कोरोना ने तोड़ा रिकॉर्ड, एक दिन में 1,03,558 नये मामले, 24 घंटे में 478 की मौत

corona new

भारत में एक दिन में कोरोना ने तोड़ा रिकॉर्ड। बता दें कि जब से कोरोना शुरू हुआ है तब से लेकर अब तक एक दिन में कोविड-19 के अब तक के सबसे ज्यादा 1,03,558 नये मामले सामने आये हैं । जिसके बाद देश में संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 1,25,89,067 हो गई है। आंकड़ों के अनुसार, देश में कोविड-19 के प्रसार के बाद से पिछले साल 17 सितंबर को एक दिन में सर्वाधिक 97,894 नये मामले सामने आये थे। कोविड-19 के एक दिन में सामने आने वाले नये मामले पिछले साल 76 दिन में 20 हजार से सर्वाधिक 97,894 नये मामलों तक पहुंचे थे और इस बार केवल 25 दिन (10 मार्च से 4 अप्रैल) के भीतर ही अब तक के सर्वाधिक एक लाख के पार चले गए।

कोरोना ने तोड़ा रिकॉर्ड-24 घंटे में वायरस से 478 और मरीजों की मौत

केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से सोमवार जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार, पिछले 24 घंटे में वायरस से 478 और मरीजों की मौत के बाद महामारी से जान गंवाने वालों की संख्या बढ़कर 1,65,101 हो गई। देश में लगातार 26 दिनों से नये मामलों में बढ़ोतरी के साथ ही उपचाराधीन मामलों की संख्या भी बढ़कर 7,41,830 हो गई, जो कुल मामलों का 5.89 प्रतिशत है। देश में 12 फरवरी को सबसे कम 1,35,926 उपचाराधीन मामले थे, जो उस समय के कुल मामलों का 1.25 प्रतिशत था।

करीब 82% केस 8 राज्यों से

देश में पिछले 24 घंटे में सामने आए कोविड-19 के 1,03,558 नए मामलों में से 81.90 प्रतिशत महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, कर्नाटक, उत्तर प्रदेश, दिल्ली, तमिलनाडु, मध्य प्रदेश और पंजाब से हैं, जहां संक्रमण के मामलों में तेजी से बढ़ोतारी दर्ज की जा रही है। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने सोमवार को बताया कि केवल महाराष्ट्र में ही एक दिन में सर्वाधिक 57,074 नए मामले यानी कुल 55.11 प्रतिशत मामले सामने आए। इसके बाद छत्तीसगढ़ में 5,250 और कर्नाटक में 4,553 नए मामले सामने आए।

कोरोना ने तोड़ा रिकॉर्ड-कई राज्यों में स्कूल बंद

महाराष्ट्र, पंजाब और दिल्ली समेत कई राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में कोविड-19 के बढ़ते मामलों के मद्दनेजर विद्यालयों को बंद करने की घोषणाएं हुई हैं या कक्षाओं को आगे स्थिति की समीक्षा तक बंद कर दिया गया है। दिल्ली, गुजरात, तमिलनाडु जैसे कुछ राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों ने अनिश्चित काल के लिए विद्यालयों को बंद करने की घोषणा की है जबकि उत्तर प्रदेश, राजस्थान, बिहार, पंजाब समेत कई अन्य राज्यों ने कुछ अवधि के लिए कक्षाओं को निलंबित किया है। केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर में प्रशासन ने 5 अप्रैल से अगले दो सप्ताह के लिए नौवीं कक्षा तक के विद्यार्थियों के लिए विद्यालय बंद करने की घोषणा की।

यह भी पढ़ें:24 घंटे में कोरोना के 53480 केस, बीते एक साल में एक दिन में सबसे अधिक 354 मौतें

नहीं खुलेंगे स्कूल

उत्तर प्रदेश सरकार ने आठवीं कक्षा तक के विद्यार्थियों के लिए 11 अप्रैल तक विद्यालय बंद करने की घोषणा की। महाराष्ट्र में सिर्फ 10वीं और 12वीं कक्षा तथा महाराष्ट्र लोक सेवा आयोग परीक्षा की तैयारी कर रहे उम्मीदवारों को नियमित शैक्षणिक गतिविधियों की अनुमति दी गई है। पंजाब सरकार ने 10 अप्रैल तक विद्यालयों को बंद रखने की घोषणा की है। गुजरात में पहली से नौवीं कक्षा तक के विद्यार्थियों के लिए अनिश्चित काल तक विद्यालयों को बंद कर दिया गया है। राजस्थान सरकार ने भी इन कक्षा के विद्यार्थियों के लिए 5 अप्रैल से 19 अप्रैल तक कक्षाएं निलंबित कर दी हैं।

कोरोना ने तोड़ा रिकॉर्ड-हॉस्टल और स्कूल भी नहीं खुलेंगे

covid 19
corona

बिहार ने भी 5 अप्रैल से 11 अप्रैल तक के लिए विद्यालयों को दोबारा खोलना टाल दिया है। कर्नाटक ने प्राथमिक और माध्यमिक विद्यालयों में आवासीय छात्रावासों को बंद करने तथा 10,11,12वीं कक्षा के विद्यार्थियों के लिए वैकल्पिक उपस्थिति की व्यवस्था दी है। मध्य प्रदेश में 15 अप्रैल तक आठवीं कक्षा तक के विद्यार्थियों के विद्यालय बंद करने का निर्णय लिया गया है।

यह भी पढ़ें: महाराष्ट्र और पंजाब में हर दिन बढ़ रहा कोरोना, मार्च में इन दो राज्यों में हुई है 60% मौतें

कश्मीर में डॉक्टरों, नर्सों की छुट्टियां रद्द

जम्मू-कश्मीर में कोविड-19 के मामलों में वृद्धि के मद्देनजर कश्मीर प्रशासन ने घाटी के अस्पतालों में कार्यरत डॉक्टरों, नर्सों और पैरामेडिकल स्टाफ की छुट्टियां रद्द कर दी हैं। कश्मीर के स्वास्थ्य सेवा निदेशक ने एक आदेश जारी कर कहा, ‘डॉक्टरों, नर्सों, पैरामेडिकल कर्मियों और विभाग के अन्य अधिकारियों की सभी छुट्टियां, जो निदेशक या संबंधित सीएमओ और अन्य डीडीओ के स्तर पर मंजूर की गई हैं, या विचाराधीन हैं, उन्हें रद्द किया जाता है, प्रसव अवकाश या अति आपात स्थिति में ली गई छुट्टी को छोड़कर।’