Chai से कम नहीं होगा कोरोना का कहर, तो संभल जाएं कई बीमारियां अटैक करेंगी

Chai के बिना भारतीयों की नींद नहीं खुलती। इतना भर नहीं। हर भारतीय आमूमन 6-7 कप रोज़ाना चाय का पीता है। सोच इससे चुस्ती आती है। और तो और आजकल सोशल मीडिया में यह बात फैली हुई है कि Chai पीने से कोरोना आस-पास नहीं फटकता है। कितनी सच है इस तथ्य में जानते हैं इस लेख में।

Chai और कोरोना, सोशल मीडिया पर कई तरह की अफवाएं

कोरोना की दूसरी लहर पर लगाम लगाने के लिए स्वास्थ्य विभाग का अभियान युद्धस्तर पर चल रहा है तो दूसरी ओर इससे बचाव को लेकर सोशल मीडिया पर कई तरह की अफवाएं भी फ़ैल रही है। कभी अल्कोहल तो कभी मसालों के अधिक सेवन से कोरोना को मात देने की बात सोशल मीडिया पर कही जाती है। इन सब बातों पर विराम लगने के बाद अब चाय अधिक पीने से कोरोना को मात देने की बात भी तेजी से फ़ैल रही है।

_gargle_saltwater
Gargle with hot water

तीन बार गार्गल करने से फायदा

शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी डॉ. सुनील कुमार चौधरी कहते हैं कि वैज्ञानिक तौर पर इसके कोई साक्ष्य नहीं हैं। हां, कोरोना के मरीजों को गर्म पानी से दिन में तीन बार गार्गल करने से फायदा जरूर होता है। इसके अलावा पीने के लिए भी गर्म पानी का ही इस्तेमाल करने के लिए कहा जाता है। इस तरह की अफवाह में आकर अगर कोई अधिक चाय पीने लगे तो वह दूसरी बीमारियों की चपेट में आ सकते हैं।

Chai और कोरोना, खुद डॉक्टर नहीं बने

डॉ. चौधरी कहते हैं कि एक सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि लोग खुद से भी डॉक्टर बन जाते हैं। कुछ लोगों में देखा जा रहा है कि अगर बीमार पड़ते हैं तो खुद या फिर मेडिकल स्टोर वालों से खरीदकर दवा खाने लगते हैं। अगर ठीक नहीं होते हैं और परेशानी बढ़ जाती है तो फिर वह डॉक्टर के पास जाते हैं। ऐसा नहीं करें। अगर कोई बीमारी हो जाए या फिर कोरोना के लक्षण दिखे तो तत्काल डॉक्टर से संपर्क करें। डॉक्टर की सलाह के अनुसार दवा लें। ऐसा करने से बीमारी बढ़ेगी नहीं और समय पर आप ठीक हो जाएंगे