Cosmetics की भी एक्सपायरी डेट होती है, इसे जानें, बच जाएंगे कई बीमारियों से

selective focus of young woman in medical mask and black dress applying eye shadow in bathroom

Cosmetics की खरीद और प्रयोग आप बिना देखें करती हैं, तो इस आदत को सुधार लें। मेकअप करते समय भी सावधानी हटने से दुर्घटना घट सकती हैं। इसकी बानगी आपको अपनेFriend Circle व नाते-रिश्तेदारों में मिल जाएगी। बहुत आम है कंघी, लिपस्टिक, मस्कारा, काजल, लिपस्टिक, ब्लशर, फाउंडेशन, आई शैडो….की शेेयरिंग। अपनी इस आदत को सुधारें। वरना देर करने पर दाग सेेहत पर पडेगा। ऐसी छोटी- छोटी आदतों, जिन्हें हम नजरअंदाज करते हैं यही त्वचा संबंधी रोगों के कारण बनते हैं। Cosmetics के प्रति लापरवाही बरतने पर यही बेफिजूल की आदतें गंभीर बीमारी का रूप अख्तियार कर लेती है।

काॅस्मेटिक शेयरिंग नहीं करें

इस्तेमाल के बाद काॅस्मेटिक का कसकर बंद करें। कतई मेकअप में काॅस्मेटिक शेयरिंग नहीं करें।
चेहरे को वाइप टिशु से साफ करने के बाद उसे फेंक दे। क्योंकि वाइप टिशु का पुन प्रयोग त्वचा के लिए घातक हो सकता हैै। हाल ही में आई अमेरिकन आॅप्टोमेटिरक असोसिएशन की रिपार्ट के अनुसार प्रत्येक काॅस्मेटिक की एक्सपायरी डेट होती है। एक तय सीमा के बाद काॅस्मेटिक का प्रयोग घातक होता है। इनमें प्रयुत्क रसायन कुछ समय के बाद सेहत के लिए घातक होते हैं।

यह भी पढ़ें: https://www.indiamoods.com/lipstick-variety-available-market-donot-buy-blindly-select-according-to-skin-quality/

काॅस्मेटिक की बेस्ट बीफोर डेट

लिपस्टिक की आयु 1-2 साल होती है। आयुसीमा लांघने के बाद लिपस्टिक सेहत पर नकरात्मक प्रभाव डालना शुरू कर देती है। नेल पेंट की आयुसीमा सिर्फ 12 महीने होती है। तीन साल तक बेफ्रिक होकर आईशैडो का प्रयोग किया जा सकता है। – वाॅटर बेस्ड फाउंडेशन 12 महीने और Oil बेस्ड फाउंडेशन 18 महीने तक त्वचा पर नकरात्मक प्रभाव नहीं छोडते। सभी काॅस्मेटिक में से सबसे छोटी आयु सीमा मस्कारा की होती है। यानी सिर्फ 8 महीने। 12 महीने के बाद हेयर स्प्रे का प्रयोग नहीं करना चाहिए। पाउडर 2 साल, कंसीलर 12 महीने, क्रीम व जेल क्लींजर 1 साल, Liquid, Gel & Pencil आईलाइनर 3 साल व लिप लाइनर 3 साल के बाद प्रयोग नहीं करना चाहिए।