फ्रांस की Charlie Hebdo मैगज़ीन नये विवाद में घिरी, महारानी और मेगन का कार्टून छापा

Charlie Hebdo
Pic credit-Dailymail/Twitter

फ्रांस की Charlie Hebdo (Famous satirical magazine) शार्ली हेब्दो एक बार फिर सुर्खियों में है. वैसे यह पहली बार नहीं है कि शार्ली हेब्दो ने कोई कंट्रोवर्सी खड़ी की हो। इस मैगजीन ने कई साल पहले पैगंबर मुहम्मद साहब का कार्टून प्रकाशित किया था। इस बार मैगजीन ने अपने कार्टून में मेगन मर्केल और ब्रिटेन के शाही परिवार के बीच चल रहे गतिरोध और पुराने घटनाक्रम को लेकर सवाल उठाए हैं. ब्रिटेन में इन दिनों ओपरा विनफ्रे (Oprah Winfrey) के उस इंटरव्यू की चर्चा है जहां मर्केल ने शाही परिवार पर नस्लवाद (Racism) जैसे गंभीर आरोप लगाए थे.

फ्रांस की Charlie Hebdo से नाराज़ लोग


इस इंटरव्यू में प्रिंस हैरी (Prince Harry) भी उनके साथ थे. पूरे प्रकरण को लेकर अब शार्ली एब्दो ने जो कार्टून बनाया उस पर लोग नाराजगी जता रहे हैं.

‘मर्केल की गर्दन घुटने से दबाए दिखीं महारानी’

charlie hebdo makes cartoon on queen
Pic credit-Dailywire

शार्ली हेब्दो के हालिया कार्टून में महारानी एलिजाबेथ (Queen Elizabeth) अपने घुटने से मेगन मर्केल की गर्दन को दबाते हुए दिख रही हैं. जिसके बाद से सोशल मीडिया पर बहुत से लोग शार्ली हेब्दो की आलोचना कर रहे हैं. इसके कैप्शन में लिखा है, ‘मेगन ने बकिंघम क्यों छोड़ा.’ कार्टून की तस्वीर में मेगन मर्केल जमीन पर लेटी हैं और कह रही हैं, ‘क्योंकि मैं अब सांस नहीं ले सकती.’

फ्रांस की Charlie Hebdo ने George Floyd वाले घटनाक्रम से शाही प्रकरण जोड़ने की कोशिश

दरअसल इस कार्टून में अश्वेत अमेरिकी नागरिक जॉर्ज फ्लॉयड (George Floyd) के साथ सामने आए घटनाक्रम को जोड़ कर दिखाने की कोशिश भी की गई है. जिनकी पिछले साल मिनियापोलिस पुलिस ने हत्या कर दी थी. उस वारदात का जो वीडियो सामने आया था, उसमें पूर्व पुलिस अधिकारी और श्वेत डेरेक चौविन (Derek Chauvin) फ्लॉयड की गर्दन को नौ मिनट तक दबाते हुए दिखते हैं. फ्लॉयड चौविन से कहते हैं कि वह सांस नहीं ले पा रहे और बाद में उनकी मौत हो जाती है.
वहीं हाल ही में मेगन मर्केल पर अपने स्टाफ को डराने-धमकाने के आरोप लगे थे.

आरोपों को लेकर काफी चिंतित है शाही परिवार

बंकिंघम पैलेस (Buckingham Palace) ने कुछ दिन पहले कहा था कि वो मर्केल के खिलाफ जांच शुरू करेंगे. इस बयान के साथ ये साफ किया गया है कि शाही परिवार (Royal Family) आरोपों को लेकर काफी चिंतित है. दरअसल टाइम्स अखबार में छपी रिपोर्ट में दावा किया गया था कि केन्सिंगटन पैलेस में रहने के दौरान मर्केल के खिलाफ डराने-धमकाने की शिकायत हुई थी.

यह भी पढ़ें: Prince Harry और Meghan ने शाही परिवार पर किये खुलासे, ब्रिटिश बोले- क्वीन की तौहीन की, समर्थन में हिलेरी

फ्रांस की Charlie Hebdo पैगंबर मुहम्मद का कार्टून भी छाप चुकी है

इस मैगजीन ने कई साल पहले पैगंबर मुहम्मद साहब का कार्टून प्रकाशित किया था. इसी से नाराज मुस्लिम हमलावरों ने इस मैगजीन के दफ्तर पर हमला बोला था.
फ्रांस में अभिव्यक्ति की आजादी जैसे विषय को लेकर मशहूर मैगजीन शार्ली आब्दो का जिक्र जरूर आता है. इस पत्रिका के दफ्तर में घुसकर सैद और चेरिफ काउची नाम के दो भाइयों ने ताबड़तोड़ गोलियां बरसाते हुए कई लोगों को मौत के घाट उतार दिया था. उस हमले के बाद से शार्ली आब्दो वैश्विक सुर्खियों में है.7 जनवरी, 2015 की उस में पत्रिका के वरिष्ठ संपादक स्टीफन कार्बोनियर और मशहूर कार्टूनिस्ट समेत 11 लोग मारे गए थे. मरने वालों में ज्यादातर पत्रकार थे.

फ्रांस की Charlie Hebdo मैगज़ीन में प्रकाशित इस कार्टून से Indiamoods इत्तेफाक नहीं रखता है। हमारा मकसद लोगों तक जानकारी पहुंचाना है। खबर गूगल न्यूज़ और डेली मेल से सीधे प्रकाशित की गई है।