourism पर Covid-19 की मार-2020 में तीस लाख से भी कम पर्यटक भारत पहुंचे

shimla

Tourism पर Covid-19 की मार पड़ी है। कोविड के कहर से कोई उद्योग अछूता नहीं रहा। खासतौर पर पर्यटन का क्षेत्र खासा प्रभावित हुआ है। कोरोना वायरस का संक्रमण फैलने से रोकने के लिए लगाए गए यात्रा प्रतिबंधों की वजह से 2020 में तीस लाख से भी कम विदेशी पर्यटक भारत आए और यह संख्या 2019 की तुलना में 75 प्रतिशत कम है। पर्यटन मंत्री प्रह्लाद पटेल ने मंगलवार को राज्यसभा को एक प्रश्न के लिखित उत्तर में यह जानकारी दी।

Tourism पर Covid-19 की मार का अध्ययन नहीं

tourism

पटेल ने बताया कि 2019 में भारत आए विदेशी सैलानियों की संख्या 1.093 करोड़ और 2018 में 1.056 करोड़ थी। पटेल ने बताया कि 2017 में भारत आए विदेशी पर्यटकों की संख्या एक करोड़ का आंकड़ा पार कर गई थी। तब 1.04 करोड़ विदेशी पर्यटक भारत आए थे। उन्होंने बताया कि पिछले साल 26.8 लाख विदेशी पर्यटक ही भारत आए। उन्होंने बताया कि 2020 में पर्यटन क्षेत्र में राजस्व को हुए नुकसान का आकलन करने के लिए अभी कोई अध्ययन नहीं किया गया है।

यह भी पढ़ें: कोविड-19: केंद्र ने High level teams को उत्तर प्रदेश, हिमाचल प्रदेश और पंजाब भेजा

Tourism पर Covid-19

प्रहलाद पटेल ने कहा ‘बहरहाल, पर्यटन क्षेत्र के विभिन्न हितधारकों के साथ कई दौर की बातचीत और विचार-विमर्श के बाद राजस्व, विदेशी मुद्रा विनिमय और रोजगार को गहरे नुकसान का संकेत मिला है। यह क्षेत्र असंगठित प्रकृति का है इसलिए आर्थिक क्षति के प्रभाव का पता समय के साथ ही चल पाएगा।” उन्होंने यह भी बताया कि पर्यटन के क्षेत्र को बढ़ावा देने के लिए कई तरह की पहल की जा रही हैं। दूसरी ओर देश में टीकाकरण अभियान चल रहा है।

टीकाकरण के पहले चरण में स्वास्थ्य कर्मियों के लिए कोविड-19 टीका मुफ्त

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री अश्विनी चौबे ने मंगलवार को बताया कि टीकाकरण के पहले चरण में राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों के स्वास्थ्य कर्मियों एवं अग्रिम मोर्चे पर तैनात कर्मियों को कोविड-19 का टीका नि:शुल्क दिया जा रहा है। राज्यसभा को एक प्रश्न के लिखित उत्तर में चौबे ने यह भी बताया कि भारत सरकार को केरल सहित किसी भी राज्य या केंद्र शासित प्रदेश से आम जनता के लिए कोविड-19 का टीका नि:शुल्क मुहैया कराने के बारे में कोई अनुरोध प्राप्त नहीं हुआ है।