हरियाणा में कांग्रेस के बागी तंवर होंगे स्टार प्रचारक, गुरु को झटका

ashok-tanwar
ashok-tanwar
  • नवजोत सिद्धू स्टार प्रचारकों की सूची में नहीं

हरियाणा में कांग्रेस के स्टार प्रचारकों में बागी हुए अंशोक तंवर का नाम शामिल है। हरियाणा विधानसभा चुनाव के लिये कांग्रेस ने स्टार प्रचारों की सूची जारी कर दी है। इसमें पूर्व प्रदेशाध्यक्ष अशोक तंवर का नाम शामिल हैं, जबकि नवजोत सिंह सिद्धू को ‘गुरु’ को पेवेलियन से बाहर रखा गया है। स्टार प्रचारकों की लिस्ट में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, राहुल गांधी, प्रियंका गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह समेत 40 दिग्गज नेताओं को जगह दी गई है। पार्टी पर 5 करोड़ रुपये में टिकट बेचने का आरोप लगाने वाले अशोक तंवर को स्टार कैंपेनर्स की लिस्ट में शामिल किया है.

कांग्रेस के स्टार प्रचारकों में गांधी परिवार के अलावा राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ और छत्तीसगढ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल शामिल हैं. राज्य कांग्रेस के नेताओं की बात करें तो भूपेंद्र सिंह हुड्डा और कुमारी शैलजा के अलावा किरण चौधरी, रणदीप सुरजेवाला, कुलदीप बिश्नोई और कुलदीप शर्मा को भी स्टार प्रचारकों की लिस्ट में शुमार किया गया है।https://www.indiamoods.com/dont-give-assembly-ticket-to-losers-in-lok-sabha-ashok-tanwar/

हरियाणा में कांग्रेस के प्रचारकों में सिद्धू का नाम नहीं

विधानसभा चुनाव प्रचार के लिए कांग्रेस की स्टार प्रचारकों की लिस्ट में दो हैरान करने वाली बातें सामने आई हैं. इस लिस्ट में कभी स्टार कैंपेनर रहे नवजोत सिंह सिद्धू का नाम गायब है. जबकि बागी तेवर अपनाने वाले अशोक तंवर स्टार कैंपेनर्स की लिस्ट में शामिल किए गए हैं। हरियाणा कांग्रेस के आला नेता नहीं चाहते कि नवजोत सिंह सिद्धू को चुनाव प्रचार के लिए हरियाणा भेजा जाए क्योंकि ऐसा करने पर राष्ट्रवाद के मुद्दे पर जनता को जवाब देना मुश्किल हो सकता है।

हरियाणा में कांग्रेस के स्टार प्रचारकों में 40 नेता

इसके अलावा कांग्रेस की स्टार कैंपेनर्स लिस्ट में अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी और पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के अलावा पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, प्रियंका गांधी, अशोक गहलोत, गुलाम नबी आजाद, सचिन पायलट जैसे नेताओं के नाम शामिल हैं. कांग्रेस ने स्टार प्रचारकों में 40 नेताओं को शामिल किया है। पार्टी की ओर से जारी इस लिस्ट में सातवें नंबर पर पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह हैं जबकि 12वें नंबर पर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल हैं. नौंवें नंबर पर मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ हैं।https://www.indiamoods.com/ashok-gehlot-can-be-chief-minister-of-rajasthan-kamalnath-can-take-mp/

अशोक तंवर के बागी तेवर

लिस्ट जारी होने से पहले हरियाणा कांग्रेस में मचे बवाल के बीच कांग्रेस नेता अशोक तंवर ने पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को पत्र लिखकर सभी जिम्मेदारियों से मुक्त करने का अनुरोध किया था. उन्होंने कहा, ‘मैंने पार्टी की सभी समितियों और जिम्मेदारियों से राहत देने के अनुरोध के साथ सोनिया गांधी को एक पत्र भेजा है. हालांकि मैं एक साधारण पार्टी कार्यकर्ता के रूप में काम करना जारी रखूंगा.’।

हालांकि, कुछ ही देर बाद उन्होंने ट्विटर पर इस्तीफा देने के बाद ऐलान किया कि वो पार्टी के सभी पदों से इस्तीफा दे रहे हैं और प्राथमिक सदस्य के तौर पर पार्टी के माध्यम से जनता की सेवा करता रहूंगा.

हरियाणा कांग्रेस नहीं चाहती थी सिद्धू को

इससे पहले हरियाणा कांग्रेस के सूत्रों के मुताबिक नेता नवजोत सिंह सिद्धू को स्टार प्रचारकों की लिस्ट में नहीं चाहते थे. प्रदेश के कई नेता लोकसभा चुनाव के दौरान रोहतक में सिद्धू की जनसभा में पाकिस्तान विरोधी नारे मान रहे हैं. सिद्धू पर एक महिला द्वारा चप्पल फेंके जाने से रोहतक लोकसभा सीट पर नुकसान की वजह भी माना जा रहा है. उनका मानना था कि उनके आने से चुनाव में असर पड़ सकता है.

मंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद सिद्धू ने बना रखी है पार्टी से दूरी

लोकसभा चुनाव के साथ ही नवजोत सिद्धू का राजनीतिक ग्राफ पंजाब में गिरने लगा था. लोकसभा चुनाव में सिद्धू और सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह के बीच वाकयुद्ध शुरू हो गया . जिसके बाद कांग्रेस ने बठिंडा सीट पर मिली हार के लिए सिद्धू को दोषी ठहराया था. मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने सिद्धू से स्थानीय निकाय विभाग वापस लेकर उन्हें ऊर्जा विभाग दे दिया. लेकिन सिद्धू ने नया विभाग लेने से मना कर दिया.