आत्मनिर्भर अभियान पर कांग्रेस का निशाना, हुड्डा बोले- आत्मनिर्भरता की आड़ में किसानों को कंपनी-निर्भर बनाना चाहते हैं

deepender

आत्मनिर्भरता की आड़ में केन्द्र सरकार किसानों को कंपनियों पर निर्भर कराना चाहती है, यह कहना है कांग्रेस के सांसद और हरियाणा के नेता दीपेन्द्र सिंह हुड्डा का। दीपेन्द्र हुड्डा ने रविवार को केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि भाजपा सरकार आत्मनिर्भरता के नाम पर जनता के प्रति अपनी जिम्मेदारियों को भूलकर निजी कंपनियों के पोषण में लगी हुई है।

पूरी सरकार ही निजी हाथों में चली गयी है-दीपेन्द्र

hudda

उन्होंने तंज कसा कि ऐसा लगता है कि पूरी सरकार ही निजी हाथों में चली गयी है, जो सरकार खुद ही आत्मनिर्भर नहीं है, वो खेती को क्या आत्मनिर्भर बनायेगी। हुड्डा ने कहा कि न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी)और मंड़ी प्रणाली की वजह से ही खेती आत्मनिर्भर है। सांसद हुड्डा राई क्षेत्र के गांव हलालपुर में ग्राम पंचायत द्वारा आयोजित कार्यक्रम में उपस्थित लोगों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि सरकार किसानों से एमएसपी और मंडी प्रणाली छीनकर अपनी जिम्मेदारी से पल्ला झाडऩा चाहती है और किसान को कंपनी-निर्भर बनाना चाहती है, इससे न केवल किसान बर्बाद होगा अपितु राष्ट्र रसातल में चला जाएगा।

यह भी पढ़ें: पीएम मोदी ने की नए कृषि कानूनों की तारीफ, कहा- छोटे, सीमांत किसानों को होगा लाभ

‘आत्मनिर्भरता की आड़ में किसानों को कंपनी के भरोसे छोड़ना चाहती है सरकार’

hudda deepender

हुड्डा ने कहा,‘ तीन महीने से भी ज्यादा समय से किसान सडक़ों पर बैठे हैं, लेकिन सरकार जिद कर बैठी हुई है। इस गतिरोध को समाप्त करने के लिये सरकार पहल करे।’ एक सवाल के जवाब में सांसद दीपेन्द्र हुड्डा ने कहा, ‘हरियाणा सरकार तीन टांगों वाली कुर्सी के समान है, जिसमें एक भाजपा, एक जजपा और एक निर्दलीय शामिल हैं। इस कुर्सी की तीनों टांगें हिल रही हैं, लगतार असंतोष के स्वर सुनाई दे रहे हैं। प्रदेश सरकार हर मोर्चे पर विफल साबित हुई है। मौजूदा सरकार में सिर्फ घोटाले हो रहे हैं, कोई काम नहीं हो रहा।’

आत्मनिर्भरता की आड़ में कंपनियों को बढ़ावा दे रही है सरकार-हुड्डा

उन्होंने कहा कि हरियाणा विधान सभा में आने वाले अविश्वास प्रस्ताव से स्पष्ट हो जायेगा कि कौन सा विधायक जनता के साथ है और कौन तीन टांगों वाली हिलती कुर्सी के साथ है।