किचन वाली Cabbage से तो अलग है ये, ओह! इतनी बड़ी गोभी…

पूरे पहाड़ में वायरल हो रही है 17.2 किलो वाली Cabbage की खबर। हमारे किचन में तो गोभी छोटी-सी होती है। लाहौल घाटी के रलिंग गांव में उगी 17.2 किलो की Cabbage ने धूम मचाई हुई है। अमूमन Cabbage दो-तीन किलो की होती है। जानते हैं 17.2 किलो गोभी का पूरा रहस्य।

कहां उगी ये बड़ी गोभी

आप सोच रहे होंगे कि ये बड़ी Cabbage विदेश में उगी होगी। नहीं-नहीं। आप गलत हैं। ये कमाल हमारे भारत में हुआ हैै। लाहौल घाटी के रलिंग गांव के किसान सुनील कुमार पेशे से किसान और शिक्षा ग्रेजुएट हैं । जैविक खेती के जरिए कुछ नए प्रयोगों की बदौलत सुनील कुमार ने 17.2 किलो की एक गोभी को तैयार किया है । उनके प्रयोगों से 17 किलो की एक गोभी की खबर ने देश के कृषि विश्वविद्यालय और कृषि अनुसंधान केंद्र के वैज्ञानिकों को भी हैरान कर दिया है।

यह भी पढ़ें – https://www.indiamoods.com/pm-modi-and-rahul-will-campaign-on-friday-political-mercury-will-increase-in-bihar/

किचन वाली Cabbage से तो अलग है ये, जैविक खेती का कैसा कमाल

इस बड़ी गोभी का पूरा क्रेडिट जाता है किसान सुनील कुमार को। इस Cabbage की चर्चाएं सोशल मीडिया में खूब हो रही हैं। वैसे हो भी क्यों नहीं। आखिर है जो ये गोभी अजूबा। अमूमन गोभी का फूल 2-3 किलो का होता हैै। लोग इस Cabbage की फोटो इंटरनेट पर देख रहे हैं। इस बारे में बहुत जानकारी जुटा रहे हैं। एक मीडिया हाऊस से लाहौल घाटी के रलिंग गांव के किसान सुनील कुमार ने इस बाबत बातचीत की। सुनील कुमार कहते हैं की उनके परिवार ने शुरुआत से ही जैविक खेती पर ध्यान दिया है। अमूमन गोभी का फूल दो तीन किलो का होता है, लेकिन उन्होंने इस साल 17.2 किलो की गोभी उगाकर एक कीर्तिमान न स्थापित किया है। साथ ही यह प्रदेशभर में 17.2 किलो की यह Cabbage चर्चा का विषय बन गई है।

यह भी पढ़ें – https://www.indiamoods.com/pataleshwar-temple-god-broom-offer-skin-ailments-fades-away/