#Covid 19 Himachal-अगस्त में आ सकती है तीसरी लहर, हिमाचल समेत 8 राज्यों में ‘R Value’ ज्यादा

covidindia-1-Copy
covidindia-1-Copy

#Covid 19 Himachal-देश में 6 दिन बाद उपचाराधीन कोरोना रोगियों की संख्या घटी है। मंगलवार सुबह तक के सरकारी आंकड़ों के अनुसार बीते 24 घंटे में 30549 लोगों में कोरोना वायरस की पुष्टि हुई। इस दौरान 422 संक्रमितों की मौत होने से मृतक संख्या 4,25,195 हो गयी। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार इस बीमारी का इलाज करा रहे मरीजों की संख्या घटकर 4,04,958 हो गयी है। बीते 24 घंटे के दौरान उपचाराधीन मरीजों की संख्या में 8760 की कमी दर्ज की गयी।

Reproductive Number में हिमाचल आगे

इस बीच, मंत्रालय ने बताया कि कोरोना के प्रसार को दर्शाने वाला ‘रिप्रोडक्टिव नंबर’ (reproductive number) हिमाचल प्रदेश, जम्मू-कश्मीर, तमिलनाडु और केरल समेत 8 राज्यों में एक से ज्यादा है। रिप्रोडक्टिव नंबर या ‘आर वैल्यू’ उस संख्या को दर्शाती है कि कोई रोग कितना संक्रामक है, यानी एक मरीज से कितने और लोगों में फैल सकता है। एक या एक से नीचे की संख्या दिखाती है कि वायरस का प्रसार धीमा है, जबकि एक से ऊपर की कोई भी संख्या तेज प्रसार को दिखाती है।

यह भी पढ़ें: दूसरी लहर खत्म नहीं हुई, कोरोना पर सरकार की चेतावनी, कतई न बरतें लापरवाही, हिमाचल में डेल्टा प्लस पर बढ़ी चिंता

#Covid 19 Himachal-

एक अधिकारी ने कहा कि वैश्विक महामारी खत्म होने से अभी बहुत दूर है और जहां तक भारत की बात है तो दूसरी लहर अब भी खत्म नहीं हुई है। देश के 12 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के 44 जिलों में कोरोना वायरस की साप्ताहिक संक्रमण दर 10 फीसदी से अधिक है। केरल, महाराष्ट्र, मणिपुर और अरुणाचल प्रदेश समेत 6 राज्यों के 18 जिलों में पिछले 4 हफ्तों में कोरोना के नये मामले बढ़ते दिख रहे हैं। पिछले हफ्ते, कोरोना संक्रमण के कुल मामलों में से 49.85 फीसदी केरल से सामने आये।

कोविशील्ड, कोवैक्सीन का बढ़ेगा उत्पादन

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने मंगलवार को कहा कि कोरोना रोधी टीके कोविशील्ड की उत्पादन क्षमता प्रतिमाह 11 करोड़ खुराकों से बढ़कर करीब 12 करोड़ होने का अनुमान है। कोवैक्सीन की उत्पादन क्षमता प्रतिमाह 2.5 करोड़ खुराकों से बढ़कर करीब 5.8 करोड़ हो सकती है। मंडाविया ने एक सवाल के लिखित जवाब में राज्यसभा को यह जानकारी दी। स्वास्थ्य मंत्री ने यह भी बताया कि रेमडेसिविर की उत्पादन क्षमता अप्रैल के मध्य तक 38.8 लाख शीशी प्रति माह थी, जो जून में बढ़ कर 122.49 लाख शीशी प्रति माह हो गयी।

यह भी पढ़ें: कोरोना की तीसरी लहर अक्टूबर में चरम पर होगी, लेकिन दूसरी लहर के मुकाबले कम असरदार

#Covid 19 Himachal

उन्होंने बताया कि रेमडेसिविर का उत्पादन बढ़ाने की जरूरत को देखते हुए भारत के औषधि महानियंत्रक ने इस दवा के लाइसेंसधारी निर्माताओं के 40 नये उत्पादन स्थलों को शीघ्रता से मंजूरी दी।